Info Link Ad

Main Section

Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

Showing posts with label Faridabad News. Show all posts

मोदी को सत्ता से दूर करने के लिए वामपंथियों ने ईजाद किया मुस्लिम कोरोना बम, कइयों को मरवाया 


नई दिल्ली: 15 दिसंबर से ये दिल्ली के शाहीन बाग़ की सड़क पर बैठे और लगभग 100 दिन बाद जबरन भगाये गए लेकिन देश का क़ानून को शायद सच में कुछ दिखाई नहीं देता। इन लोगों पर कोई एफआईआर नहीं हुई जबकि देश के लाखों ऐसे लोगों पर एफआईआर हुईं हैं जिन्होंने किसी सड़क को एक घंटे तक भी जाम किया था। इनका हौसला अंधे क़ानून ने बढ़ाया इसलिए ये दिल्ली पुलिस की बात न मान निजामुद्दीन के मकराज में इकठ्ठा हुए। अंधे क़ानून के कारण शाहीन बाग़ वालों ने सवा तीन महीने लाखों को रुलाया क्यू कि कई लाख लोगों का मुख्य मार्ग बंद था और काफी घूमकर जाना पड़ता था। अगर शाहीन बाग़ में कानून ने अपना काम ईमानदारी से किया होता तो निजामुद्दीन के मकराज में इतने लोग इकठ्ठा न होते। 

मकरज में इकठ्ठा हुए लोगों में से कइयों की जान जा चुकी है और सैकड़ों कोरोना संक्रमित हैं। सबसे ज्यादा यहाँ तेलांगना  के लोग आये थे। तेलंगाना सरकार का अनुमान है कि प्रदेश  से करीब 1000 लोगों ने निजामुद्दीन में जमात में हिस्सा लिया था। इसी तरह हिमाचल प्रदेश सरकार ने ऐसे 17 लोगों को चिह्नित किया है। यूपी में भी कम से कम 19 जिलों से लोग जमात में हिस्सा लेने आए थे। सभी की जाँच चल रही है। केंद्रीय गृह  मंत्रालय ने  बताया कि अब तक देशभर में ऐसे 2,137 लोगों की पहचान की जा चुकी है। इन लोगों की मेडिकल जांच की जा रही है और इन्हें क्वारंटीन में रखा गया है। गृह मंत्रालय के मुताबिक ऐसे अभी और लोगों की पहचान की जा रही है। मध्य प्रदेश के लगभग 100 लोग इस जमात में शामिल हुए थे। सीएम शिवराज चौहान ने सभी के जांच के आदेश दिए हैं। 

सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि देश में कोरोना जिहाद चल रहा है। ये सब केंद्र की मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए हो रहा है और ज्यादा से ज्यादा लोगों की मौत होने का इन्तजार है। इसके पीछे वामपंथी मीडिया, टुकड़े गैंग, अर्बन नक्सली, जेहादी सहित कई गैंग का हाथ है। लगता भी यही है। अर्बन नक्सलियों के ट्वीट्स देख लगता है सच में वो? आपको बता दें कि ये अर्बन नक्सली हाल में दिल्ली में दंगा करवा 53 लोगों की जान ले चुके हैं। मरने वाले हर धर्म के लोग थे लेकिन इन हरामियों को लाशें गिनने से मतलब है। ये हरामखोर अब भी तमाम लाशें देखना चाहते हैं। निजामुद्दीन कांड में मुस्लिम समाज के लोगों की मौत कोरोना से हो रही है। ये हरामखोर यहां भी लाशें ही गिन रहें हैं ताकि केंद्र सरकार को घेर सकें। ये हरामी किसी के सगे नहीं हैं। इन्हे सिर्फ लाशें चाहिए ताकि ये अपना धंधा चमका सकें। ये कुत्ते मुस्लिम समाज के लोगो को भड़काकर उनकी ही जान ले रहे हैं। इस समाज में ज्यादा अनपढ़ हैं इनके बहलाने में आ जाते हैं। ये हरामखोर देश के मुस्लिमों का इस्तेमाल कर रहे हैं। इन्हे इसके लिए मोटा माल भी मिल रहा है। देश के मुस्लिम समाज के लोग इन कुत्तों को समझ नहीं पा रहे हैं क्यू कि समाज के अधिकतर लोग अनपढ़ हैं, समाज के युवा तो सब समझ रहे हैं लेकिन तमाम मस्जिदों में अनपढ़ मौलवी बैठे हैं। ये एक कड़वा सत्य है। जिस पाठक को कड़वा लगे वो आज मिर्ची न खाये। और कभी न खाये, सत्य समझ में आ जायेगा। 

दिल्ली के कोरोना जमातियों से सबक लेकर फरीदाबाद की मस्जिदों में जांच करने पहुँची पुलिस


फरीदाबाद: हाल ही में दिल्ली में जमात के लिए इकट्ठा हुए लोगों में कोरोनावायरस का संक्रमण फैलने से काफी लोग संक्रमित हो गए हैं। जिसके मद्देनजर फरीदाबाद पुलिस अलर्ट हो गई है और जिन धार्मिक स्थलों में जमात के लिए लोग आए थे उनका पूरा डाटा एकत्रित किया गया है। फरीदाबाद पुलिस ने प्रत्येक धार्मिक स्थल में रुके हुए लोग को चेक किया गया लेकिन किसी भी धार्मिक स्थल पर ज्यादा व्यक्ति इकट्ठे होने का मामला सामने नहीं आया है।

प्रत्येक धार्मिक स्थल को चेक करने में फरीदाबाद स्वास्थ्य विभाग की तरफ से हरेंद्र की टीम को साथ लगाया गया था। अजी कॉलोनी में बने धार्मिक स्थल पर 10 लोग जमात के लिए बाहर से आए थे जोकि इंडोनेशिया इत्यादि देशों में वापस चले गए हैं वह जिनके संपर्क में आए थे उन लोगों को भी डॉक्टर हरेंद्र की टीम ने चेक किया तो वह सभी ठीक है।

जिस भी धार्मिक स्थल पर दो चार लोग रह रहे हैं उनको सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में जागरूक किया गया है। स्वास्थ विभाग  के हरिंदर की टीम द्वारा चेक किया गया है। फरीदाबाद के किसी भी धार्मिक स्थल में ऐसा कोई मामला नहीं पाया गया है जहां पर जमात के लिए काफी लोग इकट्ठे हुए हो, स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी को कोविड-19 के बारे में  सचेत किया गया है समझाया गया है। है।

एसजीएम नगर की मदरसे में कोई नमाज नहीं पढ़ी जा रही है वहां ष्म केवल हाजी  (मियां बीवी) और उनके 8 बच्चे रह रहे हैं। उनको भी चेक किया गया है और ठीक है। और सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन की बात समझाई गई है। बड़खल एरिया की 3 मस्जिदों को भी चेक किया गया है। उनमें रहने वाले  8, 10 और हेल्थ इंस्पेक्टर हरेंद्र के द्वारा कल चेक किया गया था, सभी ठीक है। उनको भी सोशल डिस्टेंसिंग की हिदायत दी गई है।

गोची गांव में बढ़ वाली मस्जिद में 11 लोग 3 मार्च को बिहार से आए थे। जिनको PHC द्वारा चेक किया गया है सभी ठीक है। इसके अलावा उनको सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने के लिए कहा गया है। कोई मस्जिद में अंदर नहीं जाएगा और जो अंदर है उनमें से कोई बाहर नहीं आएगा। पुलिस की टीम  व डॉक्टर नजर बनाए रखे हुए हैं।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि फरीदाबाद जिले की सभी सीमाएं सील की जा चुकी है बिना मूवमेंट पास के किसी को भी आने जाने की अनुमति नहीं है। फरीदाबाद पुलिस बारीकी से हर स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। अगर जिले में कोई भी लॉक का उल्लंघन करेगा है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

प्रवासियों के लिए फरीदाबाद में बनाये गए हैं  21अस्थाई आश्रय स्थल, दिया जा रहा है दोनों टाइम भोजन 


फरीदाबाद, 31 मार्च।जिला प्रशासन ने बाहर से आए हुए प्रवासियों को राधा स्वामी सत्संग ब्यास  सूरजकुंड में ठहराया गया है। उपायुक्त यशपाल ने बताया  कि कोरोना के संभावित संक्रमण को रोकने के लिए सरकार की ओर से घोषित लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों को ठहरने व खाने-पीने की सुविधा देने के उद्देश्य से जिला प्रशासन ने  जिला में 21 अस्थाई आश्रय स्थल बनाए हैं। इन सभी आश्रय स्थलों में बिजली, पानी, शौचालय सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध है। 

उपायुक्त ने बताया कि सभी अस्थाई आश्रय स्थलों पर ठहरने वाले प्रवासी उचित दूरी बनाए रखें। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान आमजन को कोई परेशानी ना हो इसके लिए प्रशासन विशेष ध्यान रख रहा है आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए जिले में पूरा प्रशासन सतर्क है, उन्होंने बताया कि जिला में आए प्रवासी श्रमिकों व अन्य जरूरतमंद लोगों को सहयोग प्रशासन की ओर से दिया जा रहा है और इसी के साथ बहुत सारी सामाजिक संस्थाएं भी इसमें भागीदार बन रही हैं।  है। उपायुक्त ने बताया कि हमारा मुख्य उद्देश्य है कि कोई भी आदमी रात को भूखा ना सोए इसके लिए पूरी मॉनिटरिंग की जा रही है। इन शेल्टरो में चिकित्सकों की टीम भी जांच के लिए भेजी जा रही है।

उपायुक्त ने बताया कि  इन जगहों पर  खाने व ठैरने की उचित व्यवस्था के साथ-साथ प्रवासियों के लिए शौचालय ,बिजली व अच्छे बिस्तरों का इंतजाम किया गया है। जिससे वहां पर ठहरने वालों को किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो।

राधा स्वामी सत्संग ब्यास सूरजकुंड सेंटर के संचालक शील चंदीला ने बताया कि जिला प्रशासन की मदद वह हमारे सभी स्वयंसेवकों द्वारा यहां पर लगभग 209 प्रवासी ठहरे हुए हैं और उन सभी परवासियों को दोनो टाइम खाना व दिन में दो बार चाय और नाश्ता दिया जाता है वह सभी का जरूरत पड़ने पर मेडिकल चेकअप भी करवाया जाताहै। काउंसलर द्वारा उनकी काउंसलिंग भी कराई जा रही है।

ठग ने पत्रकार की फेसबुक ID हैक कर जानकार से माँगा 10 हजार, पकड़ने में जुटी पुलिस


फरीदाबाद, 31 मार्च। हाड़ौती अधिकार दैनिक समाचार-पत्र के एग्जिक्यूटिव एडीटर उत्तमराज के फेसबुक एकाउंट को हैक करके उनके जानने वालों से सहायता के नाम पर रुपए मांगने वाले हैकर के खिलाफ पुलिस की साइबर क्राइम शाखा तत्परता से जांच कर आरोपी को दबोचने का प्रयास कर रही है।

        उल्लेखनीय है कि आज सुबह उत्तमराज की फेसबुक आईडी को हैक करके किसी अज्ञात धोखेबाज ने उनके एक जानकार को पफोन कर सहायता के नाम पर दस हजार रुपए की मदद मांगी, जब जानकार ने किसी भी प्रकार के आनलाइन सिस्टम प्रयोग न करने की बात कहीं तो धोखेबाज ने किसी अन्य परिचित से मोबाइल फोन नंबर 9887947258 पर आनलाइन पैमेंट कराने को कहा लेकिन जानने वाला स्वयं घर आकर
रुपए देने की बात कहता रहा और बाद में उन्होंने उत्तमराज को मोबाइल फोन पर संपर्क साधा तो उत्तमराज ने मदद मांगने की बात से इनकार किया। तब उन्हें पता चला कि उनके फेसबुक एकाउंट को किसी ने हैक करके यह कारनामा किया है। इसके तुरंत बाद उत्तमराज ने पुलिस आयुक्त केके राव व सहायक पुलिस आयुक्त क्राइम अनिल यादव को शिकायत दर्ज कराई। इस पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने मामले को साइबर क्राइम शाखा को सौंप दिया और आश्वासन दिया कि आरोपी को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

फरीदाबाद में गेंहूं की कालाबाजारी करते दो दबोचे गए 


फरीदाबाद ( 31 मार्च ) फरीदाबाद पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए राशन   डिपो पर मिलने वाले गेहूँ की कालाबाज़ारी करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार कर के 12 कट्टे गेहूँ बरामद किए हैं। ये कार्रवाई धौज थान पुलिस ने की है। 

धौज थाना में तैनात एसआई सत्य प्रकाश ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि कुछ लोग धौज गांव में राशन डिपो पर आए गेहूं की  कालाबाजारी कर रहे हैं। उन्होंने इस के बारे में जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को सूचित किया। विभाग ने इंस्पेक्टर वीरेन्द्र सिंह को इस मामले में उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए। एसआई सत्य प्रकाश ने वीरेंद्र सिंह के साथ इस मामले में गंभीरता से कार्रवाई करते हुए छापा मारी की और धौज निवासी समीम पुत्र रियासत, फिरदौस पुत्र सर्फुदीन, मोनू पुत्र बॉबी निवासी शाहबाद हाथरस उत्तर प्रदेश के खिलाफ मामला दर्ज कर  कार्रवाई करते हुए समीम और मोनू को गिरफ्तार कर उनके पास से 12 कट्टे गेहूं बरामद किए।जब की फिरदौस फरार है पुलिस ने बताया कि जल्द ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

गौरतलब है कि कोरोना संकट के समय लोकडाउन की वज़ह से जिला प्रशासन, समाज सेवी  गरीब लोगों को मुफ्त में राशन वितरित कर रहें है। ऐसे में भी कुछ आपराधिक किस्म के लोग गेहूं जैसी ज़रूरी खाद्य की कालाबाज़ारी कर अमानवीय हरकत कर रहे हैं। जिसे किसी भी तरह से उचित नहीं ठहराया जा सकता। ऐसे लोगो के खिलाफ प्रशासन को कठोर कार्रवाई करनी चाहिए। 

विदेशी लापरवाहों और लॉकडाउन तोड़ने वालों ने हरियाणा में फैलाया कोरोना वायरस- एडवोकेट खटाना


फरीदाबाद: हरियाणा युवा कोंग्रेस लीगल विभाग के इंचार्ज और यूथ इटक के राष्ट्रीय सचिव राजेश खटाना एडवोकेट ने देश मे इस महामारी को देखते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर माँग की और अपने सुझाव दिए हैं की हरियाणा मे जिन लोगों ने विदेश से आ कर अपनी लापरवाही से हरियाणा में यह बीमारी फैलाई हैं और जो लोग आज भी सरकारी लोकडाउन के आदेशों की धज़्ज़ाई उड़ा कर इकट्ठा हो रहे हैं  क्योंकि जिनको मालूम हैं की उनमें इस बीमारी के लक्षण हैं ये जानते हुए भी वह लोगो से मिले अवम उनसे कुछ दिन घर में रहने को सरकार द्वारा कहाँ गया था। 

उसका भी उन विदेश से आए लापरवाह लोगो ने पालन नहीं किया..उनसे जुर्माने के रूप कम से कम  51 लाख रूपये  प्रति व्यक्ति ले कर ग़रीब लोगो के इलाज हमारे पुलिस के जवानो और जो भी सरकारी लोग इस मुश्किल घड़ी में अपने परिवार की फ़िक्र किए बिना सेवा कर रहे हैं उनके उत्थान और विकास व उनको इस समय अधिक से अधिक सुविधा देने में ख़र्च किया जाए..राजेश खटाना ने आगे लिखा की इस समय सभी लोगो का सरकार पर पुरा भरोसा हैं और कहाँ की इस लड़ाई को सब मिलकर लड़ेंगे और सब मिलकर जीतेंगे। 

कोई भी गरीब व्यक्ति बिना खाना खाए या बिना राशन के नहीं रहना चाहिए- DC, Faridabad


फरीदाबाद, 31 मार्च। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि जिला में लॉकडाउन के दौरान कोई भी गरीब व्यक्ति बिना खाना खाए या बिना राशन के नहीं रहना चाहिए। निगम के सभी वार्डों में एक-एक अधिकारियों की डयूटी लगाई गई है, जो पार्षदों व स्थानीय लोगों के सहयोग से हर जरूरतमंद के लिए खाने की व्यवस्था करना सुनिश्चित करेंगे। सभी अधिकारी अपने वार्डों में यह भी चेक करेंगे कि बगैर जरूरतमंद व्यक्ति अगर खाना या राशन ले रहा है तो उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाए।

उपायुक्त ने लघु सचिवालय के सभागार में आयोजित बैठक में कहा कि सभी वार्डों के लिए एचएसवीपी के प्रशासक प्रदीप दहिया को नोडल अधिकारी बनाया गया है। इसके अलावा तीनों उपमंडल के एसडीएम,  एचएसवीपी के संपदा अधिकारी परमजीत चहल व जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राकेश मोर व एक तहसीलदार सहित छह अधिकारियों को प्रत्येक सात वार्ड के लिए विशेष निगरानी अधिकारी लगाया गया है। सभी वार्ड अधिकारी अपने वार्ड में ही अस्थाई कार्यालय स्थापित करेंगे तथा खाने के पैकेट व राशन के सही वितरण का कार्य देखेंगे तथा उनके साथ नगर निगम के संबंधित एरिया के अधिकारी भी साथ रहेंगे। वार्ड अधिकारियों के साथ जिला रैड क्रॉस सोसायटी के वालिंटियर भी साथ रहेंगे। ये अधिकारी पूरी निष्ठा व तत्परता से अपना कार्य करें। किसी भी स्तर पर कोई चूक नहीं होनी चाहिए।

उन्होंने बताया कि वार्ड अधिकारी अपने वार्ड के जरूरतमंद लोगों की एक सूची तैयार करेंगे, जिसमें यह पता लगेगा कि प्रतिदिन कितने व्यक्तियों को खाना दिया जाना है। अपने वार्ड को जोन में बांट लें ताकि प्रत्येक जरूरतमंद व्यक्ति की सही पहचान हो सके। जो भी सामाजिक संगठन या स्वयंसेवी संगठन हैं, वे पहले अपने वार्ड में जरूरतमंद लोगों को राशन वितरण करना सुनिश्चित करें तथा वहां सभी लोगों को राशन वितरण की पूर्ति होने पर ही अन्य वार्ड में राशन वितरित करेंगे। उन्होंने कहा कि पका भोजन के पैकेट सुबह-सायं वितरित किए जाएं तथा खाद्य सामग्री को दिन के समय वितरित किया जाए। वार्डों में अस्थाई कार्यालय किसी सार्वजनिक स्थान पर बनाएं जाएं, जैसे मंदिर, गुरूद्वारा, सामुदायिक केंद्र, स्कूल आदि में तथा पूरे वार्ड के लोगों को इसकी जानकारी हो। वार्ड के लोकल वालिंटियर का भी इसमें सहयोग लिया जाए। वार्ड अधिकारी यह भी सुनिश्चित करेंगे कि उनके वार्ड में किन व्यक्ति को पका भोजन की आवश्यकता है तथा किन परिवारों को राशन वितरण किया जाना है। जिला स्तर पर खाद्य सामग्री के वितरण का कार्य जिला सैनिक बोर्ड के सचिव देखेंगे और भोजन पकाने की व्यवस्था टूरिज्म विभाग के हरविंद्र सिंह देखेंगे।

इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त आरके सिंह, एचएसवीपी के प्रशासक प्रदीप दहिया, एमसीएफ के संयुक्त आयुक्त सतबीर मान, एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, एसडीएम बल्लबगढ़ त्रिलोकचंद, एसडीएम बड़खल पंकज सेतिया, एचएसवीपी के संपदा अधिकारी परमजीत चहल, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राकेश मोर तथा सभी वार्ड अधिकारी उपस्थित थे।

राहत की खबर- हरियाणा में एक और कोरोना का मरीज ठीक हुआ


चंडीगढ़, 30 मार्च- हरियाणा के लिए आज फिर राहत भरी खबर आई है जिसके तहत गुरुग्राम का एक ओर कोरोना वायरस पीडि़त मरीज स्वस्थ हुआ है। वहीं दूसरी ओर हरियाणा में अब 15 मामले पॉजिटिव हैं, जबकि पहले कुल 22 पॉजिटिव मामले थे, जिनमें से गुरुग्राम के 6 और फरीदाबाद का एक मरीज स्वस्थ हुआ है।

        स्वास्थ्य विभाग के एक प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि गुरुग्राम में पिछले 6 दिन से स्थिति नियंत्रण में है और कोई नया मामला भी नहीं आया है।आज एक ओर मरीज के स्वस्थ होने के बाद अब गुरूग्राम में कोरोना संक्रमित केसों की संख्या केवल 4 रह गई है।

        उन्होंने बताया कि गुरुग्राम के सेक्टर-83 स्थित पालम गार्डन में रहने वाले 28 वर्षीय युवा को आज स्वस्थ होने पर फोर्टिस अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

        उल्लेखनीय है कि इस युवक की इंग्लैंड से ट्रेवेल हिस्ट्री थी और गत 18 मार्च को उसे कोरोना पॉजिटिव पाया गया था जिसके बाद उसे गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में दाखिल करवाया गया था। गत दिन यानि रविवार और आज सोमवार दोनों दिन इस 28 वर्षीय युवा के सैंपल टेस्ट नेगेटिव आए हैं, जिसके बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

विजय प्रताप सिंह ने बड़खल में 1000 जरूरतमंद परिवारों तक पहुँचाया राशन


फरीदाबाद, 30 मार्च : कांग्रेस के युवा नेता विजय प्रताप सिंह ने बडख़ल विधानसभा क्षेत्र में जरूरतमंद लोगों के लिए घर-घर राशन पहुंचाने का बीड़ा उठाया है, ताकि कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे। इस अभियान के तहत सोमवार को बडख़ल गांव स्थित जमाई कॉलोनी में 500 परिवारों को, लक्कड़पुर खोरी में 100, डिलाइट गार्डन एवं अनखीर के पीछे बसी झुग्गियों में 100 एवं श्याम नगर में 260 परिवारों का 10 दिन का राशन वितरित किया। इस अभियान के तहत सोशल दूरी बनाए रखने का विशेष ख्याल रखा गया। उन्होंने कहा कि 1000 परिवारों तक राशन पहुंचने से करीब 5000 हजार लोगों को आटा और दाल में मदद मिलेगी। इस मौके पर उनके साथ शहर के प्रथम मेयर सूबेदार सुमन व वार्ड नम्बर 16 के पार्षद एडवोकेट राकेश भडाना भी मौजूद रहे। विजय प्रताप ने कहा कि कोराना वायरस के चलते लोग न तो अपने कामों पर जा रहे हैं और ना ही कहीं से पैसे की आमदनी कर सकते हैं। असल में इन कॉलोनियों में ज्यादातर लोग दिहाड़ी पर काम करने वाले हैं, जिसके चलते इनके सामने जीवनयापन की विकट समस्या आ खड़ी हुई है।

विजय प्रताप सिंह ने बताया कि उनका मुख्य उद्देश्य उन जरूरतमंद लोगों तक राशन पहुंचाने का है जो कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए लगाए गए लॉक डाउन की वजह से न तो काम पर जा रहे हैं और ना ही उनके पास खाने के लिए राशन है। उन्होंने कहा कि बडख़ल विधानसभा क्षेत्र में किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति को भूखा नहीं सोने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बडख़ल विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत करीब दस से 15 हज़ार परिवार आते हैं और उन सभी के घरों तक राशन पहुंचाने का काम किया जाएगा। कल भी जगह चिन्ह्ति करके लोगों को राशन वितरित किया जाएगा। राशन बांटने के लिए भी उन्होंने स्थानीय लोगों को ही चुना है ताकि वह घर घर जाकर राशन बांट सकें और सोशल डिस्टेंसिंग का नियम भी मेंटेन हो सके। इस मौके पर लक्कड़पुर में रशीद, मोहसीन एवं रामप्रसाद आदि लोग उनके साथ थे। 

रोड पर चलने से ज्यादा फ़ैल सकता है कोरोना- मंडलायुक्त


फरीदाबाद, 30 मार्च। मंडलायुक्त संजय जून ने सोमवार को लघु सचिवालय के सभागार कक्ष में कोरोना वायरस के चलते आने वाली समस्याओं को दूर करने बारे जिले के अधिकारीयों को बैठक ली, उन्होंने कहा की पलायन करने वाले व्यक्तियों को जिले के शेल्टरों में रोकना होगा, जिससे कि वो आगे भीड़ के रूप में एकत्रित होकर रोड पर न चले ऐसा करने पर कोरोना वायरस फैलने के ज्यादा आसार होते हैं।

इस पर उपायुक्त यशपाल ने बताया कि जिला प्रशासन के द्वारा पलायन करने वाले दिहाड़ी मजदूरों और बेसहारा लोगो के लिए अलग अलग स्थानों पर 21 आश्रय स्थल बनाये गयें है। इन आश्रय स्थलों पर रहने खाने व ठहरने का इंतजाम किया गया है, और जब तक लॉकडाउन रहेगा ये सभी लोग यहीं पर रहेंगे।

उन्होंने कहा कि हम सभी का कर्तव्य है कि कोई व्यक्ति भूखा न सोयें उन्होंने सभी उपमंडल अधिकारीयों को निर्देश दिए कि वो अपने अपने खण्ड में अपने विधायक से भी बात करें और उनसे जानकारी लेकर सभी जरूरत कि जगह खाने का सामान पहुंचायें। उन्होंने कहा की सभी धार्मिक स्थलों से भी जरुर सम्पर्क करें वो जिस भी प्रकार कि मदद करना चाहते हैं, उनसे मदद लें उपायुक्त ने बताया की फैक्ट्री के मालिकों व ठेकेदारों की जिम्मेवारी है कि अपने अपने लेबरों को खाना खिलाये व उनकी पैसो से भी मदद करें।

इस अवसर पर हरियाणा विकास प्राधिकरण के प्रशासक प्रदीप दहिया, अतिरिक्त उपायुक्त आरके सिंह, एसडीएम फरीदाबाद अमित गुलिया, एसडीएम बल्लभगढ़ त्रिलोक चन्द, एसडीएम बढ़खल पंकज सेतिया, एस्टेट ऑफिसर परमजीत चहल, नगराधीश बलिना, रेड क्रॉस सोसाईटी के सेक्रेटरी विकास कुमार व अन्य अधिकारीगण मौजूद थे।

फरीदाबाद में मजदूरों, गरीब परिवारों, रिक्शा चालकों को दिया जाने लगा एक हफ्ते का राशन- DC


फरीदाबाद, 30 मार्च। उपायुक्त यशपाल ने बताया कि जिला में दिहाड़ीदार मजदूरों, गरीब परिवारों, रिक्शा चालकों, स्लम बस्तियों में रहने वाले लोगों तथा अस्थाई आश्रय स्थलों में रहने वाले प्रवासी श्रमिकों के लिए खाने-पीने की उचित व्यवस्था की जा रही है। इन लोगों को फूड पैकेट व करीब एक सप्ताह तक का राशन उपलब्ध करवाया जा रहा है।

जिला उपायुक्त ने बताया कि रैड क्रॉस के वालंटियर जरूरतमंदों तक राशन तथा खाना पहुंचा रहे हैं। अब देश में पूर्ण रूप से लॉकडाउन लगने के बाद सभी प्रदेशों की सीमाएं सील कर दी गई हैं। ऐसे में हरियाणा प्रदेश की सीमाएं भी सील हो गई हैं। ये वॉलिंटियर जरूरतमंदों तक राशन तथा पका भोजन वितरण के साथ-साथ प्रवासियों को अपने स्थानों पर ही रुकने के लिए प्रेरित कर रहे हैं और लॉकडाउन के बारे में जागरूकता फैलाने का काम कर रहे हैं।

जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव विकास कुमार के अनुसार शहर की सभी स्लम बस्तियों को वॉलिंटियरो द्वारा मैप किया जा चुका है। अब शहर में विभिन्न पॉकेट्स में  रहने वाले लोगों तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है। शहरी क्षेत्र में उपायुक्त यशपाल के दिशा निर्देश में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के संपदा अधिकारी को प्रदीप दहिया को राशन तथा पका भोजन वितरण के नोडल अधिकारी बनाया गया है। नगर निगम के सभी 40 वार्डो मे एक-एक अधिकारी नियुक्त किया गया। जिला प्रशासन द्वारा सूखा राशन तथा पका भोजन एकत्रित करने की जिम्मेदारी जिला रेडक्रॉस को दी गई है। जिला की कई एनजीओ भी भोजन के पैकेट वितरण के लिए जिला रेडक्रॉस सोसायटी का सहयोग कर रही हैं तथा वे निरंतर सोसाइटी के संपर्क में हैं। उन्होंने बताया कि आज सोमवार को सोसायटी द्वारा सैक्टर-12, सैक्टर 17, 18 डिवाइडिगं रोड, बङौली गांव, गड्डी मौहल्ला, लेबर चौक, ओल्ड फरीदाबाद, इस्माइलपुर गांव, सुभाष कालोनी, ऊंचा गांव, सैक्टर-9, राजीव कॉलोनी बल्लभगढ़, बसेल्वा कॉलोनी ओल्ड फरीदाबाद, खेङी पुल ओल्ड फरीदाबाद, भीम बस्ती ओल्ड फरीदाबाद, भारत कॉलोनी ओल्ड फरीदाबाद सहित अनेक स्थानों पर ज़रूरतमंद लोगों को भोजन के पैकेट तथा राशन वितरण किया गया।

सोशल डिस्टेंस, कल से डबुआ सब्जी मंडी में सब्जी नहीं बेंच पाएंगे रिटेलर और मासाखोर 


फरीदाबाद: सोशल डिस्टेंस का जनता उल्लंघन कर रही है और सब्जी मंडी के दुकानदार भी आदेश नहीं मान रहे हैं जिस कारण अब डबुआ सब्जी मंडी में कल से मांसखोर और रिटेल दुकानदार सब्जी नहीं बेंच पाएंगे। प्रशासन और व्यापार मंडल ने निर्णय लिया है कि सुबह 6 बजे से 11 बजे तक सब्जी मंडी केवल होल सेल और कमीशन एजेंटों के लिए ही खुली रहेगी। 

मार्केट कमेटी के सचिव विपिन यादव ने बताया कि मासाखोर और रिटेलर अब सब्जी मंडी में काम नहीं कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि मार्किट कमेटी डबुआ सब्जी मंडी से अब अधिकृत किसान और सब्जी विक्रेता अब अनुमति लेकर ही शहर में सब्जी एवं फल बेंच सकेंगे। उन्होंने कहा कि अब तक 47 लोगों को सब्जी और फल बेंचने की लिखित अनुमति दी जा चुकी है जो शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सब्जी और फल बेंच सकेंगे। 

उन्होंने बताया कि जो मासाखोर या रिटेलर शहर में सब्जी बेंचना चाहते हैं वो सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक मार्केट कमेटी डबुआ कार्यालय में आएं और साथ में अपना आधार कार्ड और दो फोटो लाएं। उन्हें लिखित अनुमति दी जा सकती है। उन्होंने बताया कि कई बार मासाखोरों को समझाया गया। रिटेलरों को समझाया गया लेकिन सोशल डिस्टेंस का पालन वो नहीं कर रहे हैं और जनता भी लापरवाही कर रही है। जनता की ये लापरवाही कहीं जनता पर ही भारी न पड़े इसलिए ऐसा निर्णय जनता की भलाई के लिए  लिया गया है। उन्होंने कहा कि जनता और मासाखोर, रिटेलर अब भी महामारी को समझ नहीं पा रहे हैं जिस लिए ऐसा किया गया है। जिन्हे अब तक अनुमति मिली है उनकी लिस्ट इस तरह से है। 

लॉकडाउन- पप्पी ने संभाली बड़खल की कमान, मास्क और सेनेटाइजर लेकर पहुंचे वार्ड- 21


फरीदाबाद: बड़खल विधानसभा क्षेत्र में भाजपा नेता प्रेमकृष्ण आर्य उर्फ़ पप्पी ने मोर्चा संभाल लिया है जिनका कहना है कि क्षेत्र में लॉकडाउन के दौरान कोई भूख से नहीं मरेगा। पप्पी ने बताया कि मैंने अपनी टीम के साथ फरीदाबाद के बड़खल विधानसभा के वार्ड नंबर 21 में जहां पर सबसे ज्यादा स्लम आबादी वाले एरिया में जाकर जनता के हालत और समस्याओं का जायजा लिया। तथा अपनी टीम के साथ मिलकर क्योंकि यह क्षेत्र स्लम क्षेत्र में आता है यहां पर सभी को इस महामारी से बचने के लिए मास्क और सैनिटाइज वितरित किए। 

पप्पी ने बताया कि इस दौरान श्रद्धानंद कॉलोनी, ध्रुवा डेरा, शिव दुर्गा विहार D 3,D4, D5, D6 व आई ब्लॉक, सुभाष कॉलोनी, महालक्ष्मी डेरा, बाबूलाल डेरा मैं जाकर जनता से बात कि तथा उनकी समस्याओं को जाना इस वैश्विक महामारी  से जीतने के लिए सभी लोगों को अपने घरों में रहने तथा आपस में दूरी बनाए रखने की हिदायत भी दी। बहुत ही जरूरी काम के लिए निकलना भी पड़े तो अपने शरीर को पूरी तरह ढक कर जाने की सलाह दी।  इन सभी क्षेत्रों में कोराना संक्रमण से बचाव हेतु पूरे एरिया को दवाइयों का छिड़काव सेंट्रलाइज करवाना लोगों को जागरूक करने हेतु ही प्रशासन द्वारा कार्य की गए हैं।  उन्होंने कहा कि मैंने सभी मोहल्ला वासियों शिव दुर्गा विहार के सभी ब्लॉकों के वासियों से बार-बार अपने घरों में रहने की गुजारिश की और खास तौर पर नौजवानों के एक साथ ने बैठने की हिदायत भी दी।

पप्पी ने कहा कि हमारे  सांसद और देश में राज्यमंत्री चौधरी कृष्णपाल गुर्जर  और बड़खल विधानसभा की विधायक  सीमा त्रिखा जी के द्वारा भेजे गए सरकार के अधिकारियों से भी बैठक की के क्षेत्र में  मजदूर जरूरतमंद  कोई भूखा ना रहे भूखा ना सोए। हमारे क्षेत्र के  सांसद महोदय  विधायिका महोदया जिन्होंने इस वैश्विक महामारी से क्षेत्र को बचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी और लगातार क्षेत्र को सैनिटाइज करा रहे हैं। मच्छर पैदा ना हो इसके लिए फागिंग करा रहे हैं।  उनका भी मैं धन्यवाद करता हूं। और उन सभी सामाजिक संस्थाओं का जो पिछले लगातार लॉक डाउन में क्षेत्र के मजदूरों एवं जरूरतमंदों को खाना खिलाया खाना पहुंचा रहे हैं उनका भी मैं धन्यवाद करता हूं।

नोयडा में सबसे ज्यादा कोरोना के मामले, पीएसी तैनात, राशन लेकर पहुंचे भजपा नेता दीपक त्यागी 


नई दिल्ली: पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 92 नए मामले सामने आए हैं और 4 मौते हुई हैं। भारत में COVID19 के कुल मामलों की संख्या 1071 और कोरोना से 29 मौते अब तक हो गई है। उत्तर प्रदेश के नोएडा में  अब तक 32 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं जो प्रदेशभर में सबसे ज्यादा हैं। नोएडा की सड़कों पर आजशाम 4 बजे के बाद किसी को नहीं निकलने दिया जा रहा है और आरएएफ व पीएसी भी तैनात की जा रही है ताकि लॉकडाउन का सख्ती से पालन हो सके। 

नोयडा  में बढ़ते मामलों को देख वहां के जरूरतमंदों परेशान हैं लेकिन तमाम लोग उनकी हर तरह की मदद भी कर रहे हैं। कल फरीदाबाद में हजारों लोगों को राशन वितरित कर भाजपा नेता दीपक त्यागी और नीटू नम्बरदार ने नोयडा के जरूरतमंदों के लिए राशन की व्यवस्था की। दीपक त्यागी ने कहा कि  विश्वव्यापी महामारी कोरोना वायरस को लेकर देशभर में हुए लॉक डाऊन के दौरान लोगों को आ रही परेशानियों को दूर करने के लिए  वो अपनी तरफ से हर प्रयास करने में जुटे हैं। 

उन्होंने कहा कि  इस नाजुक घड़ी में हम सबको हर जरूरतमंद की सेवा करनी है और देश के सक्षम लोग भी आगे आकर कोरोना महामारी से लड़ने में सरकार की मदद करें। उन्होंने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार, हरियाणा की मनोहर लाल सरकार और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार जरूरतमंदों का हर ख़याल रख रही है लेकिन हमें भी सरकार के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर चलना है ताकि कोई जरूरतमंद भूंख से न मरे। उन्होंने कहा कि मेरी टीम का ये अभियान आगे भी जारी रहेगा। 

इस मौके पर नीटू नम्बरदार ने कहा कि हम लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं और राशन वितरण के समय सोशल डिस्टेंस का भी पालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हम प्रयास कर रहे हैं कि जरूरतमंदों को उनके घर तक राशन पहुंचा सकें। इस मौके पर शिव शंकर भारद्वाज, हरपाल सैनी, धीरज वाधवा, सर्वोत्तम नागर आदि मौजूद थे।

फरीदाबाद में आज से हर जरूरतमंद को घर बैठे मिलेगा भोजन 


फरीदाबाद: लॉकडाउन के दौरान शहर के जरूरतमंद लोग भोजन के लिए परेशान न हों। कल से उन सबको वहीं भोजन मिल सकता है जहां हो हैं। प्रशासन इसके लिए हर तरह के प्रयास कर रहा है। आज से खाने की डिमांड की सप्लाई शुरू हो रही है। हुडा प्रशासक प्रदीप दहिया के मुताबिक़ दिनांक 30 मार्च 2020 को प्रातः 10:00 बजे से खाने की डिमांड और सप्लाई संबंधी सभी कॉल 98917 67970 पर केवल व्हाट्सएप के रूप में ली जाएंगे और संबंधित गैर सरकारी संस्थानों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के माध्यम से खाने संबंधी समस्याओं का निदान कर दिया जाएगा सभी से अनुरोध है कि फूड हेल्पलाइन नंबर 98917 67970 का ही प्रयोग करें जानकारी के लिए 0129 21 80 1928 3176 पर संपर्क करें।

प्रशासक. नोट -अधिकतम जानकारियों के लिए फूड डिस्ट्रीब्यूशन और एक्शन प्लान ऑफ कोविड-19 जिला प्रशासन फरीदाबाद ने जारी कर दिया है


फरीदाबाद के मजदूरों, कर्मचारियों से एक माह का किराया न मांगे मकान मालिक वरना जायेंगे जेल- DC


फरीदाबाद 29 मार्च- जिलाधीश यशपाल ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धारा 30 के तहत आदेश पारित किए हैं कि फरीदाबाद नगर में कोई भी भवन स्वामी किसी भी स्थिति में किसी मजदूर कर्मचारी या जिले की विभिन्न इकाइयों, कंपनियों, कार्यालयों में काम करने वाले कर्मचारियों से आवासीय भवन किराए की मांग आगामी एक माह तक नहीं करेंगे। 

 जिलाधीश ने आदेशों में स्पष्ट किया है कि जो भवन स्वामी इन आदेशों का उल्लंघन करेगा, उसके विरुद्ध राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अंतर्गत दंडात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी, जिसमें 1 वर्ष तक की सजा या अर्ध दंड या दोनों हो सकते हैं। यदि आदेशों के उल्लंघन में किसी भी तरह की जानमाल की क्षति होती है तो यह सजा 2 वर्ष तक भी हो सकती है। यदि किसी भवन स्वामी द्वारा इन आदेशों का उल्लंघन किया जाता है तो प्रभावित व्यक्ति इसकी सूचना जिले के कोविड-19 कंट्रोल रूम के दूरभाष नंबर 0129-2221000 पर दे सकते हैं।

जिलाधीश में आदेशों में बताया है कि कोविड-19 महामारी के कारण जिला की वर्तमान परिस्थिति के दृष्टिगत यह आवश्यक है कि सभी लोगों को पूरी आवासीय सुरक्षा मिलनी चाहिए। जिला प्रशासन के संज्ञान में आया है कि कुछ भवन स्वामी ऐसे कर्मचारियों वह श्रमिकों को किराए के लिए बाध्य कर रहे हैं जिस कारण उन्हें अपना मूल स्थान छोड़ने पर विवश होना पड़ रहा है। ऐसी स्थिति में लाकडाउन होने के बावजूद यह मजदूर व कर्मचारी अपने गृह जिलों की ओर जाने को विवश हो रहे हैं, जो कोरोना वायरस के फैलने की संभावना को और अधिक बल देता है। दूसरा इन कर्मचारियों के कारण आवश्यक वस्तुओं के उत्पादन व वितरण पर भी प्रभाव पड़ने की संभावना है जिससे प्रतिकूल परिस्थितियां पैदा हो सकती हैं। पुलिस आयुक्त फरीदाबाद इन आदेशों की अनुपालना के लिए जिला फरीदाबाद की सभी सीमाओं पर जांच नाके लगाए तथा अन्य संबंधित अधिकारी अपने एरिया में इन आदेशों की दृढ़ता से पालना सुनिश्चित कराएं।

फरीदाबाद की जनता लॉकडाउन न तोड़े, जरूरतमंदों के नहीं होगी राशन की कमी- टीम कृष्णपाल गुर्जर 


फरीदाबाद: लॉकडाउन के दौरान जनता की समस्याओं को जानने के लिए आज हरियाणा अब तक ने चार विधानसभा क्षेत्रों का दौरा किया। एनआईटी में सत्येंद्र फागना जरूरतमंदों की सहायता करते दिखे तो बड़खल में धर्मबीर भड़ाना और तिगांव में भाजपा नेता देवेंद्र त्यागी एवं नीटू नम्बरदार तो फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र में पूर्व केबिनेट मंत्री विपुल गोयल भी जनसेवा करते दिखे। तिगांव विधानसभा क्षेत्र जो केंद्रीय राज्य मंत्री एवं फरीदाबाद के सांसद कृष्णपाल गुर्जर का गृह क्षेत्र है और यहां भाजपा पार्षद अजय बैसला के दफ्तर जाने पर कई चौंकाने वाली जानकारियां मिलीं। अजय बैसला ने बताया कि जिस दिन से लॉकडाउन हुआ उसी दिन स्थानीय सांसद एवं केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने उनसे कहा कि फरीदाबाद में कोई भूख से न मरने पाए और किसी को किसी  तरह की समस्या न हो इसलिए राशन के एक महीने के कम से कम दो लाख पैकेट तैयार करवाओ जिसमे आटा, चावल, दालें, मसाले, नमक, तेल आदि शामिल हों। इसके बाद अजय बैसला ने तैयारी शुरू कर दी और टीम देवेंद्र चौधरी के सैकड़ों युवाओं को लेकर अगले दिन ही 20 टन से ज्यादा राशन की बोरियां तैयार की गईं और टीम उस राशन को जरूरतमंदों तक पहुँचाने लगी। ये जानकारी जब जिले भर में पहुँची तो दो दिन में ही कई टन राशन लोगों तक पहुंचा दिया गया।

अजय बैसला ने बताया कि तमाम ऐसे लोगों ने भी खुद को गरीब बता राशन लेना शुरू कर दिया जिनके पास कोई कमी नहीं है जिसे देखते हुए हम सिर्फ उन लोगो को राशन देने लगे जो उसके लायक हैं और फिर एक टीम बना जरूरतमंदों तक राशन पहुँचाया जाने लगा। इसके लिए हमने मोबाइल पर राशन पहुंचाने वालों का ग्रुप बनाया और जिले की पुलिस ने भी हमारा साथ दिया और कई जगहों पर पुलिसकर्मियों द्वारा जरूरतमंदों को राशन पहुँचाया गया।

अजय बैसला ने बताया कि इन लगभग चार दिनों में टीम ने बीस टन से ज्यादा राशन जरूरतमंदों तक पहुँचाया और अब भी हमारे दफ्तर में लगभग 25 टन राशन उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि मंत्री जी के आदेश के मुताबिक टीम देवेंद्र चौधरी इस दौरान 18 घंटे से ज्यादा काम कर रही है और मंत्री जी का प्रयास है कि शहर का एक भी जरूरतमंद खाली पेट न सोये। अजय ने कहा कि आगे जब तक लॉकडाउन रहेगा तब तक ये सेवा निरंतर जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद के लोग टेंशन न लें और किसी विपक्षी नेता के बहकावे में आकर अपनी जान जोखिम में न डालें। आप हमसे संपर्क करें, आपके घर तक जरूरी सामान पहुंचा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से बचने के लिए आप घरों से न निकलें और आपको कोई परेशानी न हो, आप भूखे न रहें इसके लिए टीम कृष्णपाल गुर्जर, टीम देवेंद्र चौधरी आपको हर जरूरत की चीजें आपके घरों तक पहुंचाएगी। 

अजय ने कहा कि हम हर जरूरतमंद के साथ हैं लेकिन जो लोग इसका फायदा उठा अपना घर भरने का प्रयास कर रहे हैं और राजनीति कर रहे हैं, वो इंसानियत के दुश्मन हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे मौकों पर सेवा की जाती है राजनीति नहीं। हम छोटी लाइन खींच रहे हैं तो आप बड़ी खींचें, हम रोजाना 10 हजार लोगों को राशन दे रहे हैं तो आप 20 हजार लोगों को रोजाना राशन दें। तब हम समझेंगे कि सच में आप अच्छे नेता हैं।

CM का आदेश आते ही पलवल सीमा सील, रिलीफ कैम्प ले जाए जायेंगे प्रवासी मजदूर 


पलवल, 29 मार्च। हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने भारी संख्या में प्रवासी श्रमिकों की मूवमेंट के दृष्टिगत सभी अंतर्राज्यीय और अंतर-जिला सीमाएं सील करने के निर्देश देते हुए कहा कि जो जहां है, उसे वहीं रोक कर रखा जाए और जाने की अनुमति हरगिज न दी जाए।

मुख्यमंत्री के निर्देशों की पालना करते हुए पलवल जिला में सभी अंतर्राज्यीय व अंतर जिला सीमाएं सील कर दी गई है। जिलाधीश एवं उपायुक्त नरेश नरवाल तथा पुलिस अधीक्षक दीपक गहलावत ने सभी सीमाएं सील करने के आदेश जारी कर दिए। जिसके चलते पलवल जिला में अंतर-जिला आठ व अंतरराज्यीय तीन बार्डर नाका लगाकर सील कर दिए। यह कार्रवाई ऐसे लोगों के लिए की गई है जिनकों जिला में ही  रिलीफ़ कैंप में रखकर उनके खाने-पीने और रहने की व्यवस्था की गई है। इस कार्रवाई का का यदि कोई जबरदस्ती करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

        जिलाधीश ने कहा कि इन रिलीफ कैंपों के लिए नोडल अधिकारी भी नियुक्त किए जाएं जो इनके खाने-पीने और स्वास्थ्य इत्यादि का ध्यान रखेंगे। इन कैंपों में सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाए। सभी मुख्य मार्गों के साथ ऐसे रिलीफ कैंप स्थापित किए जाएं और लोगों को रास्तों पर रहने की अनुमति बिल्कुल नहीं है। इन कैंप में बुजुर्ग या असहाय व्यक्ति जो अकेले हो, उनका ध्यान रखने की भी व्यवस्था की गई है। जिला के सभी उपमंडल अधिकारियों व उप पुलिस अधीक्षकों ने गदपुरी, करमन बॉर्डर, रहीमपुर आदि में सील की गई सीमाओं का मुआयना भी किया।

फरीदाबाद के कई विधायकों सहित कई भाजपा नेता लापता, KPG, NGO, पुलिस के सहारे जरूरतमंद


फरीदाबाद: लगभग 6 महीने पहले फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र के कई ऐसे नेता भी विधायक बन गए जो भारतीय जनता पार्टी की टिकट से न लड़ते तो पार्षद बनना भी मुश्किल था लेकिन कुछ मोदी लहर तो कुछ मिशन 75 का हव्वा तो कुछ को मोदी के मंत्री केपीजी ने जिता दिया। चौकीदार अभियान में इनमे से तमाम नेताओं ने भी अपने नाम के आगे चौकीदार लगाया था लेकिन जिले के लाखों गरीब इन दिनों लॉकडाउन से परेशान हैं और तमाम लोग राशन की समस्या से जूझ रहे हैं लेकिन लॉकडाउन के बाद से ही ये विधायक लापता हैं। कई नेताओं को सरकार ने पद भी दिए चेयरमैन बनाया वो भी लापता हैं और साढ़े तीन साल पहले कई नेता मोदी लहर में पार्षद बन गए वो भी लापता हैं। कुछ गिनती के पार्षद ही जनता की समस्या दूर करते दिख रहे हैं। 

शहर में दो दिनों से यही चर्चा है कि क्या ये नेता आइसोलेशन में चले गए हैं या वैसे ही कोरोना का इनमे ज्यादा खौफ है इसलिए ये अपने घर से नहीं निकल रहे हैं। कई सत्ताधारी विधायक काफी मालदार बताये जाए हैं। कई कई आलीशान होटलों के मालिक हैं तो कोई उद्योगपति है। जनता भूख से बिलबिला रही है लेकिन ये विधायक, पार्षद, चेयरमैन न जाने कहाँ गायब हैं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने हाल में कहा था कि एक करोड़ भाजपा सदस्य जरूरतमंदों की मदद करेंगे लेकिन लगता है फरीदाबाद के कई विधायक, कई पार्षद और कई चेयरमैन खुद को भाजपा सदस्य भी नहीं मानते। 

भाजपा ही नहीं कांग्रेस के भी तमाम नेता गायब हैं। कुछ ही नेता जरूरतमंदों की सेवा करते दिख रहे हैं। कुछ पूर्व विधायक जिन्हे एक इंस्पेक्टर से ज्यादा पेंशन हर माफ़ मिलती है लेकिन वो भी गायब हैं। सड़क पर पुलिस, कुछ समाजसेवी संगठनों के लोग, और फरीदाबाद के सांसद कृष्णपाल गुर्जर की टीम, उनके पुत्र वरिष्ठ उप महापौर देवेंद्र चौधरी की टीम ही दिख रही है। बड़ा सवाल फरीदाबाद  के कई नेताओं पर उठ रहा है। चुनावों के समय ये खुद को बड़ा जन सेवक बताते हैं। चमगादड़ों की तरह दांत बाहर निकाल दोनों हाथों को जोड़कर फोटो के साथ होर्डिंग्स पर खुद को समाजसेवी लिखवाते हैं। आजकल ये सब न जाने कहाँ हैं। अगर ये नेता भी मैदान में जनता की सेवा के लिए उतर जाते तो? देखते हैं ये कब मोर्चा सँभालते हैं या गायब ही रहते हैं। 

पाली क्रेशर जोन में धर्मबीर भड़ाना ने गरीबों को बांटा राशन


फरीदाबाद, 29 मार्च : आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष एवं पाली क्रेशर जोन के प्रधान धर्मबीर भड़ाना ने अपने साथियों की मदद से रविवार को पाली क्रेशर जोन में गरीब एवं जरूरतमंदों को राशन वितरित किया। उन्होंने सभी लोगों से अपील की, कि संकट की इस घड़ी में हमें सरकार पर निर्भर रहने की बजाय स्वयं आगे आकर सहयोग करना चाहिए। जो लोग स्वयं सक्षम हैं या समाज हित में काम करने वाली जितनी भी समाजसेवी संस्थाएं हैं, उनको आगे आकर कार्य करना चाहिए। रविवार को धर्मबीर भड़ाना के साथ महासचिव हरीश मित्तल, उपप्रधान सुभाष गोयल, अमन मित्तल, सुखराम ठेकेदार, गजे मेंबर, धर्मेन्द्र, जसवंत प्रधान आदि ने मिलकर लोगों को 5 किलो आटा, 5 किलो चावल, नमक, दाल, मिर्च, सरसों का तेल एवं दालें सहित जरूरत का सामान वितरित किया। उन्होंने कहा कि आज देश विकट संकट की स्थिति से जूझ रहा है, ऐसे में हमे मानवता दिखाने का मौका मिला है। मुश्किल की घड़ी में मनुष्य ही एक-दूसरे के काम आता है।

 लॉक डाउन की वजह से काम-धंधे ठप्प होने वो लोगों से उन्होंने धैर्य बनाए रखने की बात कही और कहा कि सरकार सभी के लिए संसाधनों का इंतजाम करने में जुटी है। इसलिए जान-बूझकर ऐसी स्थिति पैदा न करें, जिसका नुकसान हमें ही उठाना पड़े। भीड़ में एकत्रित होकर अपने घरों की तरफ भागने की बजाय यहां रहकर हालातों का सामना करें। इसमें उद्योगपतियों, फैक्ट्री मालिकों एवं मकान, दुकान मालिकों को भी सहयोग करना चाहिए, ताकि दूसरे प्रदेशों से रोजी-रोटी की तलाश में बसे गरीब-मजदूरों को यहां बसाया जा सके। इस मौके पर पाली क्रेशर जोन के महासचिव हरीश मित्तल एवं उपप्रधान सुभाष गोयल ने कहा कि समाज हित में अन्य संगठनों के साथ मिलकर सदैव वो आगे बढक़र कार्य करते रहते हैं। लायंस क्बल के साथ मिलकर भी उन्होंने अनेक सेवा कार्य किए हैं, मगर उनकी सबसे पहली प्राथमिकता पाली क्रेशर जोन में काम करने वाला गरीब तबका है। जहां वो क्रेशर जोन प्रधान धर्मबीर भड़ाना के नेतृत्व में समय-समय पर अनेक आयोजन करते रहते हैं। राशन वितरण में उन्होंने लोगों से सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की अपील भी कि जिससे किसी को संक्रमण का भय न रहे।