Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

Search This Blog

Recent PostAll the recent news you need to know

चौधरी ने दी भड़ाना को जीत की बधाई, बोले MCF चुनावों में भी साफ़ होगा भाजपा का सूपड़ा

 फरीदाबाद - जिला परिषद् चुनावों में कल सबसे पहले वार्ड नंबर एक के नतीजे आये और हरिंदर भड़ाना भारी मतों से जीते जिसके बाद फरीदाबाद कांग्रेस में खुशी की लहर दौड़ गई क्यू कि हरिंदर भड़ाना कालेज के समय से ही कांग्रेस से जुड़े हैं। वर्तमान में हरियाणा युवा कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष मयंक चौधरी ने बताया की जब मैं NSUI का जिला अध्यक्ष था तब मैंने हरिंदर को उपाध्यक्ष बनाया था और तभी से हरिंदर संघर्ष कर रहे हैं। उनकी बड़ी जीत के लिए मैं उन्हें बधाई देता हूँ। 

हरियाणा को बधाई देते हुए मयंक चौधरी ने कहा कि हरिंदर ही नहीं पूरे हरियाणा में पंचायत चुनावों में  कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों का डंका बजा है और अधिकतर जिलों में कमल मुरझा गया है और अब ये सिलसिला 2024 तक जारी रहेगा। लोकसभा में भी भाजपा का सूपड़ा साफ़ होगा और विधानसभा  चुनावों में दो-तिहाई बहुमत से कांग्रेस की हरियाणा में सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद की बात करें तो नगर निगम चुनावों में भी कमल का मुरझाना तय है और कांग्रेस का ही मेयर बनेगा। 45 वार्डों में से कांग्रेस कम से कम 30 सीटें जीतेगी। 


102 में से सिर्फ 22 पर हुई बीजेपी की जीत, विद्रोही ने खट्टर को बताया सबसे कमजोर मुख्यमंत्री


28 नवम्बर 2022- स्वयंसेवी संस्था ग्रामीण भारत के अध्यक्ष एवं हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता वेदप्रकाश विद्रोही ने एक बयान में कहा कि पंचायत चुनावों ने हरियाणा की ग्रामीण जनता ने भाजपा को आईना दिखाकर  सत्ता हेकड़ी की हवा निकाल दी है। विद्रोही ने कहा कि भाजपा ने पंचायत चुनावों में 411 जिला परिषद सीटों में से 102 सीटों पर पार्टी चुनाव चिन्ह पर लड़ा जिसमें भाजपा के कमल निशान पर केवल 22 जिला पार्षद बने अर्थात भाजपा को जिला परिषदों चुनावों में 21 प्रतिशत ही सफलता मिली जबकि पंचकुला व सिरसा की सभी जिला परिषद सीटों पर चुनाव लडने के बाद भी भाजपा का खाता नही खुला। पंचायत चुनावों में भाजपा के मंत्रीयों, सांसदो, विधायकों, नेताओं के परिवारजनों को ग्रामीण मतदाताओं ने रिजेक्ट ही नही किया अपितु साथ में भाजपा के बड़े नेताओं के जो समर्थक 309 जिला परिषद सीटों पर पार्टी चुनाव निशान की बजाय निर्दलीय चुनाव लड़ रहे थे, उनमें भी BJP नेताओं के सभी खासम-खास चुनाव हार गए। 

पंचायत चुनावों के परिणाम बताते है कि हरियाणा की ग्रामीण की जनता भाजपा से खासी नाराज है। विद्रोही ने कहा कि इसी तरह भाजपा को अपने शहरी गढ़ में भी नगर निकाय चुनावों में अपेक्षित सफलता नही मिली थी। शहरी नगर निकाय चुनावों में भी पूर्व की तुलना में भाजपा के मतों में 50 प्रतिशत की गिरावट आई थी। पंचायत व नगर निकाय चुनाव का विश्लेषण करने के बाद यह साफ दिख रहा है कि शहर हो या गांव, हरियाणा का मतदाता भाजपा-जजपा सरकार की जनविरोधी, किसान, मजदूर, गरीब विरोधी नीतियों, बेकारी, गरीबी, महंगाई, भ्रष्टाचार व प्रशासनिक कुव्यवस्था से भाजपा-जजपा सरकार से खासा नाराज है व 2024 के विधानसभा चुनावों में भाजपा-जजपा सरकार को सत्ता से बाहर खदेडऩे का मन बना चुका है। उन्होंने कहा कि खट्टर हरियाणा के सबसे कमजोर मुख्य्मंत्री साबित हो रहे हैं। लाखों करोड़ का कर्ज लेकर सिर्फ खट्टर सरकार घी पी रही है। हरियाणा की जनता का हाल बेहाल है। 

उन्होंने कहा कि हरियाणा में भाजपा का एकमात्र विकल्प कांग्रेस है जिससे साफ है कि 2024 के विधानसभा चुनाव में मतदाता कांग्रेस को सत्ता सौंपने व भाजपा-जजपा को खदेडऩा का मन बना बना चुका है। विद्रोही ने कहा कि हरियाणा की जनभावना के अनुरूप कांग्रेस नेता व कार्यकर्ताओं को एकजुटता से जनता के मुद्दों पर लगातार दो वर्षो तक सडक़ों परे संघर्ष करते हुए हरियाणा के राजनीतिक पटल पर भाजपा-जजपा को पूरी तरह से शून्य करने के एकजुट संकल्प के सथ काम करना चाहिए।

जिप- 102 सीटों पर BJP, 114 पर AAP, 98 पर INLD, 71 पर BSP और 2 पर JJP ने उतारे थे उम्मीदवार

 चंडीगढ़, 27 नवंबर - हरियाणा राज्य निर्वाचन आयुक्त श्री धनपत सिंह ने बताया कि हरियाणा में 143 पंचायत समितियों के 3081 सदस्यों में से 117 पहले ही सर्वसम्मति से निर्विरोध चुन लिये गए थे। शेष 2,964 सदस्यों के लिए 11,888 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था। 22 जिला परिषदों के 411 सदस्यों के लिए चुनाव करवाये गयें । इन पदों के लिये 3072 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था। जिला परिषद सदस्य की सीट ग्रामीण क्षेत्र में लोक प्रतिनिधित्व की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण होती है, इसके लिये सभी जिलों में प्रत्याशियों में कड़ा मुकाबला रहा।


 राज्य में पंचायती राज संस्थाओं के आम चुनाव 2022 की मुख्य बातें

कुल ग्राम पंचायतें - 6,221


चुनाव हुये    - 6,220 (ग्राम पंचायत संभालका खण्ड लाडवा जिला कुरूक्षेत्र का कार्यकाल फरवरी 2023 में पूर्ण होगा। वहां पर चुनाव उसके पूर्ण होने के पश्चात ही करवाये जायेंगे)  सरपंच पद के लिए जहां कोई नामांकन प्राप्त नहीं हुये         - 8


निर्विरोध/सर्वसम्मति से चुने गये सरपंचों की संख्या - 284

माननीय उच्च न्यायालय में दायर सिविल याचिका के कारण जिन ग्राम पंचायतों में सरपंचों के चुनाव नहीं हुये की संख्या        - 4

कुल पंचों की संख्या -      61,985


 पंच पद के लिए जहां कोई नामांकन प्राप्त नहीं हुये     - 1,755


निर्विरोध/सर्वसम्मति से चुने गये पंचों की संख्या - 40,092


माननीय उच्च न्यायालय में दायर सिविल याचिका के कारण जिन ग्राम पंचायतों में पंचों के चुनाव नहीं हुये    - 2


पंचायत समितियों के कुल सदस्य - 3081


 निर्विरोध/सर्वसम्मति से चुने गये सदस्य   -       117

राज्य में पंचायत चुनावों को लेकर विस्तारपूर्वक बताते हुये श्री धनपत सिंह ने बताया कि राज्य में पंचायती राज संस्थाओं के तीनों स्तर यानि ग्राम पंचायतों, पंचायत समितियों तथा जिला परिषदों के पिछले आम चुनाव दिसम्बर, 2015 में हुये थे तथा पंच, सरपंच, जिला परिषद और पंचायत समिति के सदस्यों के शपथ ग्रहण के बाद पहली बैठक 16 फरवरी 2016 को हुयी थी। अतः इनका पांच वर्ष का कार्याकाल 15 फरवरी 2021 को पूर्ण हो गया था। लेकिन पहले कोविड -19 के कारण फिर किसान आंदोलन तथा बाद में माननीय पंजाब एंव हरियाणा उच्च न्यायालय में दायर की गये सविल रिट याचिकाओं तथा कुछ अन्य अपरिहार्य कारणों से चुनाव समय पर नहीं करवाये जा सके। अंततः राज्य निर्वाचन आयोग ने अक्तूबर 2022 में पंचायती राज संस्थाओं के आम चुनावों की घोषणा की तथा यह चुनाव तीन चरणों में करवाये जाने का चुनाव कार्यक्रम जारी किया गया। पहले चरण में 9 जिले, भिवानी, झज्जर, जीन्द, कैथल, महेन्द्रगढ़, नूहं, पंचकूला, पानीपत और यमुनानगर मेें 30 अक्तूबर 2022 को पंचायत समितियों और जिला परिषदों के सदस्यों के लिये तथा 2 नवम्बर 2022 को इन जिलों में ग्राम पंचायतों के पंचों एवं सरपचों के चुनाव के लिए मतदान हुआ। दूसरे चरण में 9 जिले, अंबाला, चरखी दादरी, गुरूग्राम, करनाल, कुरूक्षेत्र, रेवाड़़ी, रोहतक, सिरसा तथा सोनीपत में पंचायत समितियों और जिला परिषदों के सदस्यों के चुनाव के लिये 9 नवम्बर 2022 को मतदान हुआ तथा इन जिलों की सभी ग्राम पंचायतों के पंचों और सरपंचों के चुनाव के लिये 12 नवम्बर 2022 को मतदान हुआ।


27 एवं 28 अक्तूबर 2022 को फरीदाबाद में सभी राज्यों के गृह मंत्रियों के शिखर सम्मेलन के कारण तथा राज्य में 3 नवम्बर को आदमपुर विधानसभा के उप-चुनाव के कारण फरीदाबाद, पलवल, हिसार तथा फतेहाबाद जिलों में पंचायती राज संस्थाओं के चुनावों को तीसरे चरण में रखा गया। इन चारों जिलों में पंचायत समितियों और जिला परिषदों के सदस्यों के लिये मतदान 22 नवम्बर 2022 को हुआ तथा इन जिलों की ग्राम  पंचायतों के पंचों और सरपंचों के चुनाव के लिये मतदान 25 नवम्बर 2022 को हुआ।


 धनपत सिंह ने बताया कि आज दिनांक 27.11.2022 को राज्य के सभी 22 जिलों के लिये जिला परिषदों के 411 सदस्यों तथा 143 खण्डों में पंचायत समितियों के शेष 2964 सदस्यों के चुनाव के लिये मतों की गिनती आज शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हुई । इस प्रकार लम्बे इंतजार के बाद हरियाणा राज्य में ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को ग्राम पंचायतों, पंचायत समितियों तथा जिला परिषदों के लिये अपने उम्मीदवारों को चुनने का मौका मिला।


धनपत सिंह ने बताया के इन सभी निर्वाचित प्रत्याशियों के नामों की नोटिफिकेशन हरियाणा राज्य सरकारी गज़ट में विधिवत रूप से  30 नवम्बर 2022 से पहले जारी कर दी जायेगी।


 धनपत सिंह ने बताया कि राज्य में पंचायत समिति के चेयरमैन तथा जिला परिषद के अध्यक्ष (प्रेसीडेंट) का चुनाव प्रत्यक्ष रूप से नहीं होता है। पंचायत समिति के लिये चुने गये सदस्यों में से पंचायत समिति के चेयरमैन का चुनाव होगा तथा इसी प्रकार जिला परिषद के लिये चुने गये सदस्यों द्वारा ही जिला परिषद अध्यक्ष का चुनाव किया जाता है।


जहाँ तक राजनैतिक दलों द्वारा इन चुनावों में अपने उम्मीदवार उतारने का प्रश्न है, पंचों और सरपंचों के चुनाव में किसी भी राजनैतिक दल ने अपने चुनाव चिन्ह पर नहीं लड़ा। हालांकि पंचायत समितियों में कुछ जिलों में बसपा, ईंडियन नैशनल लोकदल तथा सी.पी.आई.एम. ने कुछ वार्डों में अपने उम्मीदवार चुनाव में खड़े किये थे। जिला परिषदों के सदस्यों के लिये सभी राजनैतिक दलों ने कुछ वार्डों में अपने उम्मीदवारों को पार्टी चुनाव चिन्ह पर लड़वाया था। 22 जिला परिषदों की कुल 411 सीटों के लिये कुल 3072 उम्मीदवार खड़े हुये थे, जिनमें 114 आप, 102 भाजपा, 71 बसपा, 98 ईंडियन नैशनल लोकदल, 4 सी.पी.आई.एम. और 2 जजपा से संबंधित थे। इसी प्रकार, पंचायत समितियों में 2964 सदस्यों के लिये कुल 11888 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था जिसमे 46 बसपा, 2 ईंडियन नैशनल लोकदल और सी.पी.आई.एम. से संबंधित थे। अन्य सभी उम्मीदवार आज़ाद उम्मीदवार थे।   

फरीदाबाद ब्लाक समिति के सभी 16 विजेताओं की लिस्ट देखें

फरीदाबाद, 27 नवम्बर। फरीदाबाद ब्लाक के आरओ कम एसडीएम बङखल पंकज सेतिया ने बताया कि हरियाणा निर्वाचन आयोग द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार फरीदाबाद ब्लाक से सभी पंचायत समिति सदस्यों का परिणाम जारी कर दिया गया है। 

एसडीएम पंकज सेतिया ने बताया कि वार्ड 1 से नफीस, वार्ड नम्बर दो से बबली, वार्ड नंबर तीन से वलीद खान, वार्ड नम्बर चार से ईसान, वार्ड नंबर पांच से असलीम, वार्ड नम्बर छः से नजराना, वार्ड नम्बर सात से सलाऊदीन ने जीत दर्ज की है। वहीं वार्ड नम्बर आठ से पुष्पा सैनी, वार्ड नंबर नौ से आजाद भडाणा, वार्ड नम्बर दस से नीतू, वार्ड नम्बर ग्यारह से राजबीर सिंह भडाणा ने पंचायत समिति के सदस्य का चुनाव जीता है।

एसडीएम पंकज सेतिया ने आगे बताया कि वार्ड नम्बर बारह से भागरथी,वार्ड नम्बर-13 से सुरजीत सिंह, वार्ड नम्बर -14 से उमेश, वार्ड नम्बर -15 से बिमलेश और वार्ड नम्बर -16 से रेनुका रानी ने पंचायत समिति के सदस्य में  चुनाव जीत दर्ज की है।

चहुमुखी विकास के नए आयाम, विश्व में लहराएगा फरीदाबाद का परचम- कृष्ण पाल गुर्जर

 
फरीदाबाद, 27 नवंबर। केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने कहा कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में प्रधानमंत्री नरेन्द्र और मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चहुमुखी विकास के नए आयाम स्थापित करने से औद्योगिक नगरी फरीदाबाद का विश्व में परचम लहराएगा।

भारत सरकार के भारी उद्योग एवं ऊर्जा विभाग के केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में आज रविवार को  सेहतपुर गॉव में 2 एकड़ में नगर निगम फरीदाबाद के द्वारा नवनिर्मित आधुनिक सामुदायिक भवन का आज उद्घाटन कर क्षेत्रवासियों को समर्पित कर उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि इस भवन के निर्माण से अब सामाजिक कार्यक्रमों का आयोजन सुविधाजनक रूप से हो पाएगा।

केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने  कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में विकास कार्यों के नए आयाम स्थापित किए हैं और आने वाले समय में और ज्यादा विकास होगा। लोगों को रोजगार मिलेगा और बड़े-बड़े उद्योग इस क्षेत्र में स्थापित होंगे। इससे औद्योगिक नगरी फरीदाबाद का विश्व में परचम लहराएगा।  फरीदाबाद शहर को जेवर एयरपोर्ट के को जोड़ने वाले एक्सप्रेस वे के बनने से क्षेत्र में विकास के नए रास्ते खुलेंगे। फरीदाबाद शहर आने वाले समय में विकास की नई दौड़ में शामिल होने जा रहा है। जिससे विकास कार्यों और औद्योगिक विकास के क्षेत्र में फरीदाबाद को विश्व में अलग पहचान मिलेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली मथुरा एक्सप्रेस वे के बाद दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा कि इसके बाद फरीदाबाद से जेवर एयरपोर्ट तक एक नया एक्सप्रेस में बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह एक्सप्रेस वे 31 किलोमीटर लंबा होगा और छह लेन का बनाया जाएगा।


इस अवसर पर लोकसभा निगरानी कमेटी के चेयरमैन एवं भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य श्री ओमप्रकाश रैक्सवाल एवं निवर्तमान पार्षद श्रीमती गीता रैक्सवाल, भाजपा जिला उपाध्यक्ष श्री अनिल नागर, जिला सचिव श्री मुकेश शर्मा, भाजपा नेता सरपंच श्री उमेश शर्मा, रवि भड़ाना, मंडल अध्यक्ष श्री विवेक मिश्रा, पूर्व मंडल अध्यक्ष श्रीमती यशोदा डबराल, महिला मोर्चा मंडल अध्यक्ष श्री मती आरती साहु, ओबीसी मोर्चे के अध्यक्ष श्री जगमोहन यादव, युवा मोर्चे के उपाध्यक्ष श्री जयंत कपासिया, श्री कामेश्वर चौबे, पूर्व मंडल अध्यक्ष श्री विजय पाल सिंह, महामंत्री विशाल, मुकेश झा, जयंत, सचिव वीरेंद्र सहित अन्य कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

महापुरुष, किसान नेता और जनायक थे चौधरी रणबीर सिंह हुड्डा- लखन सिंगला

 

फरीदाबाद, 26 नवंबर : हर बार की तरह इस बार भी महान् स्वतंत्रता सेनानी एवं  संविधान निर्माता समिति के सदस्य चौधरी रणबीर सिंह हुड्डा 108 वी जयंती सादगी के साथ मनाई गई। सेक्टर 17 स्थित चौधरी रणबीर सिंह हुड्डा पार्क मैं आयोजित कार्यक्रम की शुरुआत उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर किया गया। कार्यक्रम के आयोजक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता लखन सिंगला ने कहा कि चौशरी रणबीर सिंह हुड्डा महान स्वतंत्रता सेनानी, पंजाब हरियाणा-सरकार में सिंचाई मंत्री, हम सबके प्रेरणा स्त्रोत एंव संविधान की मूल प्रति पर हस्ताक्षर करने वालों में से एक हैं। वह एकमात्र ऐसे व्यक्ति हैं जो संसद व विधानसभा के सभी सदनों समेत सात भिन्न संवैधानिक सदनों के सदस्य रहे।  गांधीवादी, प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष चौ. रणबीर सिंह हुड्डा जी की 108वीं जयंती के सुअवसर पर टीम लखन सिंगला के समस्त सदस्यों  सहित पूर्व विधायक ललित नगर की मौजूदगी में फरीदाबाद के सेक्टर-17 स्थित चौ. रणबीर सिंह हुड्डा पार्क में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पुष्प अर्पित किए गए।  

इस मौके पर कांग्रेसी नेता लखन सिंगला ने कहा कि चौधरी रणबीर सिंह की जयंती पर आज सभी यहां एकत्रित हुए है और हर बार की तरह इस बार भी उनकी जयंती धूमधाम से मनाई गई। उन्होंने कहा कि वो एक महापुरुष, किसान नेता और जनायक थे। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के पिता एवं सांसद दीपेंद्र हुड्डा के दादा जी है। उनके नाम से बना सेक्टर 17 स्थित चौधरी रणबीर सिंह हुड्डा पार्क शहर की शान है, मगर अनदेखी के चलते आज पार्क दुर्दशा झेल रहा हूं। पूर्व विधायक तिगांव ललित नागर ने चौधरी रणवीर सिंह की जयंती के अवसर पर नमन किया और कहा कि ऐसे महापुरुष थे, जिनका देश की आजादी में अतुलनीय योगदान गई। हाल में पंच सरपंच चुनकर आए लोगों को बधाई दी और जनता के हित में कार्य करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत के चुनाव में अधिकतर भाजपा समर्थित उम्मीदवारों की हार हुई है। भाजपा केवल धर्म के नाम पर राजनीति करती है विकास कार्यों के नाम पर के झोले में कुछ भी नहीं है। जनता महंगाई एवं भ्रष्टाचार से पूरी तरह त्रस्त है। उन्होंने कहा कि गांव में भाजपा के खिलाफ लहर चल चुकी है और आने वाले समय में निश्चित रूप से कांग्रेस जीतेगी। 

इस मौके पर मुख्य रूप से पूर्व पार्षद अनिल शर्मा, पूर्व पार्षद रोहित सिंगला, पूर्व चेयरमैन बालकिशन वशिष्ठ, जिला अध्यक्ष सेवादल ओ पी भाटी,  करमबीर खटाना, जिला अध्यक्ष युवा कांग्रेस नितिन सिंगला , गुलाब सिंह गुड्डू, जिला अध्यक्ष एनएसयूआई किशन चौहान, लाला शर्मा, हरिलाल गुप्ता, सोनू मौर्या, चंद्रपाल, प्रीतम गुज्जर, सतवीर गुज्जर, विजय कुमार, सोनू, किशन, विमल ठाकुर, कपूरचंद अग्रवाल, सतीश ठाकुर (बंटी) सुमित खंडेलवाल, सचिन, रचना भसीन, खुशबू खान, राव सुरेंद्र, रमेश गौतम, आकाश सैनी, लाला सैनी, संतलाल, सलीम, आफताब, शिवम पांडे, दुर्गा, सुमंत ठाकुर, रहमान, निशांत ठाकुर, नजर मोहमद, परदीप कुमार, शिव गुप्ता, कपिल जैन, रहीस खुरेशी और अन्य साथी उपस्तीथ थे।

143 पंचायत समितियों और 22 जिला परिषदों के लिए मतगणना कल सुबह 8 बजे से

 

चंडीगढ़, 26 नवंबर – हरियाणा  राज्य निवार्चन आयुक्त धनपत सिंह ने बताया कि प्रदेश में सभी 143 पंचायत समितियों और 22 जिला परिषदों के सभी सदस्यों के चुनाव के लिए मतगणना 27 नवंबर, 2022 को प्रातः 8 बजे होगी। इसके लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम ‌कर लिए गए हैं।

 धनपत सिंह ने बताया कि पलवल जिला में मतगणना की निगरानी से संबंधित सुरक्षा इंतजामों के लिए फरीदाबाद के मण्डल आयुक्त श्री विकास यादव, आई ए एस को पलवल जिला में तैनात रहने के ‌निर्देश दिए गए हैं। इससे पहले नूहं जिला के उपायुक्त श्री अजय कुमार को यह जिम्मेदारी सौंपी गई थी। चूंकि श्री अजय कुमार के पास नूहं जिले के साथ-साथ पलवल जिले के उपायुक्त का भी अतिरिक्त प्रभार है और 27 नवंबर 2022 को पलवल और नूहं दोनों जिलों में ही मतगणना एक साथ होगी। इसलिए अब श्री अजय कुमार नूहं जिले में ही तैनात रहेंगे और पलवल जिले की मतगणना की निगरानी के उद्देश्य से फरीदाबाद के मण्डल आयुक्त श्री विकास यादव को दो दिनों 26 व 27 नवंबर, 2022 के लिए पलवल में तैनात रहने के लिए आदेश दे दिए गए हैं।


जिला महेंद्रगढ़ के लिए डॉ एम रवि किरण, आयी पी एस चुनाव पर्यवेक्षक (पुलिस) नियुक्त

श्री धनपत सिंह ने बताया कि जिला महेंद्रगढ़ में पंचायत समिति सदस्यों एवं जिला परिषद सदस्यों की मतगणना की पर्यवेक्षण हेतु आईपीएस अधिकारी, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, साउथ जोन, रेवाड़ी डॉ एम रवि किरण को चुनाव पर्यवेक्षक (पुलिस) नियुक्त किया गया है। इससे पूर्व, आईपीएस अधिकारी डॉ. राजश्री सिंह को चुनाव पर्यवेक्षक (पुलिस) नियुक्त किया गया था, लेकिन उनके पारिवारिक कारणों को ध्यान में रखते हुए अब उनके स्थान पर डॉ एम रवि किरण को नियुक्त किया गया है।


जिला जींद के लिए आईपीएस अधिकारी ममता चुनाव पर्यवेक्षक (पुलिस) नियुक्त


मुख्य निवार्चन आयुक्त ने बताया कि जिला जींद में पंचायत समिति सदस्यों एवं जिला परिषद सदस्यों की मतगणना की पर्यवेक्षण हेतु आईपीएस अधिकारी, श्रीमती ममता, पुलिस महानिरीक्षक, रोहतक और हिसार जोन को चुनाव पर्यवेक्षक (पुलिस) नियुक्त किया गया है। इससे पूर्व, आईपीएस अधिकारी श्री राजेंद्र कुमार मीणा को चुनाव पर्यवेक्षक (पुलिस) नियुक्त किया गया था, लेकिन उनके अपरिहार्य कारणों की वजह से अब उनके स्थान पर श्रीमती ममता को नियुक्त किया गया है।


       मुख्य निवार्चन आयुक्त ने बताया कि दोनों चुनाव पर्यवेक्षक (पुलिस) संबंधित जिला में तुरंत प्रभाव से रिपोर्ट करें और अधिक से अधिक मतगणना केंद्रों पर जाकर निर्विघ्न मतगणना के लिए जिला प्रशासन द्वारा किए गए सुरक्षा इंतजामों का जायजा लें। जिले के अन्य सभी रिटर्निंग अधिकारियों/सहायक रिटर्निंग अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कर सुनिश्चित करें कि किसी मतगणना केन्द्र पर कोई समस्या न आए। वे जिले में पंचायत समिति एवं जिला परिषद के सभी सदस्यों की मतगणना एवं परिणाम घोषित होने के बाद ही जिला छोड़ेंगे।

सरूरपुर फरीदाबाद, चुनाव नतीजे के बाद पुलिस पर पथराव, 200 पर FIR दर्ज, 20 गिरफ्तार

 

फरीदाबाद: थाना मुजेसर एरिया में स्थित सरूरपुर गांव में कल पंचायत चुनाव के दौरान हारने वाले पक्ष के द्वारा सरकारी कर्मचारियों पर पथराव करके सरकारी कार्य में बाधा डालने के मामले में पुलिस ने 20 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस आयुक्त विकास कुमार अरोड़ा ने मामले में शामिल आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में रणसिंह, बंटी, टेकचंद, विनोद, सतीश, प्रहलाद, राजेश, मनोज, विक्रम, दीपक, जितेंद्र, सुखपाल, सुंदर, बनय, प्रेमचंद, प्रेम, लक्ष्मण, सुनील, विकास तथा सतपाल का नाम शामिल है। पुलिस को दी अपनी शिकायत में डॉक्टर विवेक आनंद ने बताया कि कल उनको पंचायत चुनाव के लिए सरूरपुर में बतौर ड्यूटी मजिस्ट्रेट के तौर पर नियुक्त किया गया था। वोटिंग खत्म होने के पश्चात सरपंच पद की गिनती शुरू हुई जिसमे मकसूदन को विजय घोषित कर दिया गया जिसपर दूसरा पक्ष हारने वाले पक्ष के उम्मीदवारों और एजेंट ने हंगामा करना शुरू कर दिया और चुनाव दोबारा से करने का दबाव बनाने लगे और उन्होंने गांव के अन्य लोगों को इकट्ठा कर लिया।

 ड्यूटी मजिस्ट्रेट और पुलिस ने हारने वाले पक्ष को नियमानुसार समझने की कोशिश की परंतु वह नहीं माने और पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया जिसमें कई पुलिसकर्मियों को गंभीर चोट लगी और पुलिस की गाड़ियों को काफी नुकसान हुआ। ड्यूटी मजिस्ट्रेट के आदेश अनुसार हल्के बल का प्रयोग करके भीड़ को खदेड़ा गया और ईवीएम मशीनों को सुरक्षित से हाउस पहुंचाया गया। शिकायत के अनुसार मुजेसर थाने में आरोपियों के खिलाफ सरकारी प्रक्रिया में बाधा डालने सरकारी कर्मचारियों पर पथराव करके सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। चुनाव प्रक्रिया के दौरान हुए पथराव में सीसीटीवी फुटेज और वीडियो चेक की जा रही है जिसके माध्यम से मामले में शामिल अन्य आरोपियों की पहचान की जा रही है और उन्हें भी जल्द गिरफ्तार करके कानून के तहत कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

स्वघोषित विकासपुरुषों को ग्रामीणों ने दिया बड़ा झटका, बड़े नेताओं का पोस्टर लगाने वाले चुनाव हारे

 फरीदाबाद - काफी समय से लटके हरियाणा पंचायत संपन्न हो गए और आख़िरी चरण के चुनावों के लिए आज नतीजे भी आ गए। अब जिला परिषद् और ब्लाक समिति के नजीते आने हैं। पंच सरपंच के नतीजे चौंकाने वाले आ रहे हैं खासकर सत्तारूढ़ भाजपा के लिए खुशखबरी नहीं है क्यू कि अधिकतर गांवों में जो भाजपा के बड़े नेताओं की होर्डिंग्स लगाकर चुनाव लड़ रहे थे आज शाम अधिकतर लटक नए यानी चुनाव हार गए। आज कई पोलिंग बूथों पर कुछ उम्मीदवारों ने भाजपा नेताओं के बड़े होर्डिंग्स लगा रखे थे लेकिन उनमे से अधिकतर के हारने की खबर आ रही है जो भाजपा के लिए मनन करने की जरूरत है। साधारण लोग चुनाव जीत गए और तमाम करोड़पति चुनाव हार गए। 

इस तरह के नतीजों से साफ़ लगभग है कि गांव के लोग भी सत्ताधारी पार्टी से खुश नहीं हैं। जिले के अधिकतर गांवों की सड़कें दादा आजम के जमाने जैसी हैं। चलने लायक नहीं हैं। सरकार द्वारा जारी अन्य सुविधाओं के लिए ग्रामीण तरस रहे हैं। भाजपा नेताओं को स्व घोषित विकास पुरुष कहा जा रहा है। कुछ लोग कुछ नेताओं को विनाश पुरुष बोलते हुए देखे गए। सड़कों पर धूल ही धूल और पिछड़े राज्यों से ज्यादा घटिया फरीदाबाद के गांवों की सड़कें हो चुकी हैं। कई अन्य कारण भी हैं जिस कारण जिले की जनता जिले के सत्ताधारियों से नाराज है। गांवों में जाने के बाद पता चला कि गांव के लोग भाजपा नेताओं के बारे में क्या कहते हैं। किसने कितना माल कमाया यही चर्चे और गांवों में भी होते हैं जो पहले शहर में थे। 

हो सकता है जीते हुए पंच सरपंचों पर हरियाणा सरकार अपना हाथ रखे और गांवों में विकास करवाने का प्रलोभन देकर उन्हें अपने साथ जोड़ने का प्रयास करे। अगर पंच सरपंच इस प्रलोभन में आकर सत्ता से जुड़ भी जाते हैं तो भाजपा को कोई खास लाभ नहीं होगा। जब तक फरीदाबाद में युद्ध स्तर पर विकास नहीं शुरू होंगे तक जनता शायद ही सरकार से खुश रहे। जो हाल गांवों में देखा गया वैसा अगर नगर निगम चुनावों में होगा तो भाजपा के लिए शुभ संकेत नहीं हैं। शहर के लोग तो और दुखी और परेशान हैं और फरीदाबाद को नरक सिटी का दर्जा देते हैं। अभी समय है स्वघोषित विकास पुरुष जनता का दुःख दर्द समझें। 

फरीदाबाद- गुस्से में उठाया पार्क मे पड़ा पाईप और महिला के गुप्तांग में घुसा दिया

 

फरीदाबाद- सेक्टर 7 एरिया में 7 नवंबर हुई एक अज्ञात महिला की हत्या के मामले में पुलिस रिमांड पर चल रहे आरोपी मनोज को आज पुलिस रिमांड पूरा होने के बाद अदालत मे पेश कर जेल भेजा गया है। 

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि इस मामले के आरोपी मनोज को क्राइम ब्रांच सेंट्रल और 85 की टीम ने 20/21 नवंबर की रात नेपाल बॉर्डर से गिरफ्तार किया था। आरोपी मनोज नेपाल का रहने वाला है जो फिलहाल फरीदाबाद की सेक्टर 11 राजीव नगर झुग्गी में रह रहा था। आरोपी फरीदाबाद में दिहाड़ी मजदूरी का काम करता है। 

बता दे की 7 नवंबर की रात आरोपी ने एक महिला के साथ बलात्कार करके उसकी हत्या कर दी थी और उसके शव को सेक्टर 7 पार्क में फेंक दिया था। इस मामले में क्राइम ब्रांच व थाना पुलिस की टीमें लगातार आरोपी की तलाश में जुटी हुई थी। क्राइम ब्रांच की टीम ने सीसीटीवी फुटेज, गुप्त सूत्रों, तकनीकी सहायता तथा आसपास के लोगों के साथ की गई पूछताछ के आधार पर वारदात में शामिल आरोपी मनोज को सनौली बॉर्डर नेपाल से गिरफ्तार कर फरीदाबाद लाया गया था, जिसे अदालत में पेश कर 4 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया था। पुलिस पूछताछ के दौरान सामने आया कि आरोपी ने महिला की हत्या करने से पहले महिला के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया था  अरोपी ने सेक्टर 7 पार्क के पास अप्राकृतिक संबंध बनाने की कोशिश की परंतु महिला द्वारा विरोध करने पर आरोपी ने उसका सर दीवार से दे मारा और कपड़े से उसका गला घोट दिया।

आरोपी को डर था कि कहीं महिला जिंदा बच गई तो वह पुलिस के पास जाएगी और पुलिस उसे गिरफ्तार करके जेल भेज देगी। आरोपी ने पार्क मे पड़ा पाईप  उठाया और गुस्से में पीड़िता के गुप्तांग में घुसा दिया। पुलिस रिमांड के दौरान आरोपी की निशानदेही पर क्राइम ब्रांच की टीम ने वारदात के समय पहना हुआ आरोपी का जैकेट सेक्टर 12 से बरामद किया। रिमांड पूरा होने पर पुलिस द्वारा आरोपी का मेडिकल करवाने के पश्चात उसे अदालत में दोबारा पेश करके जेल भेज दिया गया है। पुलिस आयुक्त ने मामले में त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए हैं जिसके तहत अदालत में जल्द ही मामले का चालान पेश करके आरोपी को सख्त से सख्त सजा दिलवाई जाएगी।