Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

Search This Blog

Recent PostAll the recent news you need to know

कोरोनाकाल में कुशल नेतृत्व- पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह कोरोना वॉरियर्स अवार्ड से सम्मानित

 Faridabad- Police-Commissioner-OP-Sing- honored with-Corona-Warriors-Award
फरीदाबाद: कोरोना महामारी के दौरान पुलिस आयुक्त  ओपी सिंह के कुशल नेतृत्व में फरीदाबाद पुलिस द्वारा किए गए बेहतरीन कार्यों के लिए शिव युवा शक्ति संगठन ने ओपी सिंह को कोरोना वॉरियर्स अवार्ड से सम्मानित किया है। उन्हें सम्मानित करने के लिए शिव युवा शक्ति संगठन के प्रधान दीपक कुमार, दिनेश शर्मा तथा योगेंद्र नारायण पुलिस आयुक्त कार्यालय सेक्टर 21C पहुंचे। संगठन के प्रधान श्री दीपक कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान पुलिस प्रशासन द्वारा किए गए बेहतरीन कार्यों ने सभी लोगों का दिल जीत लिया है और यह सब माननीय पुलिस आयुक्त के प्रयासों से ही संभव हो पाया है।

पुलिस आयुक्त  ओपी सिंह में संगठन के सभी सदस्यों का धन्यवाद करते हुए कहा कि फरीदाबाद के नागरिकों के मन में पुलिस प्रशासन के प्रति सम्मान और कानून के प्रति विश्वास ही उनके लिए सबसे बड़ी पूंजी है।  कोरोना महामारी पर नियंत्रण नागरिकों के सहयोग की बदौलत ही संभव हो पाया है जिसके लिए वह फरीदाबाद के सभी नागरिकों का धन्यवाद करते हैं। नागरिकों की सुरक्षा करना पुलिस प्रशासन का पहला कर्तव्य है जिसे पूरा करने के लिए फरीदाबाद का हर एक पुलिसकर्मी सदैव तत्पर है और किसी भी प्रकार से लोगों की मदद करने के लिए हमेशा अग्रणीय रहता है।

CP OP सिंह ने पुलिस प्रशासन के कार्यों में इसी प्रकार सहयोग करते रहने अपील करते हुए कहा कि कोरोना का डर अभी कम हुआ है लेकिन जब तक यह पूरी तरह खत्म नहीं हो जाता नागरिकों से अपील है कि वह स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन अवश्य करें तथा बिना वजह भीड़भाड़ वाले स्थानों पर न जाएं। मास्क लगाएं, बार-बार हाथ धोएं और दो 2 गज की दूरी बनाए रखें.


फरीदाबाद के नगर निगम में 24 नए गांव शामिल, ऑनलाइन रिकार्ड के लिए अधिकारियों की बैठक

 फरीदाबाद, 26 जुलाई। नगर निगम आयुक्त डॉ गरिमा मित्तल ने कहा कि सरकार द्वारा जारी नोटिफिकेशन के अनुसार जिला फरीदाबाद के नगर निगम में 24 नए गांव शामिल किए गए हैं। इन गांवों मे कुल कितनी भूमि है। कितने रास्ते हैं और किस भूमि पर क्या निर्माण किया गया है। इसका पूरा रिकॉर्ड ऑनलाइन  करना सुनिश्चित करें।

 नगर निगम आयुक्त डॉ गरिमा मित्तल आज लघु सचिवालय में आयोजित बैठक में प्रशासिक तथा विभिन्न विभागों के अधिकारियों यह दिशा निर्देश दे रही थी।  उन्होंने प्रशासनिक, जिला विकास एवं पंचायत विभाग सहित बैठक से संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए कहा कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार जो 24 गांव एमसीएफ में शामिल किए गए हैं। उन गांवों में लगे चौकीदार, सफाई कर्मचारी और ट्यूबबैल ऑपरेटर तथा अन्य कर्मचारियों को सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार उन्हें एमसीएफ में समायोजित किया जाना है। इसलिए यह रिकॉर्ड पूरा करना सुनिश्चित करें।  एमसीएफ कमिश्नर डॉ गरिमा मित्तल ने कहा कि इसके अलावा सरकार द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार इन गांवों का नगर निगम में परिसीमन करके उन्हें वार्ड बंदी में शामिल किया जाएगा। इसके लिए सभी गांव के परिवारों का पूरा विवरण ऑनलाइन किया जाना सुनिश्चित करें। इसमें सामान्य वर्ग जनसंख्या, पिछड़ा वर्ग जनसंख्या और अनुसूचित जाति जनसंख्या का पूरा विवरण गांव वाइज अलग-अलग ऑनलाइन करना सुनिश्चित करें। उन्होंने निर्देश दिए कि इस कार्य के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को अपनी टीमें लगाकर घर-घर जाकर सर्वे करवाना होगा और वह सर्वे सरकार द्वारा जारी हिदादातों के अनुसार ऑनलाइन करना होगा। इसके अलावा बैठक में नगर निगम में शामिल किए गए 24 गांवों में एमसीएफ का परिसीमन करना और पूर्ण रुप से वार्ड बंदी में शामिल करना तथा गांव की मूलभूत समस्याओं पानी की निकासी, पेयजल सप्लाई, सड़क, सीवर व बिजली, स्ट्रीट लाइट तथा अन्य मूलभूत सुविधाओं बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा की गई।

गौरतलब है कि सरकार द्वारा जारी नोटिफिकेशन के अनुसार जिला फरीदाबाद के 24 गांव को नगर निगम में शामिल किया गया है। इनमें से 5 गांव बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के, 12 गांव फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र के और 7 गांव तिगांव विधानसभा क्षेत्र के से संबंधित हैं। इनमें बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के गांव चंदावली मच्छगर, मलेरणा, सोतई व साहूपुरा है। फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र के बदौली, प्रहलादपुर मजरा बदौली, भूपानी, खेड़ी कलां, खेड़ी खुर्द, नाचौली, पलवली, बादशाहपुर, रिवाजपुर, टीकावली व तिलपत है। जबकि तिगांव विधानसभा क्षेत्र के फरीदपुर, मिर्जापुर, मुजेड़ी, नवादा तिगांव, नीमका, छज्जूपुर मजरा नीमका व बिंदापुर बेचिराग गांव शामिल है।

 बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राकेश कुमार, जिला राजस्व अधिकारी विजय यादव, जिला नगर योजना अधिकारी धर्मपाल, एमसीएफ के सचिव अनिल कुमार, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी प्रदीप कुमार,  चुनाव तहसीलदार दिनेश कुमार,श सहित बैठक में बैठक से जुड़े अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

मत्स्य पालन के लिए अनुसूचित जाति परिवारों को दिया जाएगा अनुदान : उपायुक्त यशपाल

फरीदाबाद, 26 जुलाई। उपायुक्त यशपाल ने बताया कि मत्स्य पालन विभाग द्वारा अनुसूचितजाति के व्यक्तियों के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है। इन योजनाओं के तहत अनुदान प्रदान किया जाता है।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि अनुसूचित जाति के परिवारों के कल्याण के लिए मत्स्य पालन क्षेत्र में वर्ष 2021-22 के अन्तर्गत विभिन्न योजनाओं के तहत अनुदान प्रदान किया जायेगा। उन्होंने बताया कि मस्त्य विभाग के माध्यम से इन परिवारों को दस दिवसीय प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है, जिसके अंतर्गत एक सौ रुपये प्रतिदिन व एक सौ रुपये प्रति व्यक्ति आने-जाने का किराया प्रदान किया जाता है। मछली पालन के लिए पट्टïा राशि पर अनुदान के तहत विभाग द्वारा प्रत्येक लाभार्थी को 50 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर अथवा पट्टïे की वास्तविक राशि का 50 प्रतिशत (जो भी कम हो) अनुदान के रूप में प्रदान किया जायेगा। यह राशि केवल प्रथम वर्ष की पट्टïा राशि पर दी जायेगी तथा अनुदान की अधिकतम सीमा दो लाख रुपये होगी।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि विभाग द्वारा मछली पकडऩे के ठेके पर अनुदान के तहत जिला के अधिसूचित पानी (नदी, नहरें तथा डे्रन) में मछली पकडऩे के अधिकार की नीलामी प्रतिवर्ष की जाती है। अधिसूचित पानी में मछली पकडऩे के अधिकारों की प्राप्ति पर अनुसूचितजाति के व्यक्ति को स्वीकृत बोली का 25 प्रतिशत की दर से वित्तीय सहायता मिलेगी, जिसकी अधिकतम सीमा 4 लाख रुपये है। खाद-खुराक पर अनुदान के तहत मत्स्य पालक को पेलेटेड फीड के उपयोग पर 90 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान प्रदान किया जाता है, जिसकी अधिकतम सीमा एक लाख 80 हजार रुपये है।

उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा तालाब सुधार और जाल खरीद पर अनुदान के तहत 30 प्रतिशत अनुसूचितजाति जनसंख्या से संबंधित गांवों की ग्राम पंचायतों को विभाग द्वारा पंचायती भूमि पर तालाब सुधार का कार्य 50 प्रतिशत की दर से करवाया जायेगा। मछली पकडऩे व पालन के लिए जाल खरीद पर 15 हजार रुपये प्रति व्यक्ति जाल खरीद पर 50 प्रतिशत अनुदान की व्यवस्था है। दुकान किराये पर लेने के लिए भी इन परिवारों को अनुदान दिया जाता है। इसके अंतर्गत मछली मंडियों में स्थापित दुकानों पर तथा निजी दुकान किराये पर लेने के लिए 50 प्रतिशत की दर से 5 हजार रुपये प्रतिमाह थोक दुकान पर एवं 3 हजार रुपये प्रतिमाह परचून बिक्री दुकान पर अनुदान प्रदान किया जायेगा।

अपने ही पैर पर गोली मार बैठा हवाबाज शाहरुख, शकील, वसीम को भी फरीदाबाद पुलिस ने दबोचा 

 फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह द्वारा अपराधियों पर नकेल कसकर अपराध की वारदातों पर लगाम लगाने की दिशा निर्देशों के तहत कार्य करते हुए चावला कालोनी पुलिस चौकी टीम ने अवैध हथियार रखने वाले तीन आरोपी भाइयों को गिरफ्तार किया है।  गिरफ्तार किए गए आरोपियों में शाहरुख, वसीम तथा शकील का नाम शामिल है जो बल्लभगढ़ की भगत सिंह कॉलोनी के रहने वाले हैं। 

पूछताछ में सामने आया कि कुछ दिन पहले आरोपी वसीम की हलवाई की दुकान पर किसी के साथ लड़ाई हो गई थी जिसमें  प्रदीप नामक व्यक्ति ने बीच बचाव करवाया जिसमें आरोपी वसीम की प्रदीप के साथ कहासुनी हो गई जिसकी वजह से वह आरोपी प्रदीप के साथ रंजिश रखने लगा। आरोपी वसीम ने यह बात अपने भाई इस वारदात के मुख्य आरोपी शाहरुख को बताई। आरोपी शाहरुख ने तैश में आकर बदले की भावना से प्रदीप को सबक सिखाने की ठान ली।

आरोपियों को सूचना मिली कि प्रदीप रणजीत सिंह मार्केट में किसी मोबाइल की दुकान पर बैठा है। इसके पश्चात आरोपी शाहरुख अपने भाई वसीम और शकील के साथ रणजीत सिंह मार्केट में मोबाइल की दुकान पर आता है और अपनी जेब से पिस्टल निकालकर प्रदीप के उपर तान देता है। इसे देखकर मौके पर काफी भीड़ इकट्ठी हो गई तो आरोपी ने पिस्तौल को छुपाने के उद्देश्य से उसे अपने पेंट की जेब में डाल लिया। वहां पर मौजूद व्यक्तियों में से किसी एक ने पुलिस को सूचित कर दिया जिस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस चौकी चावला कॉलोनी की टीम मौके पर पहुंच गई।

आरोपी शाहरुख ने भागने के इरादे से अपनी जेब में हाथ डाला और पिस्टल निकालने की कोशिश की जिसमें पिस्टल निकालते समय उससे पिस्टल का ट्रिगर दब गया और गोली चल गई जो आरोपी के बाएं पैर के टखने के थोड़ी ऊपर पिंडली में जाकर लगी और आरोपी घायल हो गया।

पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें अवैध पिस्टल सहित गिरफ्तार कर लिया और उनके खिलाफ थाना शहर बल्लभगढ़ में हत्या की कोशिश तथा अवैध हथियार अधिनियम की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। आरोपियों के कब्जे से एक देसी पिस्टल, चार जिंदा कारतूस तथा एक खाली खोल बरामद किया गया है। आरोपी शाहरुख को अस्पताल में पुलिस बल की निगरानी में भर्ती करा दिया गया है और उसके ठीक होने पर पिस्टल की जानकारी ली जाएगी। पुलिस द्वारा अन्य दोनों आरोपियों आरोपियों को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है।

NH-5 फरीदाबाद में सरकारी जमीन पर करोड़ों का खेल, कैलाश बैसला ने लिखा CM को पत्र


फरीदाबाद- शहर के पांच नंबर में बन रही एक इमारत हाल में सुर्ख़ियों में आई थी। कहा जा रहा था कि ये इमारत अवैध रूप से बनाई जा रही है जिसमे लगभग तीन दर्जन दुकानें बन रहीं हैं। स्थानीय एसडीओ से बात की गई तो उन्होंने बताया कि अगर इस इमारत में दुकानें बनीं तो उसे तोड़ दिया जाएगा। अब यह मामला सीएम दरबार पहुँच गया है। पूर्व पार्षद कैलाश बैसला ने सीएम विंडो पर इसकी शिकायत की है। 

पूर्व पार्षद कैलाश बैसला ने लिखा है कि एनआईटी-5 नेशन हट के पास का प्लाट नंबर NH-83का आधा हिस्सा पुनर्वास विभाग और आधा हिस्सा हरियाणा सरकार का है। इस सरकारी और कुछ रजिस्ट्री वाली जमीन पर अवैध रूप से कामर्शियल बिल्डिंग का निर्माण कर दिया गया है। निर्माण करने वालों ने न तो सरकारी जमीन के पैसे सरकारी खजाने में जमा करवाए हैं न ही कामर्शियल बिल्डिंग बनाने के लिए उसका सीएलयू करवाया है। उन्होंने लिखा है कि निर्माणकर्ता ने सरकारी खजाने को नुक्सान पहुंचाकर सरकारी जमीन पर कब्ज़ा कर उस जगह अवैध रूप से 32 दुकानें बना दी गईं हैं और सरकार को करोड़ों रूपये के राजस्व को चूना लगाया गया है। 

कैलाश बैसला ने मांग की है कि सरकारी जमीन पर और कुछ अवैध रजिस्ट्री वाली जमीन पर अवैध रूप से कामर्शियल बिल्डिंग बनाने वालों पर कार्यवाही की जाए। 



ट्विटर पर तस्वीर पोस्ट की प्रकृति की तारीफ, 30 मिनट बाद ही बरसे पत्थर, गई जान

 

नई दिल्ली- हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में रविवार को भूस्खलन की कई घटनाओं में 9 लोगों की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए। इन्ही मृतकों में जयपुर की रहने वाली डाक्टर दीपा शर्मा भी शामिल है। 34 वर्षीय दीपा ने रविवार को दोपहर 12 बजकर 59 मिनट पर हिमाचल के नागास्टी पोस्ट से अपनी एक तस्वीर ट्वीट की और आधा घंटा भी नहीं गुजरा था कि दोपहर 1 बजकर 25 मिनट पर हिमाचल में भू-स्खलन की खबर आई।

 इस हादसे में नौ लोगों की मौत हुई, जिनमें से एक दीपा शर्मा भी थीं। ट्विटर पर तस्वीर पोस्ट करने के तुरंत बाद लोग उनके द्वारा खींची तस्वीर की तारीफ़ कर रहे थे लेकिन अचानक ही उनके निधन की खबर आई तो उनके फैन कहने लगे की जिंदगी का कोई पता नहीं और लोग उन्हें श्रद्धांजलि देने लगे। 24 जुलाई को भी उन्होंने कुछ तस्वीरें पोस्ट के थीं। 


भोजपुरी और पूर्वांचली संगठनों ने पूर्व मंत्री विपुल गोयल को सौंपा भोजपुरी से अश्लीलता दूर कराने की कमान

 
फरीदाबाद की अग्रणी भोजपुरी एवं पूर्वांचली संगठनों के प्रतिनिधियों ने सुप्रसिद्ध उद्योगपति पं. ओ पी पाण्डेय के सेक्टर 15 स्थित आवास पर एक अहम बैठक का आयोजन किया। आपको बता दें इस बैठक का मुख्य उद्देश्य हाल के वर्षों में सिनेमा जगत में भोजपुरी में फूहड़पन तथा अश्लीलता परोसे जाने पर सभी लोगों ने चिंता व्यक्त की और एक मत से सभी ने समाज् से इस बुराई को खत्म के लिए फैसला किया, जिसके लिए बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारियों ने एक ज्ञापन हरियाणा सरकार के पूर्व मंत्री विपुल् गोयल को सौंपा और समाज ने आग्रह करते हुए भोजपुरी आन्दोलन की कमान  सम्भालने का आग्रह पत्र भी प्रदान किया।

 इससे पहले समाज् के वरिष्ठ पदाधिकारियो द्वारा पूर्व मंत्री विपुल गोयल का फूल मालाओं, गुलदस्ता और  शाल से भव्य स्वागत किया गया ।

इस अवसर पर् श्रीः गोयल ने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि इतनी गौरवशाली भाषा एवं उससे जुड़े लोगों की सेवा करने का अवसर मुझे प्राप्त हुआ है। विपुल गोयल ने सबको विश्वास दिलाते हुए कहा कि भोजपुरी में फूहड़पन तथा अश्लीलता परोसने वाले कलाकारों, रचनाकारों तथा चैनलों पर प्रभावकारी रोक लगाकर बीस करोड़ भोजपुरी प्रेमियों की अभिलाषा को पूर्ण करने का पुनीत कार्य करने का जो जिम्मा उन्हें सौंपा है, आप सबके सहयोग से वो अवश्य पुरा होगा और भोजपुरी समाज की जीत होगी। पूर्व मंत्री ने कहा कि भोजपुरी समाज की छवि धूमिल करने वाले न सिर्फ समाज के लिए दीमक का काम कर रहे है बल्कि अन्य नौजवानो का भविष्य भी गर्त में ले जाने का काम् कर रहे है, इसलिए ऐसे दीमक को जड़ से खत्म किया जाएगा।

इससे पहले कार्यक्रम के संयोजक डॉ. आर एन सिंह ने कार्यक्रम के आरम्भ में कहा कि  हाल के वर्षों में कुछ कुंठ मानसिकता के लोगों ने निजी स्वार्थ की सिद्धि के लिए चौतरफा विकृतियाँ लाने का काम किया है। नौजवान पढ़े लिखें युवक- युवतियो को लालच देकर् न सिर्फ उनका जीवन बर्बाद कर रहे है बल्कि समाज पर भी फूहड़पन तथा अश्लीलता का कलंक लगाने का काम कर रहे हैं इसलिए  ऐसे कलाकारों, रचनाकारों तथा उन्हें प्रोत्साहित करने वाले विभिन्न प्रकार के चैनलों पर सख्त पाबंदी लगाना नितान्त आवश्यक है।

भोजपुरी अवधी समाज के चेयरमैन पं. रमा कान्त तिवारी ने कहा कि भोजपुरी महज़ एक भाषा नहीं अपितु भारत के मूल संस्कृति की अनमोल धरोहर है। भोजपुरी तथा भोजपुरिया जगत का गौरवपूर्ण इतिहास मानव संस्कृति के लिए प्रेरणा का अभूतपूर्व स्रोत है, स्वार्थी एवं अवसरवादी लोगों से भोजपुरी को महफ़ूज रखना होगा।

भोजपुरी समाज के प्रमुख संरक्षक पं. ओ पी पाण्डेय ने कहा कि वर्तमान परिवेश में भोजपुरी को संरक्षित एवं संवर्धित करने के साथ हीं निजी स्वार्थ के लिए इसे फूहड़ एवं अश्लील बनाने वाले लोगों का सामाजिक बहिष्कार करने के साथ हीं वैधानिक एवं प्रशासनिक कदम उठाने की आवश्यकता है और यह कार्य माननीय विपुल गोयल जी के नेतृत्व में  हरियाणा प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री, माननीय केन्द्रीय कला एवं संस्कृति मंत्री तथा माननीय केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री सहित सम्बंधित उच्च पदस्थ पदाधिकारियों तक भोजपुरी प्रेमियों की आवाज उठाया जाए यह हम सबकी इच्छा है। सभी संगठनों के पदाधिकारियों ने कर ध्वनि से इस प्रस्ताव का समर्थन किया।

मित्रों का फ़ायदा विरोधियों की जासूसी- आम के आम गुठलियों के दाम- राहुल गांधी


नई दिल्ली- कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार सरकार को जासूसी मुद्दे पर घेर रहे हैं। यही नहीं देश भर में कांग्रेस के तमाम नेता कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे  हैं। युवा कांग्रेस के कार्यकर्ता इस मामले पर देश के तमाम राज्यों में रोजाना प्रदर्शन कर रहे हैं। अब राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा है कि मित्रों का फ़ायदा
विरोधियों की जासूसी-

आम के आम गुठलियों के दाम!

केजरीवाल 200 यूनिट फ्री बिजली दे सकते हैं, तो हरियाणा सरकार क्यों नहीं- भड़ाना

 

फरीदाबाद, 25 जुलाई। दिन-प्रतिदिन बढ़ रही बिजली की किल्लत एवं अनाप-शनाप भेेजे जा रहे बिजली बिलों को लेकर आम आदमी पार्टी हरियाणा के सह प्रभारी एवं राज्यसभा सांसद डॉ. सुशील गुप्ता के नेतृत्व में प्रदेश की सभी 90 विधानसभाओं में प्रदर्शन करेगी और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा। आम आदमी पार्टी प्रदेश की खट्टर सरकार से दिल्ली की तर्ज पर लोगों को बिजली की 200 यूनिट फ्री करने एवं 24 घंटे बिजली मुहैया कराने की मांगकरेगी। इसी को लेकर रविवार को आम आदमी पार्टी जिला कार्यकारिणी की दूसरी मीटिंग आयोजित की गई। जिसमें पार्टी पदाधिकारी सुनील ग्रोवर का बीमारी के बाद वापसी करने कर स्वागत किया गया। इस मौके पर सुनील ग्रोवर ने पार्टी की मजबूती को लेकर अपने विचार रखे, जिन पर सभी सदस्यों ने सहमति प्रकट की। मीटिंग की अध्यक्षता कर रहे धर्मबीर भड़ाना ने कहा कि सभी विधानसभाओं में कार्यकर्ताओं की ड्यूटियां लगा दी गई है। आगामी 23 जुलाई को पूरे प्रदेश में प्रदर्शन किए जाएंगे और बिजली बिलों के नाम पर मचाई जा रहीलूट को बंद करने का आह्वान किया जाएगा।

 उन्होंने कहा कि जब दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल 200 यूनिट फ्री बिजली दे सकते हैं, तो हरियाणा सरकार क्यों नहीं दे सकती। क्योंकि मुख्यमंत्री मनोहरलाल की नीयत नहीं है, लोगों को लाभ हो, इसलिए सुविधाओं के अभाव में भी प्रदेश के लोगों की जेबों पर डाका डाला जा रहा है। बिजली अधिकारी व कर्मचारी फोन नहीं उठाते, अघोषित बिजली कट लगते हैं, गर्मी में लोगो को बुरा हाल है, ऊपर से बिजली विभाग की छापेमारी ने लोगों का दम निकाल दिया है। भड़ाना ने कहा कि अगर हरियाणा सरकार दिल्ली की तर्ज पर लोगों को बिजली मुहैया कराए तो, लोगों को बिजली चोरी करने की जरूरत ही क्या। बैठक में जिला सचिव भीम यादव, साउथ जोन व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष अमन गोयल, बडख़ल विधानसभा अध्यक्ष तेजवंत सिंह बिट्टू, एनआईटी विधानसभा अध्यक्ष संतोष यादव, डी एस चावला, मनीष भाटिया, हरिदत्त शर्मा, रघुवर दयाल, विनोद हरसाना, केशराम हरसाना, विनय यादव, राणा प्रताप, रितु कौर, समीर गुप्ता, संदीप कुमार, हैप्पी सिंह, प्रदीप राजपूत, रणधीर भड़ाना, विनोद भड़ाना, श्यामबीर भड़ाना, मनोज कुशवाहा, नरेश भड़ाना, जित्ते भड़ाना आदि मौजूद रहे।

कांवड़ यात्रा पर न जाएँ वरना उत्तराखंड सरकार आप पर केस दर्ज कर लेगी- CP, Faridabad

 

फरीदाबाद:- कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी लहर अभी तक पूरी तरह समाप्त नहीं हुई है। ऐसे में भीड़भाड़ वाले तीर्थस्थलों पर भक्तों की आवाजाही को नियंत्रति कर महामारी की रोकथाम करने के लिए उतराखण्ड सरकार और प्राशासनिक प्रमुखों की ओर से दिशा-निर्देश जारी करते हुए इस वर्ष की काँवड़ यात्रा पर रोक लगा दी गई है। 

उत्तराखंड पुलिस एव प्रशासन द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक उत्तराखंड सरकार ने वैश्विक महामारी कोविड-19 के दृष्टिगत फैसला लिया है कि इस वर्ष सावन मास में होने वाली काँवड़ यात्रा आयोजित नहीं की जाएगी। शिव भक्तों को अपनी एवं अपनों की जान की परवाह करते हुए सरकार द्वारा लिए गए निर्णय का पालन करना चाहिए। इस बार पैदल काँवड़ यात्रा एवं डाक काँवड़ यात्रा पर रोक लगा दी गई है। व्यावसायिक वाहन मालिकों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह किसी भी तरह का वाहन तीर्थयात्रा अथवा काँवड़ यात्रा के लिए उपलब्ध नहीं कराएंगे।

अगर कोई भी व्यक्ति सरकार के द्वारा जारी किए गए निर्देशों की अवहेलना करता है तो उत्तराखंड सरकार उसको क्वॉरेंटाइन करने के साथ-साथ उसके विरूद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करेगी।उत्तराखंड पुलिस प्रशासन द्वारा कावड़ यात्रा रद्द करने की फैसले के बारे में पुलिस मुख्यालय पंचकूला से जारी आदेश पर श्री ओ पी सिंह पुलिस आयुक्त महोदय ने डीसीपी ट्रैफिक सहित  सभी जोनल डीसीपी,  एसीपी, थाना व चौकी प्रभारी को उनके क्षेत्र के काँवड़ यात्री / श्रद्धालुओं को  कावड़ यात्रा रद्द होने बारे अवगत/ जागरुक करने के दिशा-निर्देश दिए गए हैं।