Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

हाथरस कांड- गैंगरेप नहीं मर्डर? 3 साल से थी मृतक युवती की एक आरोपी की मित्रता?

Hathras-Case-Latest-Update
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

नई दिल्ली- कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी हाथरस पहुँच गए हैं  लेकिन अब यहाँ से कांग्रेस को कुछ खास नहीं मिलेगा। फजीहत संभव है क्यू कि हाथरस के बड़े अधिकारी बता चुके है कि पीड़िता के साथ रेप या गैंगरेप हुआ ही नहीं था और पीड़िता की माँ का वीडियो वायरल हुआ जिसमे उसकी माँ ने भी कुछ ऐसा नहीं बताया कि देखें
युवती की मौत हुई है इससे भी इंकार नहीं किया जा सकता और रातोंरात उसके शव का अंतिम संस्कार किया गया ये भी गलत था। और यही कारण है कि कई बड़े अधिकारियों और पुलिसवालों पर कल गाज गिर गई। उन्होंने गलत किया था। हद से ज्यादा चाटुकारी दिखाई थी। हाथरस को किले में तब्दील कर दिया गया था जबकि मीडिया अगर वहाँ पहुँचती तो सब एकतरफा नहीं दिखाते। दुसरे पक्ष का भी बयान लिया जाता लेकिन मीडिया को बैन कर दिया गया था ,जब चाटुकार अधिकारियों पर गाज गिरी तो आनन् फानन में आज मीडिया पर से प्रतिबन्ध हटा दिया गया।

वहां कई तरह की मीडिया मौजूद है। टुकड़े गैंग वालों की समर्थक मीडिया कुछ अलग दिखाने का प्रयास करेगी। भाजपा समर्थक मीडिया अलग और अन्य पार्टियों की समर्थक मीडिया कुछ अलग दिखेगी। कुछ मीडिया वालो के आडियो वायरल हो रहे हैं जो पीड़िता के परिवार से कह रहे हैं कि 25 नहीं 50 लाख मांगो। कुछ परिवार को अलग तरह से समझकर उनका बयान ले रहे हैं। सब अपना काम अपने तरीके से और अपने-अपने बॉस के लिए कर रहे हैं। कोई सच दिखा रहा है तो कोई सच दबा रहा है। नेता अपनी राजनीति चमकाने वहाँ पहुँच रहे हैं तो कुछ मीडिया चैनल वाले टीआरपी के चक्कर में वहां पहुंचे हैं। ये वीडियो देखें
पीड़िता के परिजनों ने मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग नहीं की लेकिन मीडिया के लोग अपने आप उन्हें उकसा रहे हैं। ऐसे कई वीडियो सामने आये हैं। अब मीडिया वहां पहुँची है लेकिन उसके पहले गांव के लोगों ने ही कुछ सन्देश मीडिया के पास भेजे हैं। कल गांव में प्रवेश वर्जित था ,इस दौरान वहां के लोगों ने कुछ लिखकर अपने जान पहचान वालों को भेजा जो अब वायरल हो रहा है। ये वायरल सन्देश हरियाणा अब तक के पास भी आया है। हम इसकी पुष्टि नहीं कर रहे हैं क्यू कि एसआईटी मामले की जांच कर रही है और सच जल्द सामने आएगा लेकिन ये सन्देश आप भी पढ़ें। अगर ये सन्देश गलत है तो सन्देश लिखने वाला और वायरल करने वाला भी गुनहगार है। आपको फिर बता दें कि हाथरस के बड़े अधिकारी बोल चुके हैं कि युवती से रेप नहीं किया गया। इसलिए ये सन्देश आप तक पहुंचाना जरूरी है। माँ का बयान आप ऊपर देख ही चुके होंगे। संदीप नाम का युवक इस मामले में आरोपी बताया जा  रहा है जो उसी गांव था  था जैसे की पीड़िता की माँ और खुद पीड़िता ने भी उस समय बताया था। अब पीड़िता इस दुनिया में नहीं रही। पढ़ें उस गांव से आया सन्देश 

बूलगढ़ी, हाथरस कथित बलात्कार प्रकरण में उसी गांव के लोगों द्वारा भेजे गए सन्देश की मानें तो मृतक युवती और एक आरोपी की तीन साल से मित्रता थी। मामले के तीन दिन पहले लड़की के भाई ने दोनों को एक साथ देख लिया था और लड़की की बुरी तरह से पिटाई की थी। लड़की का गला दबाया, लड़की को जमीन पर फेंक दिया। खेत में लगी तारों में लड़की का मुंह लगा, जिससे लड़की कि जबान  चोटिल हुई कटी नहीं।  क्योंकि प्राप्त वीडियो में लड़की बयान दे रही है , इससे सिद्ध होता है लड़की की जबान चोटिल हुई थी कटी नहीं थी।

जब लड़की को लड़की के भाई ने जमीन पर पटक दिया उसकी कमर में लाते मारी, जिस कारण लड़की की रीढ़ की हड्डी चोटिल हुई , गरदन पर लात मारी, गर्दन भी चोटिल हुई। इस केस में अन्य तीन लड़कों का नाम घसीट कर इस केस को एक पक्ष ने और कमजोर कर दिया है,  क्योंकि उन तीन की लोकेशन जब तफ्तीश में जांच में अन्यत्र कहीं और प्राप्त होगी तो केस अपने आप में ही  धड़ाम हो जाएगा। यह केस ना बलात्कार का है ना मर्डर का है कार्यवाही लड़की के भाई पर होनी चाहिए।
ये था उस गांव से आया सन्देश, संभव नहीं ये सच ही हो। हो सकता है आरोपियों को बचाने का प्रयास किया जा रहा हो। पीड़िता की मौत हुई है और मामले की अच्छी तरह से जांच होनी चाहिए ताकि गुनहगार को सजा मिले। वो कोई भी हो। 

फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

India News

Post A Comment:

0 comments: