Info Link Ad

Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

बड़े पुलिस अधिकारी की जेब भर फेरस के ठगों ने लगाया फरीदाबाद के निवेशकों को 100 करोड़ का चूना 

Big-Fraud-in-Faridabad-By-Ferrous
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)

फरीदाबाद: शहर में 5-7 वर्षों के दौरान कई बड़े अपराध हुए हैं, कई बड़ी लूट और ठगी हुई है लेकिन फरीदाबाद पुलिस ने अधिक समय तक हत्यारों, लुटेरों ठगों को चैन की सांस नहीं लेने दिया। अधिकतर मामले फटाफट सुलझा लिए गए। एक बड़े ठग को भी नीमका जेल भेज दिया गया जिसके पास से हाल में जेल में मोबाईल बरामद हुआ जिसे कई हजार करोड़ का गड़बड़झाला किया था और शहर के हजारों लोगों को चूना लगाया था। शहर में अच्छे पुलिस अधिकारी आते हैं तो बदमाश या ठग कितना भी बड़ा हो वो नीमका पहुँच जाता है। जिस ठग के पास हाल में मोबाइल बरामद हुआ था वो काफी समय से इसलिए बच रहा था क्यू कि उसे कुछ नेता और कुछ पुलिस अधिकारी बचा रहे थे। उसका कवच बने हुए थे लेकिन वक्त बदला और उसे गिरफ्तार कर नीमका जेल में ठूंस दिया गया। हरियाणा अब तक को शहर में हुई एक और बड़ी ठगी की जानकारी लगभग एक हफ्ते पहले मिली ,जानकारी के मुताबिक़ गुड़गांव के गोल्फ कोर्स वाटिका टॉवर ब्लॉक तीन में प्रथम तल पर स्थित फेरस इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी के निदेशकों सुरेंद्र सेठ, आशीष सेठ, अमित सेठ ने शहर के कई भोले-भाले लोगों को अपने जाल में फंसकर 100 करोड़ रूपये से ज्यादा ठग लिया।

 हाल की खबरों में आपने  देखा होगा कि इन ठगों ने लोगों को कैसे ठगा। 2012 में ठगों ने अख़बारों में विज्ञापन निकलवाया। आईएमटी से लगती जमीन सेक्टर-70 में इन ठगों ने लोगों को  लग्जरी सुविधाएं जैसे पार्क, स्कूल, अस्पताल, शापिंग कांप्लेक्स, स्वीमिंग पूल आदि का सपना दिखाकर निवेशकों को प्लाट बेच दिया। लोगों से 85 फीसदी तक रकम की वसूली कर ली और इस दौरान वहां कुछ मजदूर लगा दिए कि सड़क सीवर का काम चल रहा है जल्द प्रोजेक्ट पूरा होगा। लोग पैसा जमा करते चले गए। आज 4 दिसंबर तक उस जमीन पर गड्ढे ही हैं। कोई ईमारत नहीं बनी। दोनों ठग सैकड़ों करोड़ ठग पर दिल्ली में मौज कर रहे हैं। बेचारे निवेशक खून के आंसूं रो रहे हैं। भगवान् से दुआ मांग रहे हैं कि भगवान फरीदाबाद में कोई अच्छे पुलिस अधिकारी को भेज दो जो हमारा दुःख दर्द समझ सके। निवेशकों का कहना है कि फरीदाबाद के कई थानों में क्राइम ब्रांच और साइबर सेल में एक से एक अच्छे पुलिस अधिकारी हैं और वो चाहें तो ठग सुरेंद्र सेठ और  आशीष सेठ को तुरंत दबोच सकते हैं लेकिन ऊपर का कोई पुलिस अधिकारी इन ठगों से मिला है और कई करोड़ रूपये खा चुका है इसलिए वो इन ठगों को बचा रहा है। 

निवेशकों का कहना है कि भूपानी थाने में इन ठगों पर कई मामले दर्ज हैं लेकिन वहां के कुछ पुलिसवालों से ये ठग मिले हुए हैं और पूंछतांछ के लिए दो बार ये ठग मीटिंग में आये और पुलिस अधिकारीयों के सामने ऐसे बैठे दिखे जैसे ये ससुराल में आये हुए हैं। एक बार एक निवेशक ने शहर के एक बड़े पुलिस अधिकारी के सामने कहा कि इन पर फ्राड के मामले दर्ज  हैं और आप इन्हे गिरफ्तार क्यू नहीं करवाती हैं , वो मैड़म उस समय डीसीपी क्राइम थीं  तो उन्होंने  कहा कि ऊपर से हमारे ऊपर कार्यवाही हो सकती है, हम इन्हे ऐसे गिरफ्तार नहीं कर सकते हैं। उस समय निवेशक को लगा कि इन ठगों ने किसी ऊपर वाले अधिकारी की जेब भर दी है इसलिए शहर के एसीपी और इंस्पेक्टर लेवल के अधिकारी इन पर कोई कार्यवाही नहीं कर सकते।

हरियाणा अब तक को आज इन ठगों की ठगी की कई जानकारियां मिलीं जिनमे कुछ लोगों ने बताया कि हमने अपनी जमीन जायदाद गिरवी रख या बैंक से लोन लेकर पैसा लिया और इन ठगों को दे दिया। हम अब भी बैंक को क़िस्त दे रहे हैं, ब्याज दे रहे हैं लेकिन जिस वक्त हम बैंक की खिड़की पर लोन की क़िस्त जमा करने जाते हैं उस वक्त हम खून के आंसूं रोते हैं क्यू कि इन ठगों ने हमारा पैसा ठग लिया जिसका भुगतान हमें करना पड़ रहा है और हमें मिला कुछ भी नहीं। अब निवेशक सीपी के खुले दरबार का इन्तजार कर रहे हैं और जब भी सीपी खुला दरबार लगाएंगे ये लोग उनसे फरियाद करने पहुंचेंगे। कुछ निवेशक गृह मंत्री अनिल विज से भी मिलने का प्रोग्राम बना रहे हैं।
हरियाणा अब तक आपको इन ठगों के बारे में आगे भी कई जानकारियां देगा क्यू कि इन्होने कई ऐसे लोगों को ठगा है जिनकी बेटी की शादी रुक गई , बच्चे की पढ़ाई अधूरी छुड़वा दी गई क्यू कि बैंक को क़िस्त देने के बाद निवेशकों के पास कुछ नहीं बचता है। ये फरीदाबाद की जनता के 100 से ढाई सौ करोड़ ठग जब तक दिल्ली में ऐश करते रहेंगे तब तक हमारा ठग दबोचो अभियान जारी रहेगा। निवेशकों को सिर्फ एक दबंग पुलिस अधिकारी की जरूरत है उसके बाद वो पुलिस अधिकारी सबका दुःख दर्द पल में दूर कर देगा। शायद यही वजह है कि निवेशक भगवान् से प्रार्थना कर रहे हैं कि फरीदाबाद को एक अच्छा पुलिस अधिकारी जल्द मिले।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: