Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

बहुत गड़बड़झाला हो रहा है, डंडा लेकर जल्द फरीदाबाद पहुंचें गब्बर- पाराशर 

LN-Parashar-to-anil-vij
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

चंडीगढ़/ फरीदाबाद: हरियाणा अब तक अपने पुराने पाठकों को कई बार दरोगा लोहा सिंह के बारे में बता चुका है। 1985-86 की बात है जब उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के एक थाने में लोहा सिंह की नियुक्ति हुई थी और तीन दिन के अंदर ही वो ऐसे सुर्ख़ियों में छा गए जैसे हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज आजकल सुर्ख़ियों में हैं। उस समय युवकों में एक ट्रेंड था कि शर्ट तो फुल बाजू की सिलवाते थे लेकिन दबंग युवक बाजू हमेशा मोड़कर रखते थे और उस समय बाइक का जमाना बहुत कम था। बड़े से बड़े परिवार से ताल्लुक रखने वाले युवक भी साइकिल से चलते थे लेकिन जो दबंग होते थे वो साइकिल का हैंडिल छोड़ और शर्ट का बाजू मोड़कर साइकिल चला अपनी दबंगई दिखाते थे। थाने में आते ही लोहा सिंह अगले दिन चौराहे पर खड़े हो गई और जिन युवकों को बाजू मोड़ साइकिल का हैंडिल छोड़ साइकिल चलाते देखा उनकी शर्ट की बाजू कैंची से काट दी गई और साईकिल का हैंडिल निकाल लिया गया। उसके बाद जिले के कई थानों में दरोगा लोहा सिंह की चर्चाएं शुरू हो गईं और क्षेत्र में लोग अपने बच्चो से कहने लगे कि बेटा बाजू मत मोड़ना और हैंडिल छोड़ साइकिल मत चलाना वरना दरोगा लोहा सिंह साईकिल की हैंडिल निकाल लेगा और शर्ट की बाजू काट लेगा। बात बड़ी नहीं थी लेकिन एक अच्छे अधिकारी के छोटे से काम से क्षेत्र में गलत लोगों के अंदर दहशत वैसी फ़ैल गई थी जैसे आजकल हरियाणा के गब्बर के नाम की दहशत कई जिलों में है। 

हरियाणा अब तक को अपने सूत्रों से पता चला है कि प्रदेश के कई जिलों के अधिकारी अब गृह मंत्री अनिल विज के अगले कदम पर निगाह रख रहे हैं। अधिकारी अपने अम्बाला के अधिकारी साथियों से पूंछ रहे हैं कि अनिल विज का आज का क्या कार्यक्रम है और वो किस जिले में जाने वाले हैं। ऐसा इसलिए कर रहे हैं ताकि वो सतर्क हो जाएँ और अगर विज उनके जिले में जाएँ तो कोई कमी न पाएं। अम्बाला के आस पास के जिलों के कई विभागों के दफ्तरों में सफाई अभियान चल रहा है। दफ्तर के आस पास के खाली शराब के पव्वे-अद्धे और बोतलों को दूर फेंक दिया गया है। अधिकारी रजिस्टर को मेनटेन कर रहे हैं। अनिल विज प्रदेश के गृह मंत्री हैं और वो किसी भी विभाग के दफ्तर में छापा मार सकते हैं ये बात सभी विभागों के अधिकारीयों को पता है। 
अनिल विज के नाम की दहशत अभी तक अम्बाला के आस पास के जिलों में ही ज्यादा है इसलिए तमाम जिलों से अब मांग उठ रही है कि गब्बर अब डंडा लेकर उन जिलों में भी पहुंचें। 

बार एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष और फरीदाबाद के वरिष्ठ अधिवक्ता एलएन पाराशर ने आज गृह मंत्री अनिल विज से अपील की कि वो अपना डंडा लेकर फरीदाबाद भी आएं। वकील पाराशर का कहना है कि सबसे ज्यादा गड़बड़झाला फरीदाबाद की तहसीलों में हो रहा है जहाँ फर्जी स्टाम्प और फर्जी जीपीए से रजिस्ट्री लगातार जारी है। शिकायत करने और सबूत देने पर भी रजिस्ट्री माफियाओं पर कार्यवाही नहीं हो रही है। पाराशर का कहना है कि लगभग डेढ़ साल से मैं इस गड़बड़झाले पर आवाज उठा रहा हूँ और कई सबूत भी दे चुका हूँ। एक पुराना वीडियो, खबर जारी है 

पाराशर ने कहा कि फरीदाबाद नगर निगम में भी कई तरह के गड़बड़झाले हो रहे हैं। बच्चा पैदा होने के पहले ही रिश्वत लेकर जन्म प्रमाणपत्र बना दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री अनिल विज को जल्द फरीदाबाद का दौरा करना चाहिए ताकि इस जिले में भी गलत तरह के काम बंद हो सकें। देखें तहसील का एक पुराना वीडियो 

फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Haryana News

Post A Comment:

0 comments: