Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

वो मेरी दोस्त थी, कभी बात तो कभी मुलाक़ात होती थी, उसे उसकी माँ और भाई ने मारा- संदीप की SP को चिट्ठी

Hathras-Case-Letter-to-SP
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

नई दिल्ली- हाथरस काण्ड में हर रोज नए मोड़ आ रहे हैं। एक दिन पहले खुलासा हुआ था कि पीड़िता के परिवार  और मुख्य आरोपी की फोन पर 100 बार से ज्यादा बात हुई थी जिसके बाद पीड़िता के परिवार ने ऐसे किसी बात से इंकार कर दिया। पीड़िता के भाई ने कहा कि जिस मोबाइल नंबर की बात की जा रही है, वो हमारा ही है।  हम उसका इस्तेमाल कई सालों से कर रहे हैं और यह नंबर घर पर रहता है ,उन्होंने कहा कि आरोपी हमारी जाति के नहीं हैं हम उनसे क्यू बात करेंगे। हां नंबर हमारा ही है और हमें रिकार्डिंग दिखाओ तब हमें पता चलेगा कि सच क्या है।

 भाई ने कहा कि हमारे परिवार के पास एक ही फोन है। अब इस मामले में नया मोड़ इसलिए आ गया है क्यू कि  आरोपियों ने जेल से पुलिस अधीक्षक  को चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में चारों आरोपियों ने कहा कि वह निर्दोष हैं।  घटना के मुख्य आरोपी संदीप ने दावा किया है कि पीड़िता के साथ उसकी दोस्ती थी, जिससे उसका परिवार नाराज था।  संदीप के मुताबिक, यह पूरा मामला ऑनर किलिंग का है। 

पुलिस अधीक्षक  को भेजे गए चिट्ठी में संदीप ने कहा कि पीड़िता के साथ मेरी दोस्ती थी।  मुलाकात के साथ मेरी कभी-कभी उससे फोन पर बात हो जाती थी।  मेरी यह दोस्ती उसके घर वालों को पसंद न थी।  घटना के दिन पीड़िता ने मुझे मिलने के लिए खेत में बुलाया था, जब मैं वहां गया तो पीड़िता के साथ उसकी मां और भाई मौजूद थे। 

अपने चिट्ठी में आरोपी संदीप ने कहा कि पीड़िता के कहने पर मैं अपने घर चला गया।  अपने पिता के साथ पशुओं को पानी पिला रहा था, तभी मुझे खबर मिली कि पीड़िता की मां और उसके भाई ने पिटाई की है। उसे गंभीर चोट आई थी. बाद में उसकी मौत हो गई. संदीप ने कहा कि मैंने कभी भी पीड़िता तो मारा नहीं है और न ही कोई गलत काम किया। 


फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

India News

Post A Comment:

0 comments: