Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

15 जिलों की सड़कों के लिए खट्टर ने दिए 183 करोड़ रूपये, फरीदाबाद को फूटी कौड़ी नहीं मिली

Haryana-Road-News
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

चंडीगढ़, - हरियाणा में यात्रियों की सुविधा के लिए सडक़ तंत्र को और मजबूत करने के लिए हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने 15 जिलों में 60 सडक़ों के निर्माण और सुधार कार्य तथा 3 सडक़ों को पेवमेंट रोड के रूप में अपग्रेड करने के लिए 183.31 करोड़ रुपये की स्वीकृति प्रदान कर दी है।

        उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला, जिनके पास लोक निर्माण (भवन और सडक़) विभाग का कार्यभार भी है, ने इन कार्यों के लिए प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य में सडक़ों की बेहतर क्नेक्टीविटी निश्चित रूप से राज्य के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने समय-समय पर विकास की गति को सुनिश्चित करने के लिए विभिन्न कदम उठाए हैं और भविष्य में भी जारी रहेंगे ।

        उप मुख्यमंत्री ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि भिवानी जिले में पाँच सडक़ों के सुधार पर 1786.87 लाख रुपये खर्च होंगे। इनमें 286.00 लाख रुपये की लागत से तालू सिवारा सडक़, 400.83 लाख रुपये की लागत से धनाना वाया लुहारी जाट्टूपुर सडक़, 283.46 लाख रुपये की लागत से एच.बी.बी. से सुई तक वाया राजपुरा खरकड़ी सडक़, 328.05 लाख रुपये की लागत से मुंदल सुखपुरा सडक़ और 488.53 लाख रुपये की लागत से मालवा कुसुम्बी केहरपुरा टाइटन सडक़ के सुधार कार्य शामिल है।

        उन्होंने बताया कि पंचकूला जिले में तीन सडक़ों का सुधार कार्य किया जाएगा जिसमें 533.14 लाख रुपये की लागत से पिंजौर मल्लहा सडक़ से किदारपुर बरून तक, 359.17 लाख रुपये की लागत से फिरोजुपर से हंगोला तक और 194.54 लाख की लागत से एलआर नटवाल सडक़ का सुधार कार्य शामिल है।

        इसी प्रकार, यमुनानगर जिले की तीन सडक़ों जिनमें कलवार से जगधौली रोड, कोट बसवा सिंघ से दारपुर व दौलतपुर तक लिंक रोड तथा एनएच-73 से लिंक रोड चनेटी का सुधार कार्य किया जाएगा, जिन पर क्रमश: 128.54 लाख रुपये, 300.36 लाख रुपये और 96.99 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।

        उप मुख्यमंत्री ने बताया कि हिसार जिले में तीन सडक़ों जिनमें सिसवाला से भिवानी रोहिलां रोड, बादो ब्राह्मण से दुबेता और नियाना से खोखा रोड का सुधार कार्य किया जाएगा, जिन पर क्रमश: 171.39 लाख रुपये, 182.24 लाख रुपये और 303.55 लाख रुपये की लागत आएगी।

        उन्होंने बताया कि सिरसा जिले में दो सडक़ों का सुधार कार्य किया जाएगा जिनमें 525.23 लाख रुपये की लागत से दरबा-रूपाना से बकरियांवाली सडक़ और 254.76 लाख रुपये की लागत से बालासर एप्रोच रोड का सुधार कार्य शामिल है।

        उप मुख्यमंत्री ने बताया कि फतेहाबाद जिले में सात सडक़ों का सुधार किया जाएगा, जिसमें 256.88 लाख रुपये की लागत से भोडिय़ा खेरा से बनग्राम, 259.11 लाख रुपये की लागत से बनग्राम से ढिंगसरा तक की सडक़, 284.17 लाख रुपये की लागत से ढिंगसरा से किराधान रोड, 276.05 लाख रुपये की लागत से भोडिय़ा खेरा से खैराती खेरा रोड, 296.75 लाख रुपये की लागत से खाराखेरी से सबरवास वाया कुमकिया रोड 379.54 लाख रुपये की लागत से बडोपल से कुम्हारिया रोड और 295.42 लाख रुपये की लागत से खाबड़ा कलां से शेखुपुर दारोली का सुधार कार्य शामिल है।

        उन्होंने बताया कि झज्जर जिला में पांच सडक़ों का सुधार किया जाएगा, जिसमें 193.38 लाख रुपये की लागत से डीघल (पुराना एनएच-71) इंटरनल रोड शामिल है, जबकि 141.49 लाख रुपये की लागत से झज्जर शहर में ड्रेन के साथ लगते रोहतक-झज्जर सडक़ से झज्जर- बहादुरगढ़ सडक़ का पुनर्निर्माण, 149.55 लाख रुपये की लागत से चुडानी से रेवाड़ी खेड़ा सडक़, 147.58 लाख रुपए की लागत से मांडोठी से खरड़ सडक़ और 79.72 लाख रुपये की लागत से न्यू-बादली बायपास सडक़ शामिल है।

        उप मुख्यमंत्री ने बताया कि करनाल जिला में छ: सडक़ों का सुदृढ़ीकरण किया जाएगा, जिनमें 177.21 लाख रुपये की लागत से गोलपुरा से भोला खालसा-मोहरी जागरी सडक़, 158.82 लाख रुपये की लागत से जीटी रोड झांझरी से कुरक सडक़, 183.04 लाख रुपये की लागत से करनाल कच्चा सांवली कौल सडक़ से कोर सडक़, 254.57 लाख रुपये की लागत से पिचोलिया से जानी सडक़, 233.01 लाख रुपये की लागत से पियौंत से बानसा सडक़ और 390.76 लाख रुपये की लागत से कुरलान से बालपाबना सडक़ शामिल है।

        उन्होंने बताया कि पानीपत जिला की तीन सडक़ें इसराना से एनसी कॉलेज वाया जौंधन खुर्द सडक़, देहरा से रकक्षेरा वाया बसेड़ा सडक़ और बिहोली से सिमला गुजरां सडक़ को क्रमश: 380.26 लाख रुपये, 292.83 लाख रुपये और 245.88 लाख रुपये की लागत से अपग्रेड किया जाएगा।

        उप मुख्यमंत्री ने बताया कि कैथल जिला की पांच सडक़ों, जिनमें अप्रोच रोड सहित डेरा निहंग सिंहवाला से रामपुरा से प्रेमपुरा से काकौर माजरा को शहीद सुरेंदर सिंह मार्ग से जोडऩा, उरलाना से पंजाब सीमा वाया काकरान माता गुजरी चौक से डेरा जगदीश सिंह, थेह खडक़ से रामपुरा पारता वाया मस्तगढ़ माजरी सडक़, हरियाणा स्टेट बाउंडरी से छाना अग्रेरियन सडक़, पाई से बरसाना वाया थेह बरेला सडक़ को क्रमश: 608.2 लाख रुपये, 330.15 लाख रुपये, 640.65 लाख रुपये, 228.55 लाख रुपये और 366.98 लाख रुपये की लागत से अपग्रेड किया जाएगा।

        उप मुख्यमंत्री ने बताया कि रोहतक जिला में छ: सडक़ों, जिनमें बहु अकबरपुर से लाहली से अनवाल से निगाना सडक़, रिटोली से डिजिटल सडक़ और रिटोली स्कूल से अप्रोच सडक़, सरिया अहमदपुर से चमारिया अप्रोच सडक़, एन बायपास से ब्राह्मणवास सडक़, ब्राह्मणवास से सांघी सडक़, महम बाईपास से फरमाना सडक़ को क्रमश: 343.83 लाख रुपये, 83.88 लाख रुपये, 162.35 लाख रुपये, 378.58 लाख रुपये और 227.39 लाख रुपये की लागत से सुदृढ़ीकरण किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि  सोनीपत जिला में 10 सडक़ों को 3489.07 लाख रुपये की लागत से अपग्रेड किया जाएगा, जिनमें पैरामाउंट स्कूल सडक़ से रिवाड़ा वाया बिलबिलान अनवाली से रिठाल सडक़, गंगेसर से सिरसाद सडक़ वाया महमुदपुर सडक़, चिड़ाना सामरी बाजनाखुर्द से मोई माजरा सडक़, खरखौदा से तुरकपुर मोड़ वाया थानाकलां सडक़, थाना खुर्द सडक़, खेड़ी दहिया से नया खाण्डा वाया खाण्डा सडक़, सिलाना से चोलका सडक़, सोनीपत से ककरोई सडक़, सिलाना से मुंगन वाया गोराड़ सडक़, मोई, से रहमाना सडक़ और पुरखास से अगवानपुर सडक़ गन्नौर विधानसभा शामिल हैं।

        इसके अलावा, सोनीपत जिला में दो सडक़ों के पुनर्निर्माण पर 341.64 लाख रुपये और 389.58 लाख रुपये की राशि खर्च की जाएगी, जिनमें क्रमश: सिसाना से सेहरी सडक़ और सिसाना से शामछाना सडक़ शामिल है।

        उपमुख्यमंत्री ने बताया कि जींद, अंबाला और पलवल जिलों की तीन सडक़ों, जिनमें 300.28 लाख रुपये की लागत से जिला जींद में मौहम्मदखेड़ा से पोपरान सडक़, 121.39 लाख रुपये की लागत से अम्बाला जिले में जगाधरी-अंबाला से अकबरपुर से समालखा और धुराला से समालखा लिंक सडक़ और 273.9 लाख रुपये की लागत से पलवल जिला में सेवली से बहीन सडक़ का सुधार किया जाएगा।
इसमें कहीं फरीदाबाद का नाम नहीं दिख रहा है जबकि कई सड़कें जर्जर हैं। कई सड़कों पर अब भी सीवर का पानी भरा है और सड़कें टूट चुकी हैं। मुख्य सड़क प्याली हार्डवेयर का तो सबसे बुरा हाल आज भी है।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

India News

Post A Comment:

0 comments: