Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

फरीदाबाद के जरूरतमंद परिवारों को रोजाना दिए जा रहे हैं आटा, दाल, चावल, तेल व मसाले- DC

Faridabad-DC-Today-Report
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

फरीदाबाद, 8 अप्रैल। उपायुक्त यशपाल ने बताया कि लाॅकडाउन के दौरान जिला में जरूरतमंद परिवारों व प्रवासी लोगों को नियमित रूप से दोनों समय का भोजन दिया जा रहा है। शहर के सभी 40 वार्डों में अधिकारियों, पार्षदों व वालिंटियर के सहयोग से जरूरतमंद परिवारों की तैयार सूची वाले लोगों को पके भोजन के पैकेट वितरित  किये जा रहें हैं। इसके अलावा जिला प्रशासन द्वारा जरूरतमंद परिवारों को खाद्य सामग्री भी प्रतिदिन वितरित की जा रही है, जिसमें आटा, दाल, चावल, तेल व मसाले आदि शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि रेडक्रास द्वारा अब तक 19 हजार 500 फूड पैकेट्स वितरित किए गए हैं। इसी प्रकार एनजीओ की ओर से अब तक 4 लाख 77 हजार 480 पके भोजन के पैकेट वितरित किए गए हैं। इसी प्रकार अब तक 11 हजार 596 परिवारों को सूखा राशन दिया गया है। उन्होंने बताया कि लॉक डाउन की स्थिति से निपटने के लिए जिला प्रशासन द्वारा कारगर योजना तैयार करके हर जरूरतमंद व्यक्ति की मदद की जा रही हैं। इसके लिए सभी वार्डों मे एक-एक अधिकारी की डयूटी लगाई गई है। उन्होंने बताया कि जिला में बनाए गए रिलीफ सेंटरों में 223 व्यक्ति ठहरे हुए हैं, जिन्हें सुबह का नाश्ता, दोपहर और शाम का भोजन दिया जा रहा है।

कोविड-19 के कोर्डिनेटर एवं विषय विशेषज्ञ आपदा प्रबंधन डा. एमपी सिंह ने बताया कि सभी सामाजिक संगठन जिला प्रशासन के साथ मिलकर गुणवतापूरक पका भोजन जरूरतमंदों लोगों को निरंतर उपलब्ध करवा रहे हैं। सेक्टर-15 स्थित गुरूद्वारा सिंह सभा से 25 हजार पैकेट प्रतिदिन तैयार किए जाते हैं तथा सेक्टर-15 स्थित राधा स्वामी सत्संग भवन में 6 हजार पैकेट तथा जयशंकर सेवा समिति 2 हजार 500 पके खाने के पैकेट उपलब्ध करवा रहे हैं। दाल-रोटी वाले संस्था प्रतिदिन 1 हजार 500 पैकेट, साईं धाम नहर पार 2 हजार पैकेट, क्वीन क्लब 2 हजार पैकेट, मानव सेवा समिति 500, सेक्टर-18 की आरडब्ल्यूए एक हजार तथा अन्य कई सामजिक संस्थाएं प्रतिदिन करीब 12 हजार पके खाने के पैकेट उपलब्ध करवा रही है।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: