Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

करोड़ों का नाला घोटाला, बारिश से डूबी डबुआ कालोनी, NIT के गब्बर ने हरियाणा के गब्बर को लिखी चिठ्ठी 

Scam-In-Faridabad-News
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

फरीदाबाद: तेज बारिश के कारण सेक्टर 50, डबुआ कालोनी की सड़कों पर चलना दूभर हो रहा है। जल निकासी के लिए बनाया गया करोड़ों का सीमेंटेड नाला घोटाले की भेंट चढ़ गया है। आज दोपहर आम आदमी पार्टी के जिला अध्यक्ष धर्मबीर भड़ाना ने इसे बड़ा घोटाला बताया तो अब स्थानीय विधायक नीरज शर्मा ने इस घोटाले की जाँच सीबीआई से करवाने की मांग की है। सीएम और गृह मंत्री अनिल विज को लिखे पत्र में नीरज शर्मा का कहना है कि 
FCI गोदाम फरीदाबाद तक ग्रीन बेल्ट बनाने की घोषणा मुख्यमंत्री घोषणा नंबर 11 313 के तहत प्रशासनिक अनुमति  के तहत लगभग 14 करोड़ रूपये  दी गई और  कार्य संपूर्ण भी हो गया। 
इस विषय पर मेरा कहना है कि कार्य जनता के सुख को ना होकर ऐसा  प्रतीत होता है कि किसी एक व्यक्ति विशेष को फायदा पहुंचाने के लिए सरकारी धन का दुरुपयोग किया गया जिससे आप की छवि खराब हो रही है। नीरज शर्मा ने लिखा है कि सीएम साहब ग्रीनबेल्ट  का कार्य किया गया इसके तहत नाला बनाया गया उसके ऊपर ग्रीन बेल्ट बनाने पर करोड़ों रुपए का खर्चा किया गया परंतु बड़े दुर्भाग्य कीबात बात है कि नाले को  बंद करने के लिए लाखों रुपए खर्च किया जा रहा है। 

श्रीमान जी  जहाँ से ग्रीन बेल्ट शुरू होती है  उसके नीचे रेलवे की पटरी है जिससे  एफसीआई गोदाम तक रेल जाती है।  रेलवे डिपार्टमेंट की परमिशन भी नहीं ली गई है। यहाँ नेस्टर फैक्ट्री है और एफसीआई  का गोदाम है और भोजपुरी अवधी समाज का प्रांगण है।  अगर हमें ग्रीन बेल्ट बनानी होगी तो हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की एक पॉलिसी के तहत ग्रीन बेल्ट की जगह उन लोगों को दी जा सकती थी।   जिससे कि सरकार का पैसा भी नहीं लगता और ग्रीनबेल्ट भी  बन जाती परंतु बड़े दुर्भाग्य के साथ लिखना पड़ रहा है कि एक बहुत बड़े  व्यक्ति का यहाँ एक बड़ा प्लाट है जिसे वो  टुकड़े-टुकड़े करके मंहगे दामों पर बेच रहा है। 

उसे एक व्यक्ति को फायदा पहुंचाने के लिए बड़ा खेल खेला गया। उसे  करोड़ों रुपए  का फायदा पहुंचाने के लिए ये नाला बंद करवाया जा रहा है और उसने सरकारी जमीन पर कब्ज़ा करके नाले के ऊपर पुल बना दिए हैं। मैं समझता हूं कि यह सरकारी पैसे का दुरुपयोग कर भ्रष्टाचार ये बड़ा मामला है।  इसमें जो भी अधिकारी संलिप्त हैं उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए सीबीआई जांच कराई जाए लोगों का दायित्व बनता है। 
आपको बता दें कि विधायक शर्मा जिस बड़े व्यक्ति की बात कर रहे हैं उसके बारे में पहले भी कई बार ख़बरें छप चुकी हैं। काफी कीमती जमीन पर कब्ज़ा किया गया है। 21 अप्रैल 2015 को मैंने हरियाणा अब तक पर ये पोस्ट लिखा था। आप में से कई पुराने पाठकों ने उस समय ये खबर पढ़ी होगी। फिर पढ़ें

फरीदाबाद: हरियाणा में जबसे  जब से भाजपा की सरकार हरियाणा में बनी है तभी से फरीदाबाद में भूमाफियाओं के बल्ले बल्ले हो रहे हैं ऐसा लगता है कि भू माफिया शहर के बने नेताओं अधिकारीयों को खरीद चुके हैं ।
फरीदाबाद के कुछ धनकुबेर भूमाफिया शहर की डबुआ कालोनी अनाज गोदाम के पास रेलवे की जमीन पर अवैध कब्ज़ा कई महीने से कर रहे हैं ।  लेकिन या समन्धित विभाग के अधिकारी या तो कोमा में चले गए हैं या भूमाफियों ने नोटों की गड्डियों से उनकी बोलती बंद कर दी है । गोदाम के पास कई एकड़  के औधोगिक प्लाट पर  प्लाटिंग करने के उद्देश्य से आस पास की जमीन पर भी कर लिया गया है जिसमे रेलवे की कई एकड़ जमीन शामिल है । रेलवे की इस जमीन पर अब तक दो पुलिया बन चुकी है, सीवर लाइन बिछाई जा चुकी है एवं दोनों तरफ पार्क बनकर तैयार हो चुका  है जिसमे लगाईं गयी घास बता रही है कि ये खेल कई महीने से खेला जा रहा है । फरीदाबाद के अधिकारियों की बात करें तो अब तक यही देखा गया है की अधिकारी अवैध कब्जे तब तक नहीं देख पाते जब तक कोई बिल्डिंग बन कर तैयार नहीं हो जाती । इसी रेलवे की जमीन पर पिछले साल एक संस्था ने मंदिर बनाना शुरू किया था जिसे पलक झपकते ही ढहा दिया गया था और आस पास रेलवे की जमीन पर ही बनी कुछ झुग्गियों को धराशाई कर दिया गया था उन लोगों के पास अधिकारियों की जेबें भरने के लिए कुछ नहीं था ।

इस कब्जे के खिलाफ स्थानीय विधायक नगेंदर भड़ाना  ने लगभग दो महीने पहले आवाज उठाया था, इस मुद्दे को विधानसभा में उठाने के लिए कहा था लेकिन अचानक खामोश हो गए न विधान सभा में उन्हें ये मुद्दा याद आया न उसके बाद आज तक जिससे शक होता है कि माफिया ने उन्हें अच्छी वाली चाय पिला दी है । विधायक नगेंदर ने उस समय हरियाणा अब तक के पास खुद फोन करके कहा था कि उक्त अवैध कालोनी के विकसित हो जाने पर जहां एक तरफ इसके आसपास के क्षैत्र के लोगों की पेयजल आपूर्ति प्रभावित होगी जिससे यहां के निवासियों को पेयजल संकट का सामना करना पड़ेगा व पहले से ही अतिरिक्त दबाव झेल रही सीवर लाईन ठप्प हो जाएगी जिससे आम लोगों को परेशानी उठानी पडेगी इसलिए इस अवैध प्लाटिंग का पूरी तरह विरोध किया जाएगा ।
लेकिन सब कुछ भूल गए भड़ाना ,,उनके अलांवा कई और पक्ष विपक्ष के नेता हैं जो मूकदर्शक बन लूट का तमाशा देख रहे हैं । क्यू कि जिस जमीन पर भू माफियाओं ने कब्ज़ा किया है वो रेलवे की बताई जा रही है और अरबों की  है । इन्ही सब मुद्दों को लेकर फरीदाबाद बचाओ संस्था के लोग हरियाणा के मुख्यमंत्री से इसी हप्ते मिलने वाले हैं । संस्था के लोगों का कहना है कि वो फरीदाबाद किसी भी हालत में नहीं लुट्ने देंगे पहले सी एम से मिलेंगे उसके बाद पी एम मोदी से, इस संस्था में कुछ आर टी आई कार्यकर्ता भी शामिल हैं । संस्था के लोगों की माने तो वो यहाँ के नेताओं की असलियत को हर हालत में उजागर करेंगे चाहे उन्हें जंतर मंतर पर भूख हड़ताल क्यों न करनी पड़े ।

आपको बता दें कि नीरज शर्मा के अब तक के कामकाज से क्षेत्र की जनता खुश है और वो विज जैसे छापेमारी करते हैं इसलिए उन्हें एनआईटी के लोग गब्बर भी कहते हैं जैसे गृह मंत्री खुद अपने आपको गब्बर कहते हैं। बारिश अब भी जारी है। डबुआ कालोनी के कई घरों में पानी भरने की सूचना है। सड़कें लबालब हैं। 14 करोड़ गायब हो गए, नाला बना और अब पाटा जा रहा है। 

फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: