Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

गरीबों को उजाडऩे से पहले बसाने का काम करे सरकार : गौरव चौधरी

Gaurav-Chaudhary-Congress-Faridabad
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

फरीदाबाद, 13 फरवरी: पटेल नगर एवं प्रेम नगर झुग्गी में बसे हजारों घरों को उजाड़े जाने के खिलाफ वीरवार को हजारों लोगों ने सरकार के खिलाफ जलूस निकाला और प्रदर्शन किया। लोगों का आरोप था कि सरकार उनको उजाडऩे से पहले बसाने की व्यवस्था करे और तोडफ़ोड़ की कार्यवाही किए जाने से मात्र 5 दिन पूर्व नोटिस दिए गए हैं, जोकि बहुत कम समय है। पटेल नगर एवं प्रेम नगर झुग्गी में बसे हजारों लोगों के समर्थन में आए युवा नेता गौरव चौधरी भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जो लोग 50 साल से भी अधिक समय से यहां बसाए गए हैं, उनको हटाने के लिए मात्र 5 दिन का समय दिया जाना बेमानी है। सरकार को गरीब एवं बेसहारा लोगों को बसाने का काम करना चाहिए न कि उजाडऩे का। जब इन झुग्गी-बस्तियों में बिजली, पानी यहां तक कि इनके वोटर आई कार्ड जैसी सभी सुविधाएं दी जा रही हैं, तो फिर तोडऩ का अधिकार सरकार को नहीं है। उन्होंने कहा कि इन लोगों का इस्तेमाल कुछ नेता वोट के लिए करते हैं और अपना काम बनने के बाद इनको उजाडऩे काम शुरू कर देते हैं। 
स्थानीय विधायक नरेन्द्र गुप्ता ने लोगों से वादा किया था कि एक भी मकान नहीं तोड़ा जाएगा और उनको यहीं बसाया जाएगा, आज कहां गया उनका वादा। गौरव चौधरी ने भाजपा सरकार पर गरीबों के खिलाफ साजिश के तहत कार्यवाही करने का आरोप लगाते हुए मांग की, कि इनको उजाडऩे से पहलें बसाने का काम करे सरकार। इससे पूर्व गौरव चौधरी ने हजारों लोगों के साथ जिला उपायुक्त को ज्ञापन सौंपकर मांग-पत्र सौंपा। 

उन्होंने प्रशासन से मांग की, कि जब तक उनके रहने की व्यवस्था नहीं हो जाती, उनको उजाड़ा न जाए। मांग-पत्र में सरकार द्वारा तोडफ़ोड़ की कार्यवाही के लिए दिए गए समय को नाकाफी बताते हुए कहा गया कि हाईकोर्ट के आदेशानुसार तोडऩे से 3 महीने पहले नोटिस देना पड़ता है और झुग्गी-झोंपड़ी वालों को बसाने का प्रबंध सरकार को करना चाहिए। जब दिल्ली सरकार झुगी-झोंपड़ी वालों को बसा सकती है, तो फरीदाबाद में झुग्गी-झोंपड़ी वालों को मकान क्यों नहीं मुहैया करा सकती सरकार। प्रेम नगर एवं पटेल नगर के हजारों लोग धरने पर बैठे और कहा कि जब तक प्रशासन उनको भरोसा नहीं देता कि झुगियां नहीं टूटेंगी, उनका आंदोलन जारी रहेगा। प्रदर्शनकारियों में भारी मात्रा में बड़े-बुजुग एवं स्कूली बच्चे शामिल थे। जिला उपायुक्त को ज्ञापन सौंपने वालों में हरीालाल गुप्ता, सरला भामौत्रा, खुशबू खान, मालवती पांचाल, आशा शर्मा, सुदेश यादव, मिथलेश कश्यप, कुलदीप तेवतिया, अनिल कश्यप, प्रेम नारायाण, राजेश, राजेन्द्र, संजय, पवन, सतीश, आरती झा, ममता सिंह एवं लीलावती शर्मा आदि शामिल थे। 
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: