Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

केबिनेट मंत्री बनने के बाद कल फरीदाबाद पहुंचेंगे खट्टर के पंडित जी, तमाम माफिया भी खरीद रहे हैं माला 

Haryana-Ab-Tak-Sps-News
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

फरीदाबाद: 2014 की तरह 2019 भी फरीदाबाद के लिए लकी रहा। कृष्णपाल गुर्जर रिकार्ड मतों से जीत केंद्र सरकार में फिर मंत्री बने तो अब हाल में हुए विधानसभा चुनावों में फरीदाबाद जिले में तीन के बजाय भाजपा को चार सीटों पर जीत मिली और बल्लबगढ़ से दूसरी बार विधायक बने मूलचंद शर्मा प्रदेश के केबिनेट मंत्री बने। पिछली बार जिले में भाजपा को बड़खल, बल्लबगढ़ और फरीदाबाद सीटें मिलीं थीं लेकिन इस बार तिगांव में भी भगवा लहराया और फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र की बात करें तो इस बार भाजपा को 7 सीटें मिलीं। पिछली बार इस लोकसभा क्षेत्र के पलवल जिले में भाजपा का खाता नहीं खुला था लेकिन इस बार करण दलाल जैसे दिग्गज कांग्रेसी नेता भी अपनी सीट नहीं बचा सके। हरियाणा के कई जिले ऐसे हैं जहां से एक भी मंत्री नहीं है न केंद्र में न राज्य में लेकिन फरीदाबाद जिले में इस बार भी दो मंत्री हैं। कृष्णपाल गुर्जर केंद्र में जबकि मूलचंद शर्मा राज्य में मंत्री हैं। आज पंडित मूलचंद शर्मा को सीएम मनोहर लाल ने लड्डू खिलाकर कुर्सी पर बिठाया और कल वो फरीदाबाद पहुंचेंगे जहां उनका जोरदार स्वागत किया जाएगा। शहर के तमाम भाजपा कार्यकर्ता खुश दिख रहे हैं। पंडित मूलचंद शर्मा के स्वागत की जबरजस्त तैयारियां की जा रहीं हैं लेकिन भाजपा कार्यकर्ताओं से ज्यादा शहर के कुछ माफिया खुश दिख रहे हैं। माफिया इतना क्यू  खुश हैं ये तो वही जानें। 

कल कैबिनेट मंत्री बनाये गए पंडित  मूलचंद शर्मा को परिवहन, खनन और भूविज्ञान, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण, कला और सांस्कृतिक मामले की जिम्मेदारी मिली है। एक तरह से ये एक बड़ी जिम्मेदारी है क्यू कि फरीदाबाद सहित हरियाणा के कई जिलों में अवैध खनन का मामला सामने आता है। 
परिवहन विभाग की बात करें तो भाजपा सरकार के पिछले कार्यकाल में किलोमीटर स्कीम में 80 से 90 करोड़ रूपये के घोटाले की चर्चाएं सुर्ख़ियों में थीं। 
इस घोटाले पर आवाज सबसे ज्यादा जिसने उठाई थी वो आज भाजपा सरकार में उप मुख्यमंत्री हैं और उन्हें 11 विभाग देकर खट्टर ने उनकी जुबान पर ताला लगा दिया है। हरियाणा अब तक को इस मामले में जहाँ तक जानकारी है उसके मुताबिक़ हरियाणा रोडवेज में हुए किलोमीटर स्कीम घोटाले को लेकर  जननायक जनता पार्टी के चीफ  दुष्यंत चौटाला ने कुछ महीने पहले कहा था कि सीएम मनोहर लाल खट्टर और परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने साथ में मिलकर करोड़ों रुपये का घोटाला किया है।  उन्होंने कहा था कि इन दोनों ने हरियाणा परिवहन को समाप्त करने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि हम मांग करते हैं कि सरकार किलोमीटर स्कीम घोटाले की तुरंत सीबीआई जांच करवाए।  उन्होंने चेतावनी दी थी कि अगर हरियाणा सरकार किलोमीटर घोटाले पर कार्रवाई नहीं करती हैं तो जेजेपी परिवहन मंत्री के घर का घेराव करेंगी। दुष्यंत ने इसे 80 से 90 करोड़ का घोटाला बताया था लेकिन अब वो कुछ नहीं बोलेंगे क्यू कि सरकार में हैं। 

अब परिवहन  मंत्री शर्मा को इस विभाग पर ध्यान रखना पड़ेगा। सूत्रों की मानें तो इस विभाग के कुछ घोटालेबाज चंडीगढ़ में मंत्री मूलचंद शर्मा को मिले कार्यालय के बाहर चक्कर लगाते देखे गए हैं। कुछ कल फरीदाबाद भी पहुँच सकते हैं। 
पंडित जी को खनन विभाग भी मिला है औरअवैध खनन कर फरीदाबाद के ही कुछ नेता हेलीकाफ्टर पर चलते हैं। अरावली के पहाड़ों पर ढाई दशकों से कई कृतिम झीलें बन गईं हैं और कई झीलों की गहराई 500 तक बताई जाती है। कहा जाता है कि इन झीलों से कीमती बजरी निकाली गई और एक तरह से कुछ नेताओं को यहाँ से खजाना मिल गया और उन्होंने इतना माल बना लिया कि उनके कई पुस्तें दोनों हांथों से पैसा लुटाएं तब भी उनका खजाना जल्दी खाली नहीं होगा। इन झीलों में कई हस्तियों सहित दर्जनों लोग डूब चुके हैं। ये झीलें तीन दशक पहले नहीं थीं। अवैध खनन के कारण बनीं हैं। जब अरावली पर 500 मीटर तक की गहराई तक के कीतमी पहाड़ कई जगहों से निकाल निये गए तो लगभग 50 मीटर की गहराई वाली बड़खल झील सूख गई क्यू कि पानी हमेशा नीचे की तरह जाता है। बड़खल झील का पानी इन कृतिम झीलों में चला जाता है। इनमे से अधिकतर कृतिम झीलों में पूरे साल पानी इसलिए दिख़ता है क्यू कि खनन माफियाओं ने ऐसी जगहों से तब तक पत्थर और बजरी निकाला जब तक वहां से पातळ का पानी नहीं निकलने लगा। 

अब भी अरावली पर तमाम पहाड़ बचे हैं। अब अरावली की रक्षा की जिम्मेदारी पंडित जी पर है। अरावली का चीरहरण फरीदाबाद ही नहीं दिल्ली और गुरुग्राम पर भी भारी पड़ रहा है। एनसीआर के लगभग दो करोड़ लोग जानलेवा प्रदूषण झेल रहे हैं। सरकारें स्कूलों में छुट्टी करवा  रहीं हैं ताकि छात्रों पर प्रदूषण का प्रभाव न पड़े लेकिन बच्चे बहुत मासूम और नटखट साथ में नासमझ होते हैं और प्रदूषण के कारण छुट्टी के समय पूरे दिन  घर में नहीं बैठते हैं। घर के बाहर खेलते दिखते हैं। न चाहते हुए भी वो ये जानलेवा प्रदूषण झेल रहे हैं। 

कुल मिलकर पंडित मूलचंद शर्मा को कई बड़ी जिम्मेदारियां दी गईं हैं। देखना है वो इन जिम्मेदारियों को किस तरह से निभाते हैं। अवैध, खनन, परिवहन घोटाले पर कैसे काम करते हैं। पिछली बार जिन मंत्रियों के पास ये विभाग थे उन्हें जनता ने सबक दिखा दिया। पिछली बार खनन विभाग नायब सिंह सैनी के पास था और अगर वो इस बार विधानसभा चुनाव लड़ते तो जीत मुश्किल थी लेकिन उन्हें कुरुक्षेत्र से लोकसभा की टिकट मिल गई और राष्ट्रवाद के नाम पर लड़े गए लोकसभा चुनाव में सैनी के लाटरी लग गई। 
अब बात करते हैं फरीदाबाद की तो इस बार जिले के लगभग 30 लाख लोगों को अपने दोनों मंत्रियों से बहुत उम्मीदें हैं। पिछली बार ये उम्मीदें पूरी नहीं हुईं क्यू कि दोनों मंत्री जिगरी दोस्त थे और कुछ ऐसा हुआ कि दोनों मंत्री दुश्मन बन बैठे। विपुल गोयल को कुछ कांग्रेसियों ने भड़का दिया और वो भड़क भी गए। जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा। अवतार भड़ाना जैसे नेता उन्हें ले डूबे। 

इस बार बल्लबगढ़ के पंडित जी केबिनेट मंत्री हैं। उनमे अगर घमंड आया तो उनका वही हाल होगा जो 2019 के चुनावों में खट्टर के अधिकतर केबिनेट मंत्रियों का हुआ है। विधायक भी नहीं बन सके। अगर पंडित जी और केपी गुर्जर ने मिलकर काम किया तो जिले के 30 लाख लोगों का भला हो सकता है। हरियाणा अब तक दोनों मंत्रियों से उम्मीद करता है कि आप लोग फरीदाबाद की 30 लाख की आबादी का ख्याल रखें। आप लोग इस जिले के राजा हैं, जनता आपकी प्रजा है। जनता को आप सबसे बहुत उम्मीदें हैं। आप उनसे दूर रहें जो फरीदाबाद के 5 लाख से ज्यादा गरीबों के राशन छल कपट कर डकार रहे हैं। गरीबों के पेट पर लात मारने वाले ऐसे माफिया अगर किसी नेता के दफ्तर पर चाय पीते दिखते हैं तो हरियाणा अब तक को बहुत बुरा लगता है। मैं कभी भी इन माफियाओं के नामों को सार्वजनिक कर सकता हूँ। सबूत सैकड़ों हैं वक्त का इंतजार कर रहा हूँ। 

नोट- हरियाणा अब तक की खबरें कॉपी पेस्ट कर अपने अख़बारों और अपनी बेवसाइटों पर डालने वाले लिख दिया करें कि खबर कहाँ से ली गई है। मैं 30 साल के राजनीतिक अनुभव के कारण कई घंटे मेहनत कर कुछ ख़ास ख़बरें लिखता हूँ और आप एक मिनट में कॉपी पेस्ट कर अपने अख़बार या बेवसाइट पर डाल लेते हैं। अच्छी बात नहीं है। कॉपी पेस्ट करें लेकिन कहाँ से खबर मिली लिंक डाल दें। मैं नहीं चाहता कि किसी पर कॉपी पेस्ट का केस दर्ज करवाऊं। आप सब अपने हैं। 

फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: