Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

लखनऊ में आत्मदाह करने वाली महिला की मौत, राज बनकर आसिफ ने अंजलि को प्रेमजाल में फंसाया था 

Love-Jihad-In-UP
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

नई दिल्ली- मंगलवार को लखनऊ विधानसभा के बाहर आत्मदाह करने वाली महिला अंजलि तिवारी उर्फ़ आयशा कल जिंदगी की जंग हार गई और अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया। एक जानकारी के मुताबिक़ अंजलि तिवारी झारखंड के पलामू जिले की रहने वाली थी। जिससे शादी हुई वो नशे का आदि था और 8 साल तक किसी तरह वो अपने पति के पास रही। इसके बाद रिश्ता टूट गया और अंजलि यूपी के महराजगंज के वीर बहादुर नगर में किराए पर अकेले रहने लगी थी। 

अकेले रहने पर गुजारा कैसे होता इसलिए उसने काम के बारे में सोंचा और एक कपडे की दुकान पर नौकरी करने लगी जहाँ उसकी मुलाक़ात राज नामक युवक से हुई। धीरे-धीरे वो राज के करीब होती गई और दोनों आपस में प्रेम करने लगे। इस राज का असली नाम आसिफ रजा था यही वजह है कि हिन्दू संगठन के लोग इसे लव जेहाद बता रहे हैं। जिनका कहना है कि अंजलि नहीं समझ सकी क्यू कि उसका नाम राज था और अधिकतर हिन्दू युवाओं के नाम राज होते हैं। जब अंजलि पूरी तरह  से उसके जाल में फंस गई तब उसे पता चला कि राज का असली नाम आसिफ रजा था। इसके बाद आसिफ ने शादी का प्रस्ताव रखा और अंजलि को धर्म परिवर्तन के लिए कहा। अंजलि मजबूर थी और धर्म परिवर्तन कर आयशा बन गई। एक मौलवी ने दोनों का निकाह करवाया।

ढाई साल हो गए। अंजलि परेशान रहने लगी। अंजलि आसिफ के परिजनों के पास गई वहां भी उसे कुछ नहीं मिला। आसिफ के परिजनों ने उसे भगा दिया। अंजलि आसिफ के घर के बाहर बैठ गई। आसिफ के परिजनों से तकरार के बाद पुलिस मौके पर पहुँची। महिला थाने में समझौते की बात हुई लेकिन अंजलि इस समझौते ने नाखुश थी। पुलिस ने उसके आरोपों पर मामला नहीं दर्ज किया इसके बाद वो परेशान रहने लगी। 

पुलिस पर भी सवाल उठ रहे हैं कि एक महिला को न्याय नहीं दिला सकी। इसके बाद अंजलि ने उत्तर प्रदेश के सीएम से मिलने का प्रयास किया लेकिन नाकाम रही जिसके बाद उसने खुद को आग के हवाले कर दिया। कहा जा रहा है कि कुछ लोगों ने उसे उकसाया था ताकि योगी सरकार की बदनामी हो। पुलिस सभी पहलुओं पर जांच कर रही है।

फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

India News

Post A Comment:

0 comments: