Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

मोदी राज में चार गुणा बढ़ गई रिश्वत इसलिए मोदी बाबा का गिरने लगा ग्राफ, 2024 में खैर नहीं 

Bad-News-For-BJP
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...



नई दिल्ली- नोटबंदी और जीएसटी के बाद देश में भाजपा और मजबूत हुई। उसके बाद जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के बाद देश में मोदी-शाह की जोड़ी छा गई और फिर राम मंदिर पर फैसला आने के बाद भी देश के अधिकतर लोग केंद्र सरकार से खुश दिखे। इसके पहले  तीन तलाक बिल से भी भाजपा का फायदा हुआ लेकिन अब भाजपा का ग्राफ गिरने लगा है। क्या कारण है ये तो भाजपा नेता ही जाने। फिलहाल भाजपा के पास अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, मनोहर पर्रिकर  जैसे नेता नहीं रहे। भाजपा के सहयोगी रामबिलास पासवान को भी ऊपर वाले ने अपने पास बुला लिया। एक साल पहले पीएम नरेंद्र मोदी की किसी भी पोस्ट पर निगेटिव कमेंट्स 20 फीसदी से ज्यादा नहीं होते थे जो अब 40 फीसदी से ज्यादा हो गएँ हैं। कोई न कोई तो कारण होगा। 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कई वर्षों से चिल्ला रहे हैं कि मोदी अडानी और अम्बानी जैसे अपने खास दोस्तों के लिए काम कर रहे हैं। हाल में तीन कृषि अध्यादेश पास हुए तब भी राहुल ने कहा कि मोदी ने ये तीनों बिल अडानी और अम्बानी के फायदे के लिए पास करवाया है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी अपने कुछ पूंजीपतियों के लिए काम कर रहे हैं और इसी बीच फ़ोर्ब्स ने देश के अमीरों की सूची जारी की तो मुकेश अम्बानी और गौतम अडानी ही देश के पहले और दुसरे नंबर के अमीर बताये गए। मुकेश अम्बानी तो कई वर्षों से देश के सबसे अमीर व्यक्ति हैं। कोरोना काल में उन्होंने खूब माल कमाया और खरबों की कमाई की। यही सब देख कुछ लोग राहुल गांधी की बातों पर भरोषा करने लगे हैं। 

पीएम को तो देश के अधिकतर लोग अब भी अच्छा नेता मानते हैं लेकिन देश के मंत्रियों और कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों की हालत बहुत ढीली होती जा रही है। हरियाणा के  मुख्यमंत्री कितनी भी अच्छी बात करें। कितनी बड़ी घोषणा करें। सिर्फ 10 फीसदी लोग ही उन्हें अच्छा नेता बताते हैं। 90 फीसदी लोग उनकी खिंचाई करने लगते है। यही हाल हरियाणा में सांसदों और केंद्र सरकार में शामिल कुछ मंत्रियों का है। अब कोई इन्हे अच्छा नेता नहीं बताता। अधिकतर लोग इनसे नाराज हैं। 

भाजपा के पास अब कुछ ख़ास नहीं बचा है। किसान, मजदूर सब नाराज हैं। करोड़ों युवा कोरोनाकाल में बेरोजगार हो चुके हैं और भाजपा काल में ज्यादा  युवाओं को नौकरी भी नहीं मिली। कांग्रेस राज में जिन युवाओं को नौकरी मिली थी उनमे से अधिकतर युवाओं की नौकरी भी कोरोना ने छीन ली। भाजपा के  पास  अब अयोध्या में बन रही राम मंदिर का मुद्दा बचा है। अब आने वाले चुनावों में यही मुद्दा भुनाया जाएगा। पीएम ने 2022 तक किसानों की आय दोगुनी और हर बेघर को घेर देने का वादा किया है। अगर ये दोनों वादे अधूरे रह गए तो 2024 में भाजपा को  पूर्ण बहुमत शायद ही मिले। एक  बड़ा कारण ये भी है कि कांग्रेस के राज में 500 रूपये रिश्वत लेने वाले कुछ विभागों के अधिकारी अब 2000  रूपये रिश्वत लेते हैं।

 मोदी जी की उम्र अब 70 साल हो  गई  है। चार साल बाद 74 हो जाएगी। ऐसी उम्र में देश के बुजुर्गों को लोग बाबा या दादा भी  कहते हैं और इस उम्र में पीएम मोदी बाबा अकेले बहुत ज्यादा काम कर रहे हैं ,खास सहयोगियों को भगवान् ने अपने पास  बुला लिया है पीएम  के सबसे ख़ास शाह की तबियत भी कुछ ठीक नहीं रहती और वर्तमान में पीएम के ख़ास अन्य नेता दिख नहीं रहे हैं। कुछ नेता जो उनके नाम पर चुनाव जीते हैं  अपना घर भर उन्हें बदनाम जरूर कर रहे हैं। भाजपा राज में चार गुना बढी रिश्वत, जानना हो तो मुझसे संपर्क करें ,कई राज्यों में आपके साथ चलकर ये खेल दिखाऊंगा। बड़े अधिकारी बिना वर्दी में मेरे साथ चलें। 

फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

India News

Post A Comment:

0 comments: