Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

कई बड़ी कंपनियों के साथ तीन दिनों तक चली बैठक में क्या हुआ पढ़ें

Principal Secretary, Industries Mr. A.K. Singh
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

चंडीगढ़,9  मई- हरियाणा द्वारा 6, 7, और 8 मई, 2020 को आयोजित तीन दिवसीय वेबिनार का कल सफलतापूर्वक समापन हो गया। एचएसआईआईडीसी के चेयरमैन एवं मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव  राजेश खुल्लर द्वारा परिकल्पित ‘वेबिनार’ को इन तीन दिनों में 60 से अधिक कंपनियों से  जबरदस्त सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली, जो सरकार के अभिनव दृष्टिकोण को प्रतिध्वनित करता है।

आज, ‘वेबिनार’ के तीसरे और आखिरी दिन ऐसे कई क्षेत्रों, जिनकी आपूर्ति श्रृंखला कोरोना महामारी द्वारा बाधित हो गई है, के व्यापार को बढ़ावा देने के लिए कई नीतिगत सुझावों सहित महत्वपूर्ण प्रतिक्रिया मिली। वेलस्पन इंडिया, वीवो मोबाइल्स, एडिसन मोबिलिटी, यूएसआईबीसी, हैवस, गेस्ट्योर, आदित्य इंटरसीज, एडसन इंपेक्स, लाइफस्किल फाउंडेशन, हीरो इलेक्ट्रिक, एचसीसी एंड आई, नॉर्थवार्ड इंफ्रा जैसी बड़ी कंपनियों ने इसमें भाग लिया।

हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं अवसंरचना विकास निगम (एचएसआईआईडीसी) के चेयरमैन एवं मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजेश खुल्लर, एचएसआईआईडीसी के प्रबंध निदेशक श्री अनुराग अग्रवाल और उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव श्री अपूर्व कुमार सिंह ने भी हरियाणा को निवेश के लिए एक व्यवहार्य गंतव्य बनाने वाली राज्य की नीतियों और कारकों के बारे में हुई इस विस्तृत चर्चा में शिरकत की।

‘वेबिनार’ के पिछले तीन दिनों में उद्योगपतियों द्वारा एग्जिम पॉलिसी की समीक्षा, वेयरहाउसिंग के लिए लीज पर भूमि की पेशकश, किराये के आवास पर नीतिगत बल के रूप में कई नीतिगत सुझाव दिए गए। उम्मीद है कि ‘पट्टेï पर जमीन’ की नई नीतिगत व्यवस्था राज्य में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करेगी। इस नीति का प्रारूप तैयार किया जा रहा है और इसका शीघ्र ही अनावरण कर दिया जाएगा। हरियाणा में कारोबार करने की लागत में कटौती करने वाली इस पहल को निवेशकों से शानदार प्रतिक्रिया मिली है।

‘वेबिनार’ श्रृंखला, जिसके दौरान औद्योगिक भागीदारों और विशेषज्ञों के साथ समान रूप से लाभदायक चर्चा की गई, को गत तीन दिनों के दौरान मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया से इस कठिन समय में चमकने और देश के औद्योगिक पावरहाउस के रूप में अपना दर्जा बरकरार रखने के राज्य के लक्षित दृष्टिकोण की गूंज सुनाई दे रही थी। इस बातचीत से 1500 से 2000 करोड़ रुपये के बीच निवेश होने की उम्मीद है। राज्य इस बढ़त पर आगे काम करेगा और ‘वन-टू-वन’ आधार पर इन निवेशकों तक पहुंचेगा।

इस पहल की सफलता से उत्साहित होकर, राज्य ऐसे और भी ‘वेबिनार’ आयोजित करने की योजना बना रहा है जो विशिष्ट क्षेत्रों और देशों को लक्षित होंगे।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Haryana News

Post A Comment:

0 comments: