Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

फरीदाबाद में पहुँच रही है झज्जर और बहादुरगढ़ की शराब, 3 से 4 गुना हो गए हैं दाम 

Haryana-Sps-News
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

नई दिल्ली: लॉकडाउन का तीसरा चरण चार मई से शुरू होगा और 17 मई तक चलेगा। जो जिले ग्रीन जॉन घोषित किये गए है वहां सबसे ज्यादा खुश आज शराब पीने वाले और अन्य नशा करने वाले दिख रहे हैं। ट्विटर पर ट्रेंड चलने लगा है। लॉकडाउन 3.0 में सभी जोन में शराब की अनुमति दी गई है।  इसके साथ ही पान मसाला, गुटखा और तम्बाकू को बेचने की इजाजत भी दी गई है।  हालांकि सिर्फ कंटेनमेंट जोन में ही शराब की बिक्री पर पाबंदी रहेगी।  साथ ही शराब की बिक्री सिर्फ एकल दुकानों पर ही की जा सकेगी। 
हालांकि फिलहाल शराब की बिक्री मॉल्स और मार्केटिंग कॉम्प्लेक्स में नहीं की जा सकेगी।  यहां शराब की बिक्री पर पाबंदी जारी रहेगी।  वहीं शराब, पान मसाला, गुटखा और तम्बाकू का सार्वजनिक जगहों पर सेवन नहीं किया जा सकेगा. सार्वजनिक जगहों पर इनका सेवन करने पर रोक रहेगी। 

साथ ही जो दुकानें शराब-पान मसाले की बिक्री कर रही हैं, वो ये सुनिश्चित करेंगी कि लोगों के बीच में 6 फीट की दूरी रहे और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाया जाए. साथ ही दुकानों को इस बात को भी सुनिश्चित करना होगा कि एक वक्त में दुकान पर पांच से ज्यादा लोग न हों। 
हरियाणा की बात करें तो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हरियाणा में कोरोना प्रभावित जिलों में फरीदाबाद और सोनीपत को टॉप पर रखा है। दोनों ही जिले रेड जोन में शामिल किए गए हैं। फरीदाबाद में तो लगातार केस आ ही रहे हैं, सोनीपत नया हॉटस्पॉट बना है। बीते दिनों में यहां ज्यादा केस आए हैं। इसके चलते ही फरीदाबाद, सोनीपत व दिल्ली से लगते अन्य बॉर्डर को हरियाणा ने पूरी तरह सील कर दिया है। यहाँ  लॉकडाउन 3.0 में भी शायद ही शराब के ठेके खुलें और पान मसाले, बीड़ी, सिगरेट की शायद ही बिक्री हो सके। वैसे फरीदाबाद में लाकडाउन के दोनों चरणों में शराब, पान मसाले और बीड़ी सिगरेट की बिक्री हुई और तीसरे चरण में भी अगर बैन लगाया गया तो बिक्री जारी रह सकती है लेकिन ब्लैक में इन चीजों को बेंचने वाले दाम और बढ़ा देंगे। 

फिलहाल इनके रेट चार गुना तक बढ़ गए हैं। शहर में पान बीड़ी के थोक विक्रेताओं के गोदाम खाली हो चुके हैं। शराब के कारोबारियों की गोदामें भी लगभग खाली हो चुकी हैं। तमाम ठेके खाली हो चुके हैं। कुछ ठेकेदारों ने ठेके की शराब निकाल ब्लैक में बेच दी और चोरी का मामला दर्ज करवा दिया। लॉकडाउन के दौरान पुलिस को ज्यादा समय तक काम करना पड़ रहा है जिसका शराब के कारोबारियों ने फायदा उठाया और मौका ढूंढ गोदाम खाली कर दिए। 

अब अगर चार मई को यहाँ शराब के ठेके न खुले तब भी शराब के शौकीनों को शराब मिलती रहेगी लेकिन 400 की बोतल 2000 रूपये तक पहुँच सकती है। हरियाणा अब तक को अपने खास सूत्रों से जानकारी मिली है कि हरियाणा के बहादुरगढ़ और झज्जर से भारी मात्रा में शराब फरीदाबाद पहुँच रही है। बहादुरगढ़ और झज्जर की शराब से ही अधिकतर शराबी काम चला रहे हैं। ये शराब इन जिलों से फरीदाबाद कैसे पहुँच रही है जबकि सीमाएं सील हैं? दुनिया में असंभव कुछ भी नहीं। इस गिलाश में भरी शराब झज्जर की बनी हुई है और वहीं बिक रही है जहाँ का आडियो दो दिन पहले हमने ग्रुप में पोस्ट किया था। गजब की बात तो ये है कि धड़ल्ले से बिक रही है। जिस कंपनी की शराब फरीदाबाद पहुँच रही है उस कंपनी का नाम भी आप दूसरी तस्वीर में देख सकते हैं। एक बोतल पर यही लिखा है। 
स्थानीय पुलिस की निगाह अब फरीदाबाद के ठेकों पर है जबकि माल बाहर से आने लगा है। वैसे आज कांग्रेस के राजस्थान के विधायक सोशल मीडिया पर छा गए जिन्होंने कहा था कि कोरोना गले से नीचे न जाये इसलिए शराब के ठेके खोले जाएँ। उनकी खबर पर निगेटिव कमेंट्स ढूंढें से नहीं मिल रहा है। 
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Haryana News

Post A Comment:

0 comments: