Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

कोरोना इफेक्ट: भूख से बिलबिलाते मजदूरों का सहारा कोविड -19 मे दीपक मिश्रा का शानदार कार्य

Deepak-Mishra-Faridabad-News
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

फरीदाबाद: कोरोना के बढ़ते संकट की वजह से कई लोगों के काम ठप हो गए हैं, जिसकी वजह से मजदूरों की रोजी-रोटी प्रभावित हो रही है। देश में लॉकडाउन ने दिहाड़ी मजदूरों, बेघरों, और गरीब जनता के सामने जीवन को आगे चलाने और खाने का संकट खड़ा कर दिया है इस समय में उनके दुःख को कम करने और पेट की भूख को शांत करने के लिए प्रतिदिन 500 व्यक्तियों को पिछले 36 दिनो से  लगभग जब से देश मे लॉकडाउन हुआ है आर टी आई एक्टिविस्ट दीपक मिश्रा  जैन स्थानक सेक्टर - 7  रविंद्र जैन व जैन स्थानक सेक्टर -- 15 अजय बहल व गुरुद्वारा जोधा राम सिंह जी 2 नम्बर के हरिंदर सिँह द्वारा खाने के पैकेट बनाकर शहर  के कोने कोने  मे  वितरित किये जा रहे है जरूरत पढ़ने पर रतन लाल रोहिल्ला हमेशा भोजन की व्यवस्था करवा देते है। 

सहयोगी राजू चौधरी  दीपक मिश्रा ने बताया की वह देर  रात को फरीदाबाद शहर मे दूर राज्यो से आने वाले ट्रक ड्राइवरों को भोजन की व्यवस्था करते है क्यू की देश मे लॉकडाउन होने से रास्ते मे होटल ढाबा इत्यादि बन्द होने के कारण ड्राइवर भूखे ही रह जाते  है कभी कभी तो रात को 11 बजे उनको शहर के अलग अलग कोने से फ़ोन आता है की हमने आज खाना नही खाया तो दीपक मिश्रा का कहना है की वो तुरन्त उनके बताए हुए पते पर पहुंच कर हरसंभव कोशिश करते है की कोई भूखा ना सोए। 

उन्होने पर्वतीय कॉलोनी जवाहर कॉलोनी एस जी एम नगर इत्यादि विशेष बात यह है की  वैसे तो समय समय पर दीपक मिश्रा समाज के लिए हमेशा से भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाते आए है पिछले महीने दीपक मिश्रा ने राशन की कालाबाजारी रोकने के लिए आवाज उठायी थी और राशन डिपो  वालो के भी खिलाफ भी आवाज उठायी थी जिसकी शिकायत प्रदेश के मुख्यमंत्री से भी की थी ट्विटर पर जिस पर मुख्यमंत्री के ट्विटर पेज से इस मामले को संज्ञान मे लेने की बात दीपक मिश्रा से  कही गयी थी और लेसर वेल्ली पार्क के 3 करोड़ रूपए के घोटाले को भी उजागर किया था देश व समाज के लिए ऐसे ही जागरूक युवाओ की जरूरत है। 
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: