Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

पुलिस कमिश्नर के बाद वकील का खुलासा, आतंकियों से मिले 10 फर्जी आईडी कार्डों पर लिखे थे हिंदू नाम

U Nikam, Special Public Prosecutor in 26/11 Mumbai terror attack case
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

नई दिल्ली: मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया के खुलासे के बाद अब मुंबई बम ब्लास्ट केस की अदालत में पैरवी करने वाले विशेष सरकारी वकील उज्ज्वल निकम ने कहा है कि कसाब समेत अन्य आतंकियों के पास से मिले 10 आईकार्ड पर हिन्दू नाम लिखे थे। उज्जवल निगम ने कहा कि  मुंबई पुलिस के चार्जशीट दाखिल करने के बाद यह केस मेरे पास आया जिसमें आतंकी हमला करने वाले आतंकियों के पास से 10 आईकार्ड कोर्ट में पेश किए गए। इसमें सभी आतंकियों के पास फेंक आईडी कार्ड थे जिनमें हिंदुओं के नाम थे।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए  उज्जवल निकम ने बताया कि कसाब ने 19 फरवरी 2002 को कोर्ट में दिए इकबालिया बयान से एक बात साबित हो गई थी कि बरामद किए गए 10 फर्जी कार्ड झूठे नाम थे। उसने बताया था कि पुलिस को गुमराह करने के लिए हमने इन फेंक आईकार्ड का इस्तेमाल किया था। कसाब ने कोर्ट को यह भी बताया था कि अबुल काफा जिसने उनको मिलिट्री ट्रेनिंग दी थी उसने बताया था कि तुम्हे 10 झूठे नाम दिए जाएंगे और हमने कोर्ट में यह बात साबित कर दी थी।
निकम के इस खुलासे से साबित होता है कि पूर्व पुलिस कमिश्नर ने अपनी किताब में सच लिखा है कि मुंबई हमले को हिन्दू आतंकवाद के तौर पर पेश किया जाना था लेकिन कसाब जिन्दा पकड़ा गया जिससे एक बड़ी साजिश नाकाम हो गई। कसाब के पास भी जो आईडी मिली थी वो समीर चौधरी के नाम थी। कसाब को भी कलावा पहना हिन्दू साबित करने का प्रयास किया गया था।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Post A Comment:

0 comments: