Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

हरियाणा में आगामी 3 सालों में खोल जाएंगे 400 छोटे और बड़े पैक हाउस:दलाल

Haryana-Minister-JP-Dalal
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

बाबैन 16 फरवरी, राकेश शर्मा: हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जय प्रकाश दलाल ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में आने वाले 3 सालों में लगभग 400 छोटे और बड़े एकीकृत पैक हाउस खोले जाएंगे और इन पैक हाउस पर 510 करोड़ का बजट खर्च किया जाएगा। यह बजट किसानों को सबसीडी के रुप में दिया जा रहा है। इस प्रकार की योजनाओं को अमलीजामा पहनाकर सरकार किसानों की कृषि लागत को कम करने और किसानों की आय को दौगुना करने का काम कर रही है।
कृषि मंत्री जय प्रकाश दलाल रविवार को बाबैन कस्बा में उद्यान विभाग की फसल समूह विकास योजना के अंतर्गत प्रदेश के दूसरे एकीकृत पैक हाउस एवं फसल समूह केंद्र के उदघाटन समारोह बतौर मुख्यातिथि के रुप में बोल रहे थे। इससे पहले कृषि मंत्री जेपी दलाल, सासंद नायब सिंह सैनी, पूर्व विधायक डा. पवन सैनी, पूर्व सांसद कैलाशो सैनी, बागवानी विभाग के निदेशक डा. अर्जुन सिंह, भाजपा के जिलाध्यक्ष धर्मवीर मिर्जापुर, जिला परिषद के चेयरमैन गुरदयाल सुनहेड़ी, मारकंडेश्वर फार्मर प्रोडयूसर कंपनी के चेयरमैन बलदेव चंद सैनी ने 7 करोड़ 58 लाख की लागत से निर्मित मारकंडेश्वर फार्मर प्रोडयूसर कम्पनी के एकीकृत पैक हाउस एवं फसल समुह केन्द्र का विधिवत रुप से उदघाटन किया। उन्होंने एकीकृत पैक हाउस में आलू, टमाटर, प्याज, खीरा फसल की पैकिंग, वासिंग, प्रोसेसिंग, सीडिंग आदि यूनिट का बारीकि से अवलोकन किया और कार्य कर रहे लोगों से बातचीत कर फीडबैक भी हासिल की है। इस यूनिट पर सरकार की तरफ से 5 करोड़ 29 लाख रुपए की सबसीडी भी मुहैया करवाई गई है।
उन्होंने कहा कि सरकार की योजना के तहत आने वाले तीन सालों में प्रदेश में 400 के लगभग एकीकृत छोटे व बड़े पैक हाउस खोले जाएगें। इस येाजना के लिए सरकार ने 510 करोड़ का बजट भी तय किया है। उन्होंने कहा कि इस पैक हाउस के निर्माण पर 7 करोड़ 58 लाख 23 हजार रूपए की लागत आई है। जिसमें सरकार द्वारा 70 से 90 प्रतिशत अनुदान उपलब्ध करवाया गया है। प्रदेश सरकार द्वारा जहां बागवानी फसल पर बीमा योजना लागू की जाएगी। उन्होंने किसानों से कहा कि वे सामूहिक तौर पर पैक हाउसों का निर्माण करें। इसके लिए सरकार उनकी हर तरह से मदद करने को तैयार है। इससे पैक हाउस से उत्पादों का मुनाफा सीधा किसानों को मिलेगा और मल्टीनेशनल कंपनियां किसान के खेत से सीधे ही उत्पाद की खरीददारी करेंगी। कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार का प्रदेश में 200 पैक हाउस खोलने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस पर करीब 510 करोड़ रूपए का बजट खर्च होगा। किसान समूहों द्वारा पैक हाउस बनाने से किसानों के उत्पाद की ग्रेडिंग, पैकेजिंग व मार्केटिंग में आसनी होगी। उन्होंने कहा कि किसानों को पैक हाउस खोलने पर सरकार की ओर से 70 से लेकर 90 प्रतिशत की सब्सीड़ी भी दी जा रही हैं। 
कुरुक्षेत्र लोकसभा क्षेत्र के सांसद नायब सिंह सैनी ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि लाडवा हल्के में औद्योगिक इकाईयों को स्थापित करने की मांग केन्द्र सरकार से की गई है। इस क्षेत्र में फुड प्रोसेसिंग जैसी यूनिट को स्थापित किया जा सकता है। वर्ष 2014 से वर्तमान सरकार किसानों की आय को बढ़ाने का काम कर रही है। इतना ही नहीं किसानों को अधिक से अधिक बागवानी खेती की ओर बढऩा चाहिए ओर किसानों को फसलों में कीटनाशकों का प्रयोग कम से कम करके जैविक खेती को अधिक अपनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि किसानों को सरकार की योजनाओं का भरपूर लाभ उठाना चाहिए। अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि इस वर्ष सरकार 55 एकीकृत पैक हाउस खोलने जा रही है। जिसका फायदा सीधा किसानों को मिल पाएगा। उन्होंने कहा कि जो किसान पैक हाउस खोलना चाहते हैं, उन्हें 25 या इससे ज्यादा का समूह बनाना होगा।
पूर्व विधायक डा. पवन सैनी ने कहा कि पैक हाउस खोलने के लिए बैंक ऋण प्रक्रिया आसान की जा रही है। यदि किसान दो करोड़ रूपए तक का पैक हाउस खोलना चाहते हैं, उन्हें बैंक से ऋण लेने की जरूरत नहीं है। सरकार की ओर से उनकी सब्सिड़ी के तौर पर मदद की जाएगी। उद्यान विभाग के महानिदेशक डा. अर्जुन सिंह सैनी ने कहा कि किसानों के लिए सरकार यह योजना काफी कारगार साबित हो रही है। किसान समूह बनाकर बागवानी खेती करने में आगे आ रहे हैं। जिससे किसानों को दोहरा लाभ मिल रहा है। फसल समूह केंद्र के अंतर्गत विभाग किसानों को हर संभव मदद उपलब्ध करा रहा है। कार्यक्रम में किसानों के सेमीनार का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ संयुक्त निदेशक उद्यान डॉ. रणबीर सिंह ने किया। उन्होंने प्रदेश से आए किसानों  को एफ.पीओ व विभाग की अन्य स्कीमों बारे जानकारी दी। इस कार्यक्रम को पूर्व सांसद कैलाशों सैनी ने भी सम्बोधित किया। इस मौके पर उप निदेशक उद्यान डा. महेंद्र  सिंह, विभाग की स्फैक योजना के बारे में परम राम व दीपक खटकड ने किसानों को स्फैक से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराई। इस मौके पर एसडीएम लाडवा अनिल यादव, रमेश सुधा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Haryana News

Post A Comment:

0 comments: