Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

टुकड़े गैंग का साथ दे दिल्ली में और कमजोर हुआ कांग्रेस का हाथ, फिर बाजी जीत सकते हैं केजरीवाल 

Good-News-For-AAP-Delhi
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनावों की तारीफ का आज एलान हो गया।  8 फरवरी को मतदान होगा और  11 फरवरी को मतगणना होगी। ओपिनियन पोल की मानें तो दिल्ली में फिर केजरीवाल की सरकार बन सकती है। भाजपा और कांग्रेस को ज्यादा फायदा नहीं मिल रहा है। दिल्ली की जनता का मूड भी कुछ केजरीवाल की तरफ ही झुकता फिलहाल तो दिख रहा है। भाजपा की बात करें तो घमंडी, नादान नेताओं को सीएम बना मोदी-शाह बड़ा झटका झेल चुके हैं और अब भी झटके ही मिल रहे हैं। कई राज्यों से भाजपा की सरकार गायब हो चुकी है इसलिए दिल्ली में भी कुछ खास फायदा शायद ही मिले। 

कल जेएनयू में हिंसा हुई जिससे केजरीवाल को कम और कांग्रेस को ज्यादा नुक्सान हो रहा है। आम आदमी पार्टी कल के बवाल पर सोंच समझकर बोल रही है जबकि कांग्रेस खुलकर टुकड़े गैंग का साथ दे रही है। कल की मारपीट के बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी तुरंत अस्पताल पहुँच गईं। जितने वामपंथी छात्र घायल हुए थे उन्होंने उनसे मुलाकात किया लेकिन उन्हें अन्य घायल छात्रों की चोट नहीं दिखी जिसे लेकर सोशल मीडिया पर कांग्रेस की हद से ज्यादा फजीहत हो रही है और दिल्ली चुनावों में इसका असर देखा जा सकेगा। केजरीवाल की बात करें तो दो महीने पहले दिल्ली की जनता का कहना था कि इस बार हर हाल में केजरीवाल लेकिन नागरिकता कानून के समय केजरीवाल के कई विधायक लोगों को भड़काते दिखे, दिल्ली में दंगा भी हुआ और अब टुकड़े गैंग का मामला जिसे केजरीवाल ने ही पाल रखा है और इस कारण केजरीवाल को कम से कम 10 सीटों पर नुक्सान हो सकता है। 

कल की हिंसा को लेकर कांग्रेस, राहुल, प्रियंका ने जितने ट्वीट किये हैं उस पर लगभग 90 फीसदी प्रतिक्रियाएं कांग्रेस के खिलाफ हैं जिसे देख लग रहा है कि कांग्रेस दिल्ली में अपने पैर पर घातक प्रहार कर रही है। जेएनयू के टुकड़े गैंग तो देश के लगभग 90 फीसदी लोग पसंद नहीं करते लेकिन कांग्रेस अधिकतर ऐसे लोगों का ही साथ देती है जिन्हे देश के लोग पसंद नहीं करते और यही कारण है कि केंद्र में कांग्रेस 2019 में भी सत्ता से दूर रही।
जेएनयू में कल जो कुछ हुआ वो नहीं होना था लेकिन सवाल लेफ्ट के छात्रों पर भी उठ रहे हैं। बवाल उन्होंने ही शुरू किया था जिसके वीडियो अब वाइरल होने लगे हैं। पहले लेफ्ट छात्रों ने हमला किया था उसके बाद नकाबपोश आये थे। वाइरल वीडियो में छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष को देखा जा रहा है। ये वीडियो उस समय का है जब घोष पर हमला नहीं हुआ था। देखें कुछ वीडियो
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

India News

Post A Comment:

0 comments: