Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

6 माह के कार्यकाल में बब्बर शेर साबित हुए गृह मंत्री शाह, राज्य सभा में नागरिकता बिल पास

Citizenship Bill In Rajya Sabha Passed
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

नई दिल्ली:  लगभग 6 महीने पहले अमित शाह देश के  गृह मंत्री बने थे और अपने इस कार्यकाल के दौरान उन्होंने वो काम किया जो आजादी के बाद लगभग अब तक कोई गृह मंत्री नहीं कर पाया। अमित शाह के 6 महीने का कार्यकाल सब पर भारी है। इस दौरान तीन तलाक बिल पास हुआ और जम्मू-कश्मीर से 35-A ही नहीं अनुच्छेद 370 भी गायब और माचिस की एक तीली तक नहीं जली जबकि देश के जेहादी और नक्सली समर्थक जम्मू-कश्मीर में खून-खराबे की  तस्वीरों का इन्तजार करते रहे। 

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर पर फैसला सुनाया और कुछ गलत लोगों और कुछ पार्टियों के नेताओं को उम्मीद थी कि अब तो देश में आग लग ही जाएगी और वो भाजपा को घेर सकेंगे लेकिन उस दौरान उत्तर प्रदेश सहित आस-पास के राज्यों में सब कुछ ठीक रहा और यूपी में वो ऐतिहासिक दिन रहा जब एक भी एफआईआर नहीं दर्ज हुई। 
अब राज्य सभा में नागरिकता बिल पर वोटिंग हो रही है। ताजा जानकारी के मुताबिक नागरिकता बिल को सलेक्ट कमिटी के पास भेजने का प्रस्ताव राज्यसभा में गया है।  पक्ष में 99 और विपक्ष में 124 वोट पड़े हैं। वहीं शिवसेना ने सदन से वॉकआउट कर दिया है।  शिवसेना के सांसद वोटिंग में हिस्सा नहीं लेंगे। शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि शिवसेना नागरिकता संशोधन विधेयक के लिए वोटिंग का बहिष्कार कर रही है।

सोशल मीडिया पर गृह मंत्री अमित शाह को कोई शेर कह रहा है तो कोई बब्बर शेर तो कोई देश का लौह पुरुष बोल रहा है। अमित शाह ने पहले लोकसभा और आज राज्य सभा में जिस तरह से विपक्ष को जबाब दिया उससे अधिकतर लोग उनके कामकाज करने के तरीके से खुश हैं। शाह एक दिन पहले लोकसभा और आज राज्यसभा में शेरों जैसे दहाड़ते दिखे और इसके पहले अनुच्छेद 370 हटाने के समय भी वो शेरो जैसे ही दहाड़ रहे थे। 

नागरिकता बिल को लेकर कई पार्टियों के नेता देश के मुसलमानों को डरा रहे थे जिसके बाद भाजपा संसदीय दल की बैठक में कहा गया कि सभी सांसद अपने क्षेत्र की जनता को बताएं कि इस बिल से मुसलमानों को कोई नुक्सान नहीं होगा। इसके बाद कई मंत्रियों और  सांसदों ने ट्वीट या अन्य तरीके से अपने क्षेत्र के मुसलमानों तक सन्देश पहुँचाया कि वो किसी के बहकावे में न आएं। 

इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मुसलमानों को डरने की जरूरत नहीं है। नागरिकता बिल में किसी की भी नागरिकता लेने का प्रावधान नहीं है।  देने का प्रावधान है।  बंगाल समेत देश के सभी राज्यों में ये बिल लागू होगा। इस दौरान भी सोशल मीडिया पर टुकड़े गैंग, जेहादी गैंग, नक्सली और माओवादी गैंग देश के मुसलमानों को भड़काने में लगा रहा लेकिन देश के मुस्लिम भी अब शिक्षित हैं इन गैंगों  के गुर्गों के बहकावे में नहीं आये। मुस्लिम समाज के कई लोगों ने हरियाणा अब तक से बताया कि आजादी के बाद अब तक हमारे समाज के एक फीसदी लोग भी सरकारी नौकरी नहीं पाए। हमने से समाज के अधिकतर लोग मेहनत मजदूरी कर अपने बच्चे पालते हैं, कोई मटन-चिकेन बेंचता है तो कोई पंचर लगता है जबकि चुनाव के समय हमारे वोटों के कई लोग ठेकेदार बन जाते हैं। मुस्लिम समाज के एक व्यक्ति ने बताया कि हाल में दिल्ली अग्निकांड में हमारे समाज के अधिकतर लोगों की असमय जान चली गयी लेकिन हमारे वोटों के ठेकेदारों ने आवाज तक नहीं उठाई। 
अब आते हैं नागरिकता बिल पर और राज्य सभा में चल रही वोटिंग पर तो अब राज्य सभा में नागरिकता बिल भी पास हो गया है। गृह मंत्री अमित शाह ने नागरिकता संशोधन विधेयक को पारित करने का प्रस्ताव दिया था जिसके बाद वोटिंग शुरू हुई और राज्य सभा में खामोशी छा गई। देश के करोड़ों लोगों की निगाह भी राज्य सभा पर टिकी थी क्यू कि दोपहर 12 बजे से बहस चल रही थी। 

 राज्य सभा में नागरिकता संशोधन विधेयक के पक्ष में 125 और विपक्ष में 105  वोट पड़े हैं। और इस तरह अमित शाह के कार्यकाल में वो सब हुआ है जो अब तक किसी भी गृह  मंत्री के कार्यकाल में कभी नहीं हुआ। शाह को अभी 6 महीने ही हुए हैं। न जानें आगे क्या गुल खिलाएंगे। 

फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

India News

Post A Comment:

0 comments: