Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

हरियाणा के हर जिले में गीता जयंती पर होगा सामुहिक वैश्विक गीता पाठ: मनोहर

Manohar-Lal-Geeta-Jayanti
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

कुरुक्षेत्र 8 दिसम्बर राकेश शर्मा: मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव के पावन अवसर पर 18 हजार विद्यार्थियों के पवित्र ग्रंथ गीता के 18 अध्यायों के 18 श्लौकों के वैश्विक गीता पाठ की तरंगे पूरी विश्व में गुंजायमान हुई है। इस वैश्विक गीता पाठ को गीता जयंती के अवसर पर हर घर में किया जाए, इसके लिए गीता महोत्सव 2020 को हरियाणा के हर जिले में गीता जयंती के पावन अवसर पर 3 दिनों में सामुहिक वैश्विक गीता पाठ का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद जी महाराज, जूना पीठ के महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद जी महाराज, बाबा भूपेन्द्र सिंह के सहयोग से प्रयास किया जाएगा कि आगामी वर्ष से देश के सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में भी 3 दिवसीय वैश्विक गीता पाठ व अन्य कार्यक्रमों का आयोजन किया जा सके।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल रविवार को थीम पार्क में अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव पर वैश्विक गीता पाठ कार्यक्रम में प्रदेश वासियों को सम्बोधित कर रहे थे। इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उतराखंड की राज्यपाल बेबी रानी, स्वामी ज्ञानानंद जी महारज, महामंडलेश्वर अवधेशानंद जी महाराज, खेलमंत्री संदीप सिंह, सांसद नायब सिंह सैनी, विधायक सुभाष सुधा, विधायक कमल गुप्ता, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव कृष्ण कुमार बेदी, उपायुक्त डा. एसएस फुलिया, केडीबी के मानद सचिव मदन मोहन छाबड़ा, एडीसी पार्थ गुप्ता, सीईओ केडीबी गगनदीप सिंह, आरएसएस के विभाग सहकार्यवाहा डा. प्रीतम सिंह ने दीपशिखा प्रज्जवलित करके विधिवत रुप से 18 हजार विद्यार्थियों के 18 श्लौकी वैश्विक गीता पाठ कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। इस दौरान सभी विद्यार्थियों को बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड लंदन तथा वैश्विक गीता पाठ से अंकित मैडल भी प्रदान किए और मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वैश्विक गीता पाठ में शिरकत करने वाले विद्यालयों में सोमवार को एक दिन का अवकाश करने की घोषणा भी की है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गीता स्थली कुरुक्षेत्र की भूमि से पूरे विश्व के लोगों को गीता जयंती की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि पिछले वर्ष इसी जगह इसी समय 18 विद्यार्थियों के वैश्विक गीता पाठ को बुक ऑफ वल्र्ड रिकार्ड लंदन में दर्ज किया गया। इस रिकार्ड से अंकित मैडल विद्यार्थियों को दिया गया है। सरकार पूरी दुनिया में गीता के प्रचार-प्रसार के लिए काम कर रही है। आज गीता जयंती के पावन अवसर पर भारतीय समयानुसार 12 बजे बहुत से देशों में पवित्र ग्रंथ गीता के उपदेशों की गंूज सूनी जा रही है। इन श्लोकों की तरंगों से पूरी मानव जाति का कल्याण होगा। पवित्र ग्रंथ गीता एक धर्मगं्रथ ही नहीं है अपितू यह ग्रंथ जीवन जीने की एक शैली और इसके उपदेश शास्वत और अमर है जो पूरे विश्व को ज्ञान का संदेश दे रहे है। उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में कानून काल और परिस्थिति के अनुसार बदलते रहते है और भरतीय संविधान में अब तक 100 संसोधन हो चुके है, लेकिन पवित्र ग्रंथ गीता ही एक ऐसा ग्रंथ है जो कभी भी परिवर्तित नहीं होगा। आज से 5157 वर्ष पूर्व इसी धरा से भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को गीता के जो उपदेश दिए थे, उन्ही उपदेशों का अनुसरण आज भी पूरी दुनिया कर रही है।
उन्होंने कहा कि कुरुक्ष्ेात्र में अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव पर लगभग 17 दिनों के लिए कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। राज्य सरकार का प्रयास रहेगा कि गीता महोत्सव 2020 के पावन अवसर पर गीता जयंती के दिन हरियाणा के हर जिले में चाहे लघु स्वरुप हो, 3 दिवसीय सामुहिक वैश्विक गीता पाठ का आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा देश के सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में भी गीता जयंती के अवसर 3 दिवसीय वैश्विक गीता पाठ और अन्य कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए, इसके लिए गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद, महामंडलेश्वर अवधेशानंद जी महाराज, बाबा भूपेन्द्र सिंह प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि लगभग 20 देशों में अंतर्राष्टï्रीय गीता महोत्सव की भागीदारी रही है और फरवरी 2019 में मारीशिस और फिर लंदन में गीता महोत्सव का आयोजन किया गया। अब मार्च 2020 में आस्टे्रलिया और जुलाई में कनाडा में गीता महोत्सव का आयोजन किया जाएगा। इस वर्ष नेपाल ने सहभागी देश के रुप में अपनी भागीदारी की है और नेपाल सरकार ने आश्वासन दिया है कि नेपाल में भी 3 दिनों के लिए गीता जयंती का आयोजन किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरी दुनिया में गीतामय वातावरण बने और हर जगह छोटे और बड़े कार्यक्रमों का आयोजन हो, प्रत्येक घर में मार्गशीर्ष एकादसी के दिन गीता का पाठ हो, इस प्रकार के प्रयास किए जा रहे है। पवित्र ग्रंथ गीता मानव जाति को कर्म करने का संदेश देती है। जो व्यक्ति लालसा और चिंता से ग्रस्त होता है, उसका निवारण पवित्र ग्रंथ गीता में निहित है। उन्होंने कहा कि नो दिसम्बर को एंटी करप्शन दिवस के रुप में मनाया जा रहा है। इस दिन अगर सभी लोग गीता को अपने जीवन का आधार बनाने का संकल्प ले तो देश और प्रदेश से भ्रष्टïाचार समाप्त हो जाएगा।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Haryana News

Post A Comment:

0 comments: