Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

हरियाणा रोड़वेज वर्कर्स यूनियन ने किया प्रदर्शन

Protest-Haryana-news
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

रोहतक से हर्षित सैनी की रिपोर्ट- हरियाणा रोड़वेज वर्कर्स यूनियन रजि. नम्बर 1 स्टेट कमेटी के आह्वान पर पूरे प्रदेश में सभी डिपों व सब डिपो पर धरना प्रदर्शन किया गया। रोहतक डिपो में धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता हिम्मत राणा ने की और मंच संचालन जिला सचिव जयकुंवार दहिया द्वारा किया गया।  
      हरियाणा रोड़वेज वर्कर्स यूनियन के पदाधिकारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने  महानिदेशक के नाम महाप्रबन्धक गुलाब सिंह दूहन के माध्यम से ज्ञापन भेजा गया क्योंकि महानिदेशक के अड़ियल रवैये व सरकार की गलत नीतियों के कारण आज रोहतक डिपो में जोरदार विरोध प्रदर्शन किया गया है। 

 हरियाणा रोड़वेज वर्कर्स यूनियन रोहतक के डिपो प्रधान हिम्मत राणा ने कहा कि बार-बार परिवहन मंत्री व परिवहन महानिदेशक से बातचीत करने के बाद भी आज तक जो कर्मचारियों की लम्बित मांगें हैं, उनका कोई भी समाधान नहीं किया जा रहा है।
        उन्होंने बताया कि हरियाणा रोडवेज के महानिदेशक द्वारा बातचीत के लिए समय दिया था लेकिन चण्डीगढ़ मिलने गए सर्व कर्मचारी संघ के प्रतिनिधिमंडल के साथ महानिदेशक ने बातचीत करने से साफ इंकार कर दिया। सिर्फ यही नहीं, उनका व्यवहार भी काफी आपत्तिजनक था। इसी मुद्दे और अपनी मांगों को लेकर आज हरियाणा रोडवेज के 24 डिपो और 13 सब डिपो में रोडवेज कर्मियों ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया है।
        हिम्मत राणा ने बताया कि वर्ष 2018 में आन्दोलन के दौरान अम्बाला में एक कर्मचारी की मौत हो गई थी। उस समय अधिकारियों ने मृतक कर्मी के परिजनों को 8 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया था लेकिन आज 2 साल बीत जाने के बाद भी यह मुआवजा नहीं दिया गया है, जिस कारण रोडवेज कर्मियों में जबरदस्त आक्रोश है।

        हरियाणा रोड़वेज वर्कर्स यूनियन रोहतक के डिपो प्रधान ने बताया कि रोडवेज कर्मियों की 24 सूत्रीय मुख्य मांगों में परिचालक का पे ग्रेड बढ़ाया जाए व परिचालक को ई- टिकटिंग मशीन उपलब्ध करवाई जाए। वर्ष 1992 से 2002 तक लगे कर्मचारियों को नियुक्ति तिथि से पक्का किया जाए। इसके अलावा कर्मचारियों को जोखिम भत्ता देने, रोड़वेज बसों के बेड़े में और 10000 बस बढ़ाने, पंजाब के समान वेतन लागू करने, निजीकरण, आऊट सोर्सिग पालिसी पर रोक लगाने और पक्की भर्ती करने बारे, कोरोना महामारी के दौरान विभाग को हुए घाटे की भरपाई के लिए 850 करोड़ रुपए का पैकेज देने की मांग भी की गई है। 

   प्रदर्शन में उपस्थित सर्व कर्मचारी संघ के नेताओं ने सरकार को चेतावनी भी दी है कि उनकी सभी मांगों को तुरन्त प्रभाव से लागू किया जाए अन्यथा किसी भी निर्णायक आन्दोलन की घोषणा हो सकती है, उसकी जिम्मेवारी हरियाणा सरकार की होगी। इस धरना प्रदर्शन में सैंकड़ों कर्मचारियों ने भाग लिया।
     इस प्रदर्शन में सर्व कर्मचारी संघ उपाध्यक्ष सविता मलिक, वन विभाग से राज्य प्रधान जोगेन्द्र करौंथा, सर्व कर्मचारी संघ राज्य सचिव बिजेन्द्र बैनिवाल, रिटायर कर्मचारी संघ से कामरेड रामकिशन, जिला प्रधान कर्मवीर सिवाच, जिला सहसचिव प्रेम घिलोडिय़ा, वीएलडीए के जिला सचिव जगवीर सिवाच, सुमेर सिवाच, अमित, यशपाल, रणवीर दहिया, राजपाल पुनिया, धर्मेन्द्र, सुनील, नरेन्द्र, नरेन्द्र बखेता, सुरेन्द्र दांगी व तस्वीर हुड्डा भी मौजूद रहे।

फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Haryana News

Post A Comment:

0 comments: