Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

ससुराल वालों की कैद से 5 साल बाद छूटी महिला ने लगाए मारपीट, दुराचार और दहेज़ उत्पीड़न के आरोप

हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...
nit-3-women-complaint-against-sasural-for-dahej-rape-torture

फरीदाबाद, 2 मार्च: NIT-3 की रहने वाली और यूपी कोशी कलां में व्याही एक महिला अपने ससुराल वालों के खिलाफ शारीरिक, मानसिक और दहेज़ प्रताड़ना की शिकायत लेकर थाने पहुंची है, कई दिनों तक जब NIT महिला थाने ने मुकदमा दर्ज नहीं किया तो उसने CM विंडो में भी शिकायत दी है.

cm-window-complaint

शिकायत में लिखा गया है कि मैं NIT फरीदाबाद की रहने वाली हूँ। मेरे साथ मेरे ससुराल वालों ने बहुत ही अमानवीय व्यवहार किया है जिसका सिलसिलेवार ब्यौरा दे रही हूँ। कृपया इसे ही मेरा ब्यान समझा जाए और मुझे न्याय दिलाया जाए। 
  1. यह कि मेरी शादी दिनांक 29.08.2014 को ललित मोहन पुत्र श्री शिव कुमार निवासी मकान नंबर 114, पंचशील कॉलोनी, कोशी कला, उत्तर प्रदेश, के साथ हिन्दू रीति रिवाज से हुई। इस शादी में मेरे माता पिता ने हैसियत से बढ़कर खर्चा किया था तथा दहेज़ में सोने चांदी के आभूषण, कई फर्नीचर, कई इलेक्ट्रॉनिक सामान, मेरे ससुराल वालों व् उनके रिश्तेदारों के कपडे व् शगुन के पैसे व् सोने के सामान अंगूठी टॉप्स आदि भी दिया था। दान दहेज़ की सूची इस शिकायत पत्र के साथ संलग्न कर रही हूँ। 
  2. यह कि मेरी शादी के कुछ दिनों बाद से ही मेरे ससुराल वाले - मेरे पति, सास, ससुर, ननद  मुझसे और दहेज़ लाने की मांग करने लगे, मुझे हर समय ताने मारने लगे और मुझे तरह तरह से मानसिक और शारीरिक तौर पर परेशान करने लगे। इन लोगों ने मुझे पांच साल बंधक बनाकर रखा, इस दौरान मुझे खाने में बचा खुचा और जूठन खिलाया और मुझे अकेले मायके भी नहीं जाने दिया, एक दो बार ही मायके लेकर आये और एक दो घंटों बाद साथ लेकर चले भी गए ताकि मैं अपनी परेशानी किसी को बता ना सकूं। 
  3. इन पांच वर्षों के दौरान मेरे ससुराल वाले मुझसे घर का सारा काम झाड़ू पोछा, कपडे धोने और साफ़ सफाई करवाते थे। इस दौरान मेरे दो बच्चे दीनिशा (लड़की उम्र साढ़े 4 साल) और लवीश (लड़का उम्र करीब ढाई साल) हुए। 
  4. यह कि जब मैं गर्भवती थी तो भी मेरे ससुराल वालों ने मुझे कभी मायके नहीं आने दिया और मुझसे ही घर का सारा काम करवाते थे और मेरी सास मेरे काम में नुक्श निकालकर अक्सर मेरे साथ मारपीट करती, मेरी ननद भी मेरे बाल पकड़कर मुझे मारती पीटती थी। मेरा ससुर मुझसे जबरन पैर दबवाता था, मालिश करवाता था और और मेरे साथ जबरदस्ती कई बार रेप किया। जब मैंने इसकी शिकायत पति से की तो उन्होंने भी मुझे मारा पीटा जिसकी वजह से मेरे अंदर डर बैठ गया। 
  5. यह कि जब दिनांक 14.08.2017 को मेरे लड़के लवीश का हॉस्पिटल में जन्म हुआ तो मेरे ससुराल वालों ने डेलिवरी का खर्चा 25000 रूपया मेरे ससुराल वालों से माँगा। तुरंत रूपया ना देने पर मेरी सास व् ससुर ने मेरे माँ बाप को मारपीट करके भगा दिया और घर आने के लिए मना कर दिया। इसके अलावा 15 अगस्त 2019 को जब मेरा भाई और पिता रक्षाबंधन पर मेरी ससुराल आये तो मेरे ससुराल वालों ने उनके साथ भी बदतमीजी और गाली गलौज की। 
  6. यह कि मेरे पिता जी ससुराल में मेरे साथ हो रहे अत्याचार का सदमा बर्दास्त नहीं कर पाए और दिनांक 30.01.2020 को उनकी मृत्यु हो गयी। मुझे सूचना मिलने के बाद मेरे पति मुझे लेकर मायके आये और अंतिम संस्कार होते ही मुझे वापस लेकर चले गए ताकि मैं किसी को अपना दर्द ना बता सकूं। 
  7. यह कि दिनांक 30.01.2020 को मेरे पिता के अंतिम संस्कार के बाद मेरे ससुराल पहुँचते ही मेरी सास और ननद ने मुझे मारना पीटना शुरू कर दिया और कहा कि अब तू अगर अपने मायके जाएगी तो अपने भाई और माँ से एक लाख रूपया नकद और एक कार या कार के पैसे अपने साथ लाएगी, अगर तू खाली हाथ आयी तो हम तुझे पंखे से लटकाकर मार देंगे और अपनी रिश्तेदार कमलेश (ससुर की बहन) जो पुलिस में है, उससे कहकर मामले को रफा दफा करवा देंगे। 
  8. यह कि दिनांक 02.02.2020 को जब मैं अपने पिताजी की रश्म पगड़ी में अपने पति के साथ वापस मायके आयी तो मेरे घर वालों ने किसी बहाने से पति को बातों में उलझाकर मुझे अलग ले जाकर पूछताछ की तो मैंने अपने परिवार वालों से अपना दर्द बयान किया। मैंने उन्हें बताया कि अगर एक लाख रुपये और कार लेकर मैं वापस नहीं गयी तो मेरे ससुराल वाले मुझे पंखे से लटकार मार देंगे। मेरी जान बचाने के लिए मेरी ससुराल वालों ने मुझे पति के साथ वापस ससुराल नहीं जाने दिया। 
  9. यह कि मेरे ससुर शिव कुमार ने पिछले कई वर्षों से मुझे लगातार कोई दवाई खिलाते रहे जिसकी वजह से मुझे सुस्ती रहने लगी। मेरी कमजोरी दूर करने और शारीरिक मानसिक हालत ठीक करने के लिए मेरे मायके वाले मेरा इलाज न्यूरो साइक्रियाट्रिक क्लिनिक, ओल्ड फरीदाबाद में डॉ SC गर्ग से करा रहे हैं। मैं अब खुद को नार्मल महसूस करते हुए अपने पूरे होशो हवास में अपने साथ हुई आपबीती सुना रही हूँ।इलाज की वजह से मेरे अंदर का डर दूर हुआ है और आपने मैं अपने साथ हुए अत्याचार को बता पा रही हूँ।   
अतः महोदया जी से प्रार्थना है कि उपरोक्त दोषीगण मेरे पति ललित मोहन, मेरे ससुर, मेरी सास, मेरी ननद के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए ताकि समाज के दहेज़ लोभियों को बलात्कारियों को कड़ा सबक मिले। आपकी अति कृपा होगी। 
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: