Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

हरियाणा में किसानो की फसलों पर कहर बनकर टूटे ओले, बारिश ने भी रुलाया 

Rain-In-Haryana
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

हर्षित सैनी: रोहतक, 5 मार्च। कल आई तेज ओलावृष्टि व् बारिश के कारण किसानों की सरसों, गेंहू व सब्जियों की फसल को भारी नुक्सान पहुंचा है। आज जिले के दर्जनों  गांंव के किसानोंं ने उपायुक्त कार्यालय पर एकत्रित होकर स्पेशल गिरदावरी करवाने व बर्बाद हुई फसलों का मुआवजा देने की मांग की है।
              जिला उपायुक्त आरएस वर्मा ने किसानों को गिरदावरी करवाने का आश्वासन दिया है। किसानों का कहना था कि अगर प्रशासन जल्द इस पर कोई कार्यवाही शुरू नहीं करता तो आगे आंदोलन भी किया जाएगा।
         किसान सभा पदाधिकारियों ने बताया कि बुधवार को हुई ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुक्सान पहुंचा है। किसानों की सरसों की फसल की तो इस महीने के लास्ट में कटाई शुरू हो जाती है, जो अब कई गांवों में बर्बाद हो चुकी है। इसी तरह गेंंहू की फसलों और सब्जियों को भी भारी नुक्सान पहुंचा है।

        उन्होंने बताया कि अचानक बारिश व ओलावृष्टि से रोहतक के दर्जनों गांवों शिमली, पहरावर, करोंथा, मायना, कारोर, खेड़ी साध, खरावड़, बालंद, सैमाण, फरमाना खास, भैणी चंद्रपाल, भैणी महाराजपुर व भंभेवा में फसलों को भारी नुक्सान पहुंचा है। इस वजह के किसानों को भारी आर्थिक नुक्सान उठाना पड़ेगा।
        किसानों ने बताया कि सरकार से पीड़ित किसानों ने एकजुट हो नुक्सान का तुरंत प्रभाव से जायजा लेने व 50000 रुपए प्रति एकड़ मुआवजे की मांग की है। इसके साथ ही मुआवजा मई महीने तक जारी किया जाए, इसके लिए प्रशासन से विशेष अपील की गई है।

       उन्होंने बताया कि इन गांवों की रबी की फसल भी अक्टूबर महीने में बर्बाद हो गई थी व अब दोबारा आर्थिक नुक्सान झेलना पड़ रहा है। अनेक किसान तो कर्जा लेकर खेती करने को मजबूर हैं।
               किसान सभा ने मुआवजा में देरी होने पर भी प्रशासन के सामने रोष प्रकट किया। उनका कहना था कि आज तक पिछले वर्ष 2017 व 2018 का मुआवजा नहीं मिला है। किसान बार-बार चक्कर काटने को मजबूर होते हैं। प्रशासनिक स्तर पर होने वाली इस देरी का खामियाजा किसानों को उठाना पड़ता है।

         किसान नेताओं ने कहा कि आज एक तरफ सरकार की किसान विरोधी नीतियों की मार खेती करने वाला किसान झेल रहा है तो दूसरी तरफ मौसम व प्राकृतिक आपदा का भी शिकार होना पड़ता है। इसलिए किसान सभा जल्द से जल्द सरकार से किसानों के हित में फैसले लेने की मांग की है।
       किसान सभा अध्यक्ष प्रीत सिंह ने बताया कि 7 मार्च को प्रदेश भर के किसान अपनी मांगों को लेकर जींद में बड़ी किसान एकता रैली करेंगे, जिसमें पिछले दिनों प्रदेश भर में व कल हुई भारी ओलावृष्टि से पहुंचे नुक्सान के बदले मुआवजा देने की मांग भी जोर शोर से उठाई जाएगी। इसलिए किसान सभा ने किसानों से रैली में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने की भी अपील की है।
             इस मौके पर बलवान सिंह, दिनेश, कला मैना, जयदेव, सुमेर, आनन्द, अंग्रेज, प्रेम सिंह, नफे, भीमल व जय सिंह आदि शामिल थे।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

India News

Post A Comment:

0 comments: