Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

दिल्ली को डंस रहे हैं केजरीवाल के पाले हुए खतरनाक सांप, AAP की अब खैर नहीं 

Delhi-Sps-News
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

नई दिल्ली:  9 फरवरी 2016 को जेएनयू विश्वविद्यालय परिसर में हुए एक कार्यक्रम में  देश विरोधी नारे लगे थे ,
इस सिलसिले में जेएनयू छात्रसंघ के उस समय के अध्यक्ष कन्हैया कुमार और उनके दो साथियों उमर ख़ालिद और अनिर्बन को गिरफ़्तार किया गया था।  तीनों बाद में ज़मानत पर छूट गए. लेकिन कन्हैया कुमार इससे पहले 23 दिन जेल में रहे। इस केस में पिछले साल दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट पेश की लेकिन दिल्ली सरकार ने इस चार्जशीट पर हस्ताक्षर नहीं किया और यही वजह है कि दिल्ली में जेहादियों वामपंथियों के हौसले दिन प्रतिदिन बुलंद होते चले गए। दिल्ली हिंसा के असली खलनायक  वही लोग हैं जो उस समय टुकड़े गैंग के साथ खड़े थे और आज भी उनके साथ ही हैं। कोई शाहरुख़ को अनुराग मिश्रा बता रहा है तो कोई ताहिर हुसैन को बेगुनाह बता रहा है। दिल्ली के लोग भी मुफ्तखोरी के जाल में ऐसा फंसे कि इस बार भी केजरीवाल को कुर्सी पर बैठा दिया लेकिन दिल्ली में अब जो हो रहा है उससे वो लोग भी केजरीवाल को घेर रहे हैं जिन्होंने हाल में उन्हें भारी मतों से जिताया और दिल्ली में आम आदमी पार्टी की फिर सरकार बनी। 

अगर उस समय उमर खालिद जैसे जेहादियों पर कार्यवाही होती तो दिल्ली के किसी जेहादी का हौसला इतना न बढ़ता और अपनी छत पर बम रखने के पहले ताहिर हुसैन जैसे लोग सौ बार सोंचते और यही नहीं कोई जेहादी ढाई महीने से एक मुख्य सड़क न जाम कर पाता। दिल्ली हिंसा में लोगों को भड़काया गया और भड़काने वाले केजरीवाल के नेता और उनके पालतू जेहादी, वामपंथी और टुकड़े गैंग के लोग हैं और यही लोग शाहीन बाग़ में भी लोगों को सम्बोधित करते दिखे। हाल में दिल्ली को पूरी तरह से बंधक बनाने का प्रयास किया। 

कुछ हिन्दू संगठन या कपिल मिश्रा जैसे नेता आवाज न उठाते तो दिल्ली पूरी तरह से जेहादियों के कब्जे में होती। जेहादी दिल्ली को कश्मीर बनाने का सपना देख रहे हैं। कश्मीर से जैसे लगभग तीन दशक पहले लाखों कश्मीरी पंडित भगाये गए थे। सैकड़ों पंडितों का कत्लेआम हुआ था। बहन बेटियों की इज्जत लूट ली गई थी वैसे ही दिल्ली में करने का प्लान था। इस प्लान में संभव है कई आतंकी संगठन भी शामिल हों। ढाई महीने से ज्यादा समय से हजारों लागतों को शाहीन बाग़ में बिरयानी कोई ऐसे ही नहीं खिलायेगा। 

आजकल बिना फायदे के भिखारियों को भीख तक नहीं दी जाती ,उन्हें एक रूपये की भीख देने वाले कहते हैं कि बाबा अच्छी तरह से हमें दुआएं दें। मंदिर में कोई एक रूपया दान देता है तो भगवान् से बहुत कुछ मांगता है। शाहीन बाग़ की बात करें तो केजरीवाल के कई बड़े नेता उस प्रदर्शन का समर्थन कर चुके हैं। कई नेता अब भी आईबी अधिकारी की हत्या करने वाले ताहिर को बचाते हुए दिख रहे हैं। दिल्ली की जंग तो केजरीवाल ने जीत ली लेकिन कई राज्यों में इनके उम्मीदवार जमानत भी नहीं बचा पाते हैं शायद लोग टीम केजरीवाल को समझ चुके हैं। कल बुराड़ी पहुंचे केजरीवाल को लोगों ने भगा दिया जिसे देख लगा कि दिल्ली के लोगों का अब केजरीवाल से मोहभंग होने लगा है। देखें केजरीवाल से कैसे नाराज होने लगे दिल्ली के लोग। हाल में वोट दिया था अब गलियां दे रहे हैं। 
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

India News

Post A Comment:

0 comments: