Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

जुमे के बाद नहीं मिलेगी शाहीन बाग़ में मुफ्त बिरयानी, न 500 रूपये- जेहादियों की नींद हराम 

Delhi-Shaheen-Baugh-news
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

नई दिल्ली: आज दोपहर बाद सोशल मीडिया पर अफवाह उड़ी कि दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग़ की सड़क पर 39 दिनों से कब्जा कर बैठे जेहादियों के समर्थकों को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। इस खबर की पुष्टि अभी तक नहीं हो सकी है लेकिन कल दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग में प्रोटेस्ट समाप्त कराने की दिशा में पहल के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया था।  दिल्ली पुलिस ने ट्विटर पर प्रोटेस्ट खत्म कर सड़क खाली करने की अपील की थी।  दिल्ली पुलिस ने अपने ट्वीट में कहा था कि  हमने पहले भी कई बार आप लोगों से धरना खत्म करने की अपील की है।  हमारे पास कई और शिकायतें आई हैं, जिनमें कहा गया है कि रोड नम्बर 13A ब्लॉक होने की वजह से लोगों को बहुत परेशानी हो रही है। 
दिल्ली पुलिस ने लिखा था कि स्कूल जाने वाले बच्चों को. छात्रों को ट्यूशन, कोचिंग सेंटर और स्कूल जाने में परेशानी हो रही है। पुलिस ने  अभिभावकों ने भी परेशानियों का जिक्र किया था क्योंकि अब बोर्ड के एग्जाम आने वाले हैं। पुलिस ने लिखा था कि  लोकल डेली पैसेंजर, लोकल रेजिडेंस और व्यापारियों को भी परेशानी ही रही है।  इसलिए हम एक बार फिर शाहीन बाग के प्रोटेस्टर से अपील करते हैं कि प्रोटेस्ट खत्म करें और रास्ता साफ करें ताकि ट्रैफिक नॉर्मल हो। 
आज पुलिस ने क्या कहा इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है लेकिन दोपहर बाद जब सोशल मीडिया पर कहा गया कि दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग़ के जेहादियों को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है तो जेहादियों का सोशल मीडिया पर गुस्सा देखा जा रहा है। कई जेहादी हरियाणा अब तक के पास फोन कर चुके हैं और इनमे से कई लउकल कांग्रेसी नेता हैं। इन जेहादियों का कहना है कि ऐसी खबर क्यू छापी गई। इन जेहादियों की भाषा से लगता है कि शाहीन बाग़ की सड़क जाम करवाने में कांग्रेस की बड़ी भूमिका है और कांग्रेस जेहादियों का साथ दे रही है। थरूर, अय्यर और दिग्विजय शाहीन बाग़ जाकर जेहादियों का हौसला बढ़ा चुके हैं। 
दिल्ली पुलिस के अल्टीमेटम की अब तक पुष्टि नहीं हो सकी है लेकिन जिस तरह से जेहादी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं उसे देख लगता है कि यही लोग शाहीन बाग़ की सड़क जाम करवा बैठे हैं। फरीदाबाद से भी कुछ कांग्रेस के टुच्चे नेताओं के फोन आये। जिसे देख लगा कि ये भी जेहादियों के साथ हैं। 

दोस्तों आपको बता दें कि गरीब मुस्लिम परिवार और शिक्षित मुस्लिम परिवार अपने काम काज में बिजी है। इस समाज के शिक्षित लोग सेना में हैं पुलिस में हैं और अन्य विभागों के अधिकारी हैं। अनपढ़ लोगों में जिन्होंने छल कपट कर पैसा कमा लिया है वो इसका विरोध कर रहे हैं। इस समाज के देश के लाखों लोग आज भी दिहाड़ी कर अपने बच्चों के पेट पालते हैं और कई पंचर वगैरा लगाते हैं। दिहाड़ी मजदूर रोज अपने काम पर जाते हैं और पंचर लगाने वाले भी। इस समाज के लोगों को भड़काया जा रहा है। उन्हें मौत के मुँह में धकेलने का प्रयास किया जा रहा है और एक महीने पहले 20 से ज्यादा लोगों का क़त्ल भी करवा दिया गया है। 
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Haryana News

Post A Comment:

0 comments: