Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

हरियाणा में अब नहीं चलेगी नक़ल, संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर होगी अतिरिक्त पुलिसबल की तैनाती 

Haryana-Education-News
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

चण्डीगढ़, - हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल ने कहा कि सरकार प्रदेश में बोर्ड की परीक्षाएं नकल रहित आयोजित करवाने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने इस सम्बंध में सभी उपायुक्तों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने जिले में नकल रहित परीक्षा आयोजित करवाना सुनिश्चित करें और यदि कोई भी कर्मचारी या अधिकारी नकल करवाने में सम्मिलित पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि जिला स्तर पर हैल्पलाईन व कंट्रोल रूम बनाया जाए ताकि कोई भी व्यक्ति परीक्षा में होने वाली गड़बड़ी की सूचना पुलिस को दे सके।

        मुख्यमंत्री कल  करनाल के लघु सचिवालय के सभागार में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग से जुड़े अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि कईं बार देखने में आया है कि प्रश्र पत्र लीक हो जाते हैं, इसके लिए प्रश्र पत्र कड़ी सुरक्षा में रखे जाएं और उपायुक्त परीक्षा से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों की बैठक करे उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश दें। इसके लिए उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक जो परीक्षा केंद्र संवेदनशील है वहां पर अतिरिक्त पुलिसबल तैनात किया जाए।  उन्होंने बताया कि शिक्षा विद्यार्थी का मूल आधार है, यदि परीक्षा ही नकल से पास हो तो विद्यार्थी का भविष्य उज्ज्वल नहीं हो सकता, यह विद्यार्थी, अभिभावक व समाज के साथ एक बड़ा खिलवाड़ है। हम सबको मिलकर प्रदेश से परीक्षाओं में नकल के कलंक को मिटाने के लिए काम करना है। उन्होंने कहा कि जो विद्यार्थी नकल करके प्रमाण पत्र प्राप्त करते हैं, वे जीवन में आत्मविश्वास के साथ आगे नहीं बढ़ सकते। विद्यार्थियों की शिक्षा का आधार अच्छा बनें ताकि वे समाज में आत्मविश्वास से आगे बढ़ सकें।

        मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से कहा कि महिलाओं को स्वावलंबी बनाने, सुरक्षा देने व उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के लिए महिला दिवस 8 मार्च को पूरे प्रदेश में एक उत्सव के रूप में मनाया जाएगा। इस दिवस के अवसर पर जिला स्तर पर पिंकाथन का आयोजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम में एनजीओ, सामाजिक संगठनों, कॉलेज की छात्राओं, सरकारी महिला कर्मचारी, कम्यूनिटी पुलिस की महिलाएं भाग लेंगी। यह पिंकाथन सुबह 7 बजे से आरंभ होगी। पिंकाथन 5 कि व 10 किमी तक की होगी। इसके बाद इसी कार्यक्रम को मद्देनजर रखते हुए 10 बजे किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करने वाली महिलाओं का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा और इन कार्यक्रमों में मुख्यालय से मुख्य अतिथि भेजे जाएंगे। सुबह 11 बजे गुरुग्राम में आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम से स्वयं मुख्यमंत्री महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर चर्चा करेंगे। उन्होंने बताया कि उपमंडल स्तर पर भी यह कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे तथा महिला दिवस पर ग्राम सभा आयोजित करके महिलाओं की सुरक्षा से संबंधित कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे और महिलाएं शपथ लेंगी कि हम समाज में नशा जैसी बुराई के खिलाफ आवाज उठाएंगी और अपने घरों में प्रवेश नहीं करने देंगी। उन्होंने उपायुक्तों को निर्देश दिए कि उपमंडल स्तर पर भी किसी अधिकारी व किसी संस्था के जन प्रतिनिधि को मुख्य अतिथि जरूर बुलाएं।

        मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग  के माध्यम से जानकारी देते हुए बताया कि बच्चों, गर्भवती महिलाओं, दूध पिलाने वाली माताओं में अनीमिया की कमी पाई जा रही है। इसके लिए महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग एवं पंचायत विभाग द्वारा पोषण अभियान चलाया जाए। इसके लिए 8 मार्च से 22 मार्च तक विशेष अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस पखवाड़े के दौरान घर-घर जाकर अनीमिया से ग्रस्त की पहचान करके उन्हें पोषक तत्वों के बारे में जागरूक करें।

        मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि वर्ष 2020-21 के बजट के लिए सभी अधिकारी अब से ही अपने-अपने विभाग से संबंधी बजट का अध्ययन करें, पिछले कार्यों को पूरा करवाएं और नए कार्यों की तैयारी करें। इस वित्तीय वर्ष में कम खर्च करके अच्छी आऊटपुट देने का प्रयास करें। उन्होंने कहा कि यह बजट आम जनता का बजट है। हर वर्ग के लिए फायदेमंद होगा, इस बजट को तैयार करने के लिए 18 विभाग, स्टॉक होल्डरों, पंचायतीराज संस्थाओं, स्थानीय निकाय, महिला संगठनों, कृषि औद्योगिक इकाईयों के प्रतिनिधियों, विधायकों व सांसदों से सुझाव लिए हैं।

        मुख्यमंत्री ने मीडिया से बातचीत में कहा कि पिछले 5 साल में प्रदेश में शिक्षा के स्तर में काफी सुधार हुआ है। मेवात व नूंह जैसे जिलों में भी शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ावा मिला है और बेहतर परिणाम मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस वर्ष शिक्षा के लिए बजट में अभूतपूर्व वृद्धि की गई है। उन्होंने कहा कि हमारे उद्देश्य केवल बच्चों के भविष्य को उज्जवल बनाना है।

        मुख्यमंत्री ने पत्रकारों के प्रश्र के उत्तर में बताया कि करनाल जिला के असंध उपमंडल के गांव उपलाना के रहने वाले मनिन्द्र जिसकी अमरीका में मृत्यु हो गई, उसके लिए हरियाणा सरकार हरसंभव सहयोग कर रही है। हरियाणा सरकार ने आर्थिक सहयोग के लिए 10 लाख रुपये की राशि भी दी है और उनके शव को लाने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए वह विदेश मंत्रालय में बात कर रहे हैं।

        वीडियो कान्फ्रेंसिंग में डीजीपी श्री मनोज यादव ने मुख्यमंत्री को आश्वासन दिलाया कि हरियाणा पुलिस की ओर से बोर्ड की परीक्षा को नकल रहित बनाने के लिए हरसंभव सहयोग किया जाएगा। उन्होंने जिला के पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह ग्रामीण क्षेत्र व शहरी क्षेत्र में परीक्षा के दौरान पीसीआर का विशेष इंतजाम करें ताकि स्ट्राँग रूम में व्यापक पुलिसबल तैनात करें। एक परीक्षा अधीक्षक के साथ प्रश्र पत्र ले जाने व उत्तर पुस्तिका लाने के लिए पुलिसबल की तैनाती करें।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Haryana News

Post A Comment:

0 comments: