Faridabad Assembly

Palwal Assembly

Faridabad Info

10 हजार आबादी वाले गांवों में करवाई जाएगी सीवरेज की व्यवस्था-दुष्यंत चौटाला

Dushyant-Chautala-Jind
हमें ख़बरें Email: psrajput75@gmail. WhatsApp: 9810788060 पर भेजें (Pushpendra Singh Rajput)
loading...

अनूप कुमार सैनी: जींद,  प्रदेश के दस हजार आबादी वाले गांवों में सीवरेज की व्यवस्था करवाई जाएगी। इस कार्य के लिए बजट में पर्याप्त धनराशि की व्यवस्था की गई है। उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने यह जानकारी जींद के स्थानीय लघु सचिवालय के सभागार में आयोजित हुई अधिकारियों की एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।
      उन्होंने कहा कि यह कार्य तालाब विकास परियोजना के तहत पूरा करवाया जायेगा। गन्दे पानी का स्थाई प्रबंध हो सके, इसके लिए सीवरेज सिस्टम को सीवरेज ट्रीटमेंट प्लाटों से जोड़ा जाएगा। इससे एक तरफ जहां गन्दे पानी का समाधान होगा वहीं पानी का शुद्धीकरण कर किसानों को फसलों के लिए सिंचाई पानी भी प्राप्त हो जाएगा। 
              उन्होंने पंचायती राज विभाग तथा जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे चालू माह में गांवों के प्रस्ताव तैयार कर लें ताकि अप्रैल माह में इन विकास परियोजनाओं पर शीघ्र अतिशिघ्र निर्माण कार्य शुरू करवाया जा सके।
            दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जींद में एक ट्रांसपोर्ट नगर स्थापित किया जाना है, अगर कोई ग्राम पंचायत 100 एकड़ जमीन उपलब्ध करवा दे तो वहां इस विकास परियोजना को स्थापित करवा दिया जाएगा। इस परियोजना के लिए कुल 150 एकड़ जमीन की आवश्यकता होगी, जिसमें से 50 एकड़ जमीन सरकार द्वारा अधिग्रहण करवाई जाएगी।
       उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे इस परियोजना के लिए जगह तलाशने का काम जल्द पूर्ण करना सुनिश्चित करें। जींद में बनने वाले मैडिकल कॉलेज के सम्बन्ध में बताया कि इस विकास परियोजना पर भी जल्द निर्माण कार्य शुरू होगा। डीएनआईटी तैयार हो चुकी है। उन्होंने बताया कि आगामी 15-20 दिनों में मैडिकल कॉलेज के निर्माण को लेकर टैंडर भी हो जाएगा। ट्रांसपोर्ट नगर व मैडिकल कॉलेज बनने से जींद जिला के विकास की रफ्तार दौगुणी हो जाएगी। लोगों को रोजगार एवं स्वरोजगार के अनेक अवसर उपलब्ध होंगे।
       उप-मुख्यमंत्री ने सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे जिला के बड़े-बड़े गांवों की सूची तैयार करें ताकि इन गांवों के स्कूलों में पहली कक्षा से ही इंग्लिश मीडियम शुरू करवाया जा सके। उन्होंने प्ले स्कूल खोलने के लिए भी गांवों की सूची तैयार करने के भी निर्देश दिए। इन सूचियों में घोषित महाग्रामों व चार हजार से अधिक मतदाताओं वाले गांवों को अवश्य शामिल करें।
       उन्होंने कहा कि उचाना हलके के कई गांवों में पीने के पानी की काफी समस्या है, इसलिए इन गांवों में पर्याप्त स्वच्छ पेयजल पहुंचाने के लिए कार्य योजना तैयार करें। उन्होंने अहिरका गांव जाने वाली सड़क का निर्माण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उचाना हलके में इंडोर स्टेडियम बनवाया जाएगा। इस स्टेडियम के निर्माण के सम्बन्धित अधिकारी तुरंत जमीन तलाशने का काम पूर्ण करें। इस स्टेडियम के बनने से हलके के युवाओं को काफी फायदा पहुंचेगा। उन्होंने भवन एवं सड़क निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे सड़कों पर दुर्घटना सम्भावित स्थलों पर रिफ्लैक्टर लगवाने का काम तुरंत पूरा करें।
        उप-मुख्यमंत्री ने भवन एवं सड़क निर्माण विभाग के अधिकारियों को जींद शहर में ऑप्टिकल फाईबर बिछाने व सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश देते हुए कहा कि यह कार्य तुरंत शुरू करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने पेंगा गांव में बनने वाली आईटीआई का निर्माण कार्य जल्द शुरू करवाने के लिए बैठक में ही उच्चाधिकारियों से बातचीत की।
          उन्होंने जिला वन अधिकारी से कहा कि वे इको क्लब स्थापित करवा कर पंचायत विभाग के साथ मिलकर पंचायती जमीनों पर अधिकाधिक पौधा रोपण करवाएं। वन अधिकारी ने उप मुख्यमंत्री को बताया कि जो ग्राम पंचायत दस एकड़ जमीन उपलब्ध करवाएगी, वहां विभाग द्वारा बाग भी लगवाया जाएगा।
               डिप्टी सीएम ने उचाना में सदर व सीटी थाना अलग-अलग स्थापित करवाने पर भी अधिकारियों के साथ विचार विमर्श किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे इस सम्बन्ध में सम्भावना तलाशने का काम करें।
          इस बैठक में जींद के विधायक डॉ. कृष्ण लाल मिढ़ा,  डीआईजी अश्विन शैणवी, एडीसी डॉ. सत्येन्द्र दुहन, जींद के एसडीएम सत्यवान सिंह मान, नगराधीश मंदीप कुमार, उचाना के एसडीएम राजेश कोथ, नरवाना के एसडीएम जयदीप कुमार, जिला शिक्षा अधिकारी मदन सिंह, जेजेपी के जिला अध्यक्ष कृष्ण राठी समेत अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Haryana News

Post A Comment:

0 comments: